संक्रमण पर काबू नहीं, दिल्ली में संक्रमण की दर 30 फीसदी

नई दिल्ली। भारत में लॉकडाउन लगाने से लेकर किए जा रहे दूसरे तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना वायरस का संक्रमण पर काबू नहीं पाया जा सका है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में संक्रमण की दर 30 फीसदी से ऊपर बनी हुई है। यानी जितने लोगों का टेस्ट हो रहा है उनमें से एक तिहाई लोग संक्रमित मिल रहे हैं। चुनाव वाले राज्य पश्चिम बंगाल में हालात इतने खराब हो गए हैं कि राजधानी कोलकाता और आसपास के इलाकों में टेस्ट कराने वाला हर दूसरा व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिल रहा है। कोलकाता और आसपास के इलाकों में संक्रमण की दर 45 से 55 फीसदी तक पहुंच गई है। जहां तक पूरे राज्य की बात है तो राज्य में संक्रमण की दर 24 फीसदी से ऊपर बनी हुई है। इस महीने में संक्रमण की दर पांच से बढ़ कर 24 फीसदी पहुंची है। रविवार को खबर लिखे जाने तक पूरे देश में तीन लाख 26 हजार, 880 नए नए केसेज आए थे और एक्टिव मरीजों की संख्या 28 लाख के करीब हो गई थी। खबर लिखे जाने तक छत्तीसगढ़, पंजाब और झारखंड सहित पूर्वोत्तर के कई राज्यों के आंकड़े अपडेट नहीं हुए थे। इनके आंकड़े अपडेट होने के बाद देर रात तक संक्रमितों… Continue reading संक्रमण पर काबू नहीं, दिल्ली में संक्रमण की दर 30 फीसदी

ऑक्सीजन संकट जस का तस, मरीजों की स्थिति गंभीर

नई दिल्ली। ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खुद कमान संभालने के बावजूद संकट दूर नहीं हो रहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से लेकर पड़ोस के राज्य हरियाणा सहित कई और राज्यों में ऑक्सीजन का संकट जारी है। हरियाणा के रेवाड़ी में रविवार की सुबह एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने से कोरोना संक्रमित चार मरीजों की मौत हो गई। कई और मरीजों की स्थिति गंभीर है और परिजनों का आरोप है कि ऑक्सीजन की कालाबाजारी हो रही है। रविवार की शाम को गुरुग्राम के मेट्रो अस्पताल ने एक ट्विट करके एसओएस अपील करते हुए कहा कि अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने वाली है और अगर जल्दी ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हुई तो मरीजों की जान जा सकती है। अस्पताल में 70 मरीज भरती हैं। इससे एक दिन पहले शनिवार को गुरुग्राम के दो अस्पतालों- मैक्स और मेयोम हॉस्पिटल में इसी तरह ऑक्सीजन की कमी हो गई थी। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले एक हफ्ते से ऑक्सीजन की कमी का संकट चल रहा है। दिल्ली में सात सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है लेकिन चार सौ मीट्रिक टन की भी आपूर्ति नहीं हो पा रही है। ऑक्सीजन की कमी दूर करने के… Continue reading ऑक्सीजन संकट जस का तस, मरीजों की स्थिति गंभीर

ऑक्सीजन के औद्योगिक इस्तेमाल पर रोक

नई दिल्ली। देश में बढ़ते ऑक्सीजन संकट से निपटने के लिए सरकार ने देर से ही सही पर कुछ बड़े कदम उठाए हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों को निर्देश भेजा है कि लिक्विड ऑक्सीजन का इस्तेमाल मरीजों के अलावा किसी और काम में नहीं किया जाएगा। इस तरह सरकार ने लिक्विड ऑक्सीजन के औद्योगिक इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी है। ऑक्सीजन की कमी पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने पिछले हफ्ते कई बार कहा था कि सरकार तत्काल सभी उद्योगों को मिलने वाली ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद कराए। बहरहाल, केंद्र ने कहा है कि लिक्विड ऑक्सीजन का पूरा स्टॉक सिर्फ सिर्फ चिकित्सा कार्यों में इस्तेमाल होगा। इस बीच केंद्र सरकार ने एक और बड़ा कदम उठाने का ऐलान किया है। कोरोना वायरस का संक्रमण शुरू होने के बाद बनाए गए पीएम केयर्स फंड से देश के पांच सौ से ज्यादा जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की घोषणा की गई है। रविवार को बताया गया कि पीएम केयर्स फंड से देश के विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य केंद्रों में 551 मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना की जाएगी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में रविवार को कहा कि पीएम केयर्स फंड ने इन संयंत्रों की स्थापना के लिए सैद्धांतिक मंजूरी… Continue reading ऑक्सीजन के औद्योगिक इस्तेमाल पर रोक

सुप्रीम कोर्ट में पिछले साल की कहानी

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबडे रिटायर हो गए हैं। शुक्रवार को उनके कार्यकाल का आखिरी दिन था। उन्होंने आखिरी दिन एक बार फिर वह काम किया, जो पिछले साल मई में किया था। पिछले साल प्रवासी मजदूरों के पलायन के समय की कहानी हूबहू ऑक्सीजन की कमी के मामले में दोहराई गई। पिछले साल इसी समय पूरे देश में एक अभूतपूर्व त्रासदी हो रही थी। देश के ज्यादातर बड़े शहरों से प्रवासी मजदूरों का पलायन हो रहा था। आजादी के बाद पहली बार इतनी बडी संख्या में लोगों का पलायन हो रहा था। लोग चिलचिलाती धूप में अपने बच्चों और महिलाओं को लेकर पैदल चल रहे थे। तब देश की छह उच्च अदालतों में इस मसले पर जनहित याचिकाओं पर सुनवाई हो रही थी। उच्च अदालतों ने इस पर बहुत सख्त रुख अख्तियार किया था और केंद्र से लेकर राज्यों की सरकारों तक को कठघऱे में खड़ा किया था। उसी समय सुप्रीम कोर्ट ने सभी उच्च अदालतों से प्रवासी मजदूरों का मुद्दा अपने पास मंगा लिया। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर सुनवाई की और राज्यों को कुछ निर्देश दिए। सर्वोच्च अदालतों ने राज्यों से सिर्फ इतना पूछा कि उनके यहां कितने मजदूर लौटे हैं, उनके आने-जाने का क्या… Continue reading सुप्रीम कोर्ट में पिछले साल की कहानी

राजस्थानः 500 बेड के साथ  शुरू हुआ जोधपुर संभाग का सबसे बड़ा आईसोलेशन एवं कोविड सेन्टर

भारत में कोरोना ने अपना आतंक मचा रखा है। राजस्थान में कोरोना के आंकड़े लगातार बढ़ रहे है। इसी बीच राजस्थान से एक राहत की खबर आयी है। कोरोना संक्रमितों  की बढ़ती संख्या और उनके बेहतर उपचार के लिए आबू रोड के किवरली स्थित ब्रह्माकुमारीज संस्थान का मानसरोवर आईसोलेसन तथा कोविड सेन्टर के रूप में पुन: शुरू हो गया। 800 बेड वाले इस विशाल एवं चमचमाते भवन में फिलहाल 500 बेड के साथ शुरूआत हो गयी है। जिसमें आक्सीजन और गम्भीर बीमारी कोरोना ग्रसित लोगों को इलाज हो रहा है। ब्रह्माकुमारीज की इस चमचमाती बिल्डिंग में सारी सुविधायें उपलब्ध है। इस मानसरोवर 6 मंजिला बिल्डिंग में प्रत्येक रूम में रहने की सारी सुविधायें हैं। जिससे मरीजों को कोई परेशानी ना हो। इसे भी पढ़ें UP News : रेमडेसिविर की कालाबाजारी में लिप्त गिरोह का भंडाफोड़, चार गिरफ्तार, 116 इंजेक्शन बरामद  ब्रह्माकुमारीज ने इस परिसर को सौंपा सिरोही जिला प्रशासन को ब्रह्माकुमारीज संस्थान ने जनसेवा में इस मानसरोवर परिसर को सिरोही जिला प्रशासन को सौंप दिया तथा इस कोविड सेन्टर में आने वाले मरीजों एवं चिकित्सकों के स्टाफ को जब तक इलाज चलेगा तब तक तीनों ही टाईम भोजन भी उपलब्ध कराता रहेगा। यह करोना मरीजों के लिए राहत की खबर है। इस… Continue reading राजस्थानः 500 बेड के साथ शुरू हुआ जोधपुर संभाग का सबसे बड़ा आईसोलेशन एवं कोविड सेन्टर

Corona Vaccine : मायावती की मांग, कोविड-19 के टीकों की कीमतों में एकरूपता के लिए नीति बनाए केंद्र सरकार

लखनऊ | कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने आज केंद्र सरकार (Central Government) से कोविड-19 रोधी टीकों (Covid-19 anti-vaccine) की कीमतों में एकरूपता रखने के लिए एक राष्ट्रीय नीति (National Policy) बनाने की मांग की। मायावती (Mayawati) ने आज ट्वीट किया और कहा देश में कोरोना वैक्सीन Corona Vaccine का दाम केन्द्र, राज्य सरकार व प्राइवेट अस्पतालों के लिए एक समान न होकर इसकी कीमत अलग-अलग निर्धारित करने के मामले में भारत सरकार को दखल देने की जरूरत। इस सम्बंध में एकरूपता वाली राष्ट्रीय नीति (National Policy) बनाकर पर अमल करने की बसपा की केन्द्र सरकार से मांग है। इसे भी पढ़ें – Bollywood Latest Update : जाने माने मशहूर एक्टर अमित मिस्त्री का अचानक निधन, बॉलीवुड सहित कई सितारों ने जताया शोक उन्होंने केंद्र सरकार (Central Government) से जरूरी दवाओं की आपूर्ति की ओर भी विशेष ध्यान देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों व राजधानी दिल्ली के बड़े अस्पतालों में भी आक्सीजन (Oxygen) की कमी के मद्देनजर केन्द्र आक्सीजन के औद्योगिक-कमर्शियल प्रयोग को रोककर इसकी सप्लाई अस्पतालों को सुनिश्चित करे। इमरजेन्सी दवाओं आदि की आपूर्ति की ओर भी विशेष ध्यान देने की केन्द्र से मांग… Continue reading Corona Vaccine : मायावती की मांग, कोविड-19 के टीकों की कीमतों में एकरूपता के लिए नीति बनाए केंद्र सरकार

समुद्र में ऑक्सजीन कमी से समुद्री जीवों पर खतरा

मैड्रिड। दुनिया भर में वैज्ञानिक चितिंत है कि जलवायु परिवर्तन के लिए कोई ठोस उपाय नहीं अपनाए गए तो आने वाला समय कई गंभीर चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (आईयूसीएन) ने एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें बताया गया है कि समुद्र में निरंतर आक्सीजन की कमी हो रही है​ जिससे समुद्री जीवों के लिए खतरा उत्पन्न हो गया है। जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र में कम होती ऑक्सीजन की मात्रा से समुद्री जीवों, मछुआरों और तटीय समुदायों को गंभीर खतरा है। यह बात वैश्चिक संरक्षण निकाय ने शनिवार को कही। अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (आईयूसीएन) ने बताया कि दुनिया में 700 स्थानों की पहचान की गई है जहां पर ऑक्सीजन की कम मात्रा है जबकि 1960 में ऐसे मात्र 45 स्थान थे।आईयूसीएन ने बताया कि इसी अवधि में ऐसे स्थानों की संख्या चार गुना हो गई है जहां पर ऑक्सीजन की मात्रा बिल्कुल नहीं है। विश्व निकाय ने कहा कि समुद्र जीवाश्म ईंधन से होने वाले कार्बन उत्सर्जन के एक चौथाई हिस्से को सोख लेते हैं लेकिन दुनिया में ऊर्जा की बढ़ती मांग से यह डर है कि समुद्र अंतत: संतृप्त अवस्था पर पहुंच जाएंगे। आईयूसीएन के मुताबिक समुद्र में ऑक्सीजन कम होने… Continue reading समुद्र में ऑक्सजीन कमी से समुद्री जीवों पर खतरा

और लोड करें