मुशर्रफ को सजा-ए-मौत गलत

जनरल परवेज मुशर्रफ को देशद्रोह के अपराध में सजा-ए-मौत हो गई। यह अनहोनी है। क्यों है? क्योंकि आज तक किसी पाकिस्तान की अदालत की यह हिम्मत नहीं हुई कि वह अपने किसी फौजी तानाशाह को देशद्रोही कहे और उसे मौत के घाट उतारने की हिम्मत करे। जनरल अयूब खान, जनरल याह्या खान और जनरल जिया-उल-हक ने जब तख्ता-पलट किया तो पाकिस्तान की न्यायपालिका ने उसको यह कहकर उचित ठहरा दिया कि वह उस समय की मांग थी। मजबूरी थी। उसे ‘डॉक्ट्रीन ऑफ नेसेसिटी’ कहा गया। लेकिन आप पूछ सकते हैं कि जनरल मुशर्रफ को यह सजा क्यों सुनाई गई ? इसका एक जवाब तो यह है कि वे मूलतः पाकिस्तानी नहीं हैं। वे मुहाजिर हैं। हिंदुस्तानी हैं। दिल्ली में पैदा हुए हैं। बाकी जनरल पठान और पंजाबी थे। इस दलील में कोई खास दम नहीं है लेकिन मेरी राय है कि जनरल मुशर्रफ के साथ पाकिस्तान के जजों ने अपना बदला निकाला है। जैसा दंगल पाकिस्तान के जजों और वकीलों के साथ मुशर्रफ का हुआ, वैसा किसी भी राष्ट्रपति के साथ नहीं हुआ। मुशर्रफ को यह सजा 1999 में तख्ता-पलट के लिए नहीं दी गई है बल्कि 2007 में आपातकाल थोपने के लिए दी गई है। यह वह समय है, जब… Continue reading मुशर्रफ को सजा-ए-मौत गलत

उफ, मुशर्रफ को सजा-ए-मौत और..

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने वहां के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को राजद्रोह के मामले में मौत की सजा सुना दी। उन्होंने अक्टूबर 1999 में नवाज शरीफ का तख्ता पलट कर सत्ता अपने हाथ में ले ली थी क्योंकि कारगिल युद्ध के बाद दोनों के बीच संबंध खराब हो गए थे। श्रीलंका से लौटते समय नवाज शरीफ ने उनके विमान को इस्लामाबाद में उतारे जाने की इजाजत नहीं दी। मुशर्रफ ने विमान से ही फोन करके अपने समर्थको व सेना के जरिए विमानो की आवाजाही नियंत्रित करने वाले एयर ट्रैफिक कंट्रोल पर सैनिको से कब्जा करवाकर नवाज शरीफ को उनके घर में ही कैद करवा दिया था। मगर सत्ता में दोबारा आने के बाद 24 जून को तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पाकिस्तानी संसद नेशनल असेबली मे सुप्रीम कोर्ट से मुशर्रफ के खिलाफ अनुच्छेद-6 के तहत मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की थी। पाकिस्तान में याहया खान से लेकर जियाउल हक तक सैनिक शासन सरकारों का तख्ता पलट कर खुद तानाशाह बनते आए हैं। मगर इससे पहले कभी किसी तानाशाह को सजा नहीं मिली। अब लगता है कि सेना व सरकार के संबंध पहले जैसे नहीं रहे हैं व न्यायपालिका खुद को देश में स्थापित करने की कोशिश कर… Continue reading उफ, मुशर्रफ को सजा-ए-मौत और..

और लोड करें