यह सेकुलरवाद बहुत विकृत!

भारत में “सेकुलरवाद” कितना विकृत हो चुका है, इसे आगामी विधानसभा चुनावों ने फिर रेखांकित कर दिया। कांग्रेस ने भाजपा के विजय-उपक्रम को रोकने हेतु कुछ तथाकथित “सेकुलर” राजनीतिक दलों से चुनावी समझौता किया है