पीएम नरेंद्र मोदी आज आरबीआई की अभिनव ग्राहक-केंद्रित पहल की शुरुआत करेंगे

ग्राहकों के लिए अपनी शिकायत दर्ज करने, दस्तावेज़ जमा करने, स्थिति ट्रैक करने और प्रतिक्रिया प्रदान करने के लिए एक ही संदर्भ बिंदु होगा।

3 सालों के लिए फिर RBI के गवर्नर नियुक्त हुए Shaktikanta Das, देर रात कैबिनेट ने लगाई मुहर

भारत सरकार ने दास को फिर से आरबीआई का गवर्नर नियुक्त कर दिया है। कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने गुरुवार देर रात इस फैसले पर मुहर लगाई।

आरबीआई ने ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया

भारतीय रिजर्व बैंक ने महंगाई दर काबू में रहने के बावजूद नीतिगत ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया है।

खुदरा महंगाई छह फीसदी से नीचे आई

सरकार और आम लोगों के लिए राहत की खबर है। जुलाई के महीने में खुदरा महंगाई की दर छह फीसदी से नीचे आ गई है। सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक जुलाई में खुदरा महंगाई दर 5.59 फीसदी रही।

रिजर्व बैंक ने नहीं बदली ब्याज दर

भारतीय रिजर्व बैंक, आरबीआई ने नीतिगत ब्याज दरों में एक बार फिर कोई बदलाव नहीं किया है। महंगाई की चिंता में आरबीआई ने नीतिगत ब्याज दरों यानी रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट को जस का तस रखने का फैसला किया है।

जुलाई में 15 दिन रहेगा बैंकों में अवकाश, विजिट करने से पहले जान लें कब-कब रहेगी छुट्टी

नई दिल्ली | Bank Holidays List July 2021: अगर आपको जुलाई के महीने में बैंक जाना है या बैंक से संबंधित कोई भी काम करना है तो ये खबर आपके लिए काम की हो सकती है। क्योंकि इस महीने देशभर के अलग-अलग हिस्सों में बैंक 15 दिन तक बंद रहने वाले हैं। इसलिए आप अपना बैंक का कोई भी काम करने से पहले ये जान लें कि उस दिन बैंक बंद तो नहीं रहेगा। यहीं नहीं आज से देश का सबसे बड़ा बैंक यानी भारतीय स्टेट बैंक में भी कई बदलाव देखने को मिलेंगे। ये भी पढ़ें:- अगर आप भी कर रहे हैं वैक्सीन लेने के पहले ये गलती तो संभल जाएं, WHO ऩे भी किया आगाह… देशभर के बैंकों में जुलाई महीने में 6 छुटियां शनिवार और रविवार की रहने वाली हैं। इस लिए इस तारीख के शनिवार और रविवार को बैंकों में अवकाश रहेगा। – 4 जुलाई 2021 – रविवार – 10 जुलाई 2021 – दूसरा शनिवार – 11 जुलाई 2021 – रविवार – 18 जुलाई 2021 – रविवार – 24 जुलाई 2021 – चैथा शनिवार – 25 जुलाई 2021 – रविवार ये भी पढ़ें:-  वित्त मंत्री के 6.29 लाख करोड़ रुपये के कोविड राहत पैकेज पर मंत्रिमंडल की मुहर,… Continue reading जुलाई में 15 दिन रहेगा बैंकों में अवकाश, विजिट करने से पहले जान लें कब-कब रहेगी छुट्टी

RBI ने नियमों में किए बदलाव, ग्राहकों की जेब पर पड़ेगा भार, जानें नए नियम

नई दिल्ली | कोरोना काल में महंगाई की मार झेल रही आम जनता को अब एक और तगड़ा झटका लगने वाला है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) एटीएम ट्रांजेक्शन (ATM Transaction) से जुड़े नियमों में बदलाव करने जा रहा है। जिसकी मार सीधे बैंक के ग्राहकों पर पड़ेगी। अब 1 जनवरी, 2022 से एटीएम से तय लिमिट से ज्यादा बार पैसे निकालने के बाद पर ग्राहकों को हर ट्रांजेक्शन पर 21 रुपये देने होंगे। अभी तक ये शुल्क 20 रुपये है। इसी के साथ आरबीआई ने ये भी कहा कि, ग्राहकों के लिए हर महीने अपने बैंक एटीएम से 5 फ्री ट्रांजेक्शन की सुविधा जारी रहेगी। वे मेट्रो सिटी में दूसरे बैंक के एटीएम से तीन और नॉन- मेट्रो सिटी में 5 फ्री ट्रांजेक्शन भी करते रहेंगे। इसमें को परिवर्तन नहीं किया जाएगा। ये भी पढ़ें:- Rajasthan में गरमाया सियासी पारा! प्रियंका गांधी ने Sachin Pilot को लगाया फोन, दिल्ली कर सकते हैं कूच बढ़ेगी इंटरचेंज फीस RBI ने जानकारी देते हुए कहा कि, बैंकों एटीएम ट्रांजेक्शन की इंटरचेंज फीस (Interchange fees) हर फाइनेंसियल ट्रांजेक्शन 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये और नॉन-फाइनेंसियल ट्रांजेक्शन के लिए 5 से बढ़कर 6 रुपये कर सकेंगे। आरबीआई ने कहा कि बैंकों का एटीएम लगाने… Continue reading RBI ने नियमों में किए बदलाव, ग्राहकों की जेब पर पड़ेगा भार, जानें नए नियम

आरबीआई की कमाई है या रिजर्व पैसा है?

अभी इसका पता नहीं चला है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की महामारी में भारतीय रिजर्व बैंक को बंपर कमाई हुई है या उसने अपने रिजर्व में से पैसा निकाल कर भारत सरकार को दिया है। रिजर्व बैंक ने भारत सरकार को 99,122 करोड़ रुपए का अतिरिक्त लाभांश भारत सरकार को दिया है, वह भी सिर्फ नौ महीने में। ध्यान रहे रिजर्व बैंक ने वित्त वर्ष का समय बदल दिया है। अब अप्रैल-मार्च की बजाय रिजर्व बैंक का वित्त वर्ष जुलाई-जून का हो गया। सो, चालू वित्त वर्ष के सिर्फ नौ महीने में रिजर्व बैंक ने भारत सरकार को 99 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा दिया है। सोचें, भारत सरकार ने खुद बजट में अनुमान लगाया था कि पूरे साल में रिजर्व बैंक साढ़े 53 हजार करोड़ रुपया देगा, लेकिन केंद्रीय बैंक ने नौ महीने में ही लगभग दोगुनी रकम दी है। पिछले वित्त वर्ष में रिजर्व बैंक ने 57 हजार करोड़ रुपए का लाभांश दिया था। उससे पहले 2018-29 में जब नोटबंदी फैसले की वजह से सरकार भारी आर्थिक संकट में थी तब रिजर्व बैंक ने अपने रिजर्व से पैसा निकल कर केंद्र सरकार को एक लाख 76 हजार करोड़ रुपया एक बार में दिया था। उसके अलावा अपने… Continue reading आरबीआई की कमाई है या रिजर्व पैसा है?

आरबीआई की घोषणा के बाद शेयर बाजार में उछाल, Sensex 424 अंक ऊपर

मुंबई | स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर और छोटे तथा मध्यम उद्योगों को सस्ती पूंजी उपलब्ध कराने की भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की घोषणाओं से घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) में आज दो दिन बाद तेजी लौट आई। बीएसई (BSE) का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स (Sensex) 424.04 अंक यानी 0.88 प्रतिशत चढ़कर 48,677.55 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty) 121.35 अंक यानी 0.84 अंक की बढ़त के साथ 14,617.85 अंक पर पहुंच गया। आरबीआई (RBI) ने आज कोविड-19 के टीके, दवाइयां, वेंटीलेटर, ऑक्सीजन आदि बनाने वाली कंपनियों, अस्पतालों, नर्सिंग होम और पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं को रेपो दर पर ऋण उपलब्ध कराने के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की। उसने साथ ही छोटे और मध्यम उद्योगों के लिए ऋण पुनर्गठन में भी राहत की घोषणा की। इसे भी पढ़ें – West Bengal : मुख्यमंत्री Mamata Banerjee ने शपथ ग्रहण के बाद ही इन सेवाओं पर लगाई सख्त पाबंदियां आरबीआई (RBI) की घोषणाओं से स्वास्थ्य और बैंकिंग एवं वित्तीय क्षेत्र की कंपनियों के साथ ही छोटी और मझौली कंपनियों में भी निवेशकों ने लिवाली की। बीएसई का मिडकैप 1.05 प्रतिशत चढ़कर 20,431.46 अंक पर और स्मॉलकैप 0.77 फीसदी की बढ़त में 22,053.24 अंक पर पहुंच गया। बीएसई (BSE)… Continue reading आरबीआई की घोषणा के बाद शेयर बाजार में उछाल, Sensex 424 अंक ऊपर

नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं करने से शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्स में 460 अंकों की बढ़त

मुंबई। वैश्विक स्तर पर अधिकतर मुख्य सूचकांकों में रही गिरावट के बावजूद आरबीआई द्वारा आशा के अनुरूप प्रमुख नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं करने से आज Stock market के Sensex और Nifty में जबरदस्त उछाल दर्ज किया गया। BSE का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 460.37 अंकों की बढ़त लेकर 49,661.76 अंक पर पहुंच गया तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का Nifty 135.55 अंकों की उछाल के साथ 14,819.05 अंक पर पंहुच गया। इसे भी पढ़ें – Corona के बढ़ते मामलों के कारण फिर से पलायन की तैयारी कर रहे मुंबई के प्रवासी मजदूर इस दौरान दिग्गज, मझोली तथा छोटी कंपनियों में हुई लिवाली से BSE का मिडकैप 167.45 अंक यानी 0.82 प्रतिशत की उछाल लेकर 20,653.28 अंक पर तथा स्मॉलकैप भी 273.30 अंक यानी 1.30 फीसदी की बढ़त के साथ 21,293.40 अंक पर पहुँच गया। RBI की मौद्रिक नीति में घर, कार आदि पर ब्याज दरों में कोई घटबढ़ नहीं होने से बैंकिंग समूह की कंपनियों में सबसे अधिक 576.67 अंकों अर्थात 1.57 प्रतिशत और ऑटो क्षेत्र की कंपनियों में 371.47 अंक यानी 1.69 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसे भी पढ़ें – Bollywood News : बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने कोरोना से बचाव के लिए Vaccine लगवाई

परिवारों पर बढ़ा कर्ज का बोझ

कोरोना काल में भारतीय परिवारों पर कर्ज जीडीपी का 37.1 फीसदी हुआ तो बचत घट कर 10.4 फीसदी पर।

दो हजार के नोटों की छपाई बंद

केंद्र सरकार ने माना है कि दो हजार रुपए के नोटों की छपाई बंद हो गई है और धीरे धीरे इन्हें सिस्टम से बाहर किया जा रहा है।

ब्याज दरों में बदलाव नहीं

महंगाई बढ़ने की चिंता में भारतीय रिजर्व बैंक, आरबीआई ने नीतिगत ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है।

आरबीआई ने रेपो रेट 4 फीसदी पर बरकरार रखा

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की। आरबीआई ने लगातार तीसरी बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है।

आरबीआई के फैसले से पहले शेयर बाजार में तेजी

आरबीआई के फैसले से पहले शुक्रवार को देश के शेयर बाजार में कारोबार की शुरूआत तेजी के साथ हुई और प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स आरंभिक कारोबार के दौरान 150 अंकों से ज्यादा चढ़कर 44,800 पर बना हुआ था।

और लोड करें