बूढ़ा पहाड़
नेपाल के खेल में भारत कहां है?

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली एक बार फिर प्रधानमंत्री बन गए हैं। संसद में बहुमत साबित नहीं कर पाने की वजह से पिछले हफ्ते उनको इस्तीफा देना पड़ा था। उसके बाद राज्यपाल विद्या भंडारी ने विपक्षी पार्टियों को सरकार बनाने का मौका दिया। नेपाली कांग्रेस पार्टी ने इसके लिए पहल भी की। उसे उम्मीद थी कि ओली और प्रचंड की वजह से कई खेमे में बंटी कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार को समर्थन देने वाली कुछ पार्टियां अलग हो जाएंगी। कम्युनिस्ट पार्टी की कम से कम एक सहयोगी पार्टी के साथ आने की उम्मीद नेपाली कांग्रेस के नेता कर रहे थे। पर ऐसा नहीं हुआ और राष्ट्रपति ने अपनी दी समय सीमा समाप्त होने के बाद ओली को फिर से प्रधानमंत्री बहाल कर दिया। अब उनको अगले 30 दिन में बहुमत साबित करना है। सवाल है कि नेपाल में चल रहा या यह सियासी खेल किसके इशारे पर हो रहा है? और उससे भी बड़ा सवाल है कि इस खेल में भारत कहा है? भारत के विदेश मंत्री लंदन जाकर क्वरैंटाइन हो गए हैं और ऐसा लग रहा है कि उनको कुछ आइडिया भी नहीं है कि नेपाल में क्या चल रहा है। जहां तक भारत सरकार का सवाल है… Continue reading नेपाल के खेल में भारत कहां है?

कम्युनिस्ट पार्टियों का विलय नहीं होगा

देश की सारी कम्युनिस्ट पार्टियों का विलय करके वापस एक कम्युनिस्ट पार्टी बनाने का सपना लगता पूरा नहीं हो पाएगा। अनेक कम्युनिस्ट नेता बरसों से इसका सपना पाले हुए हैं। उनको लग रहा था कि दोनों पार्टियों का कट्टरपंथी और शुचितावादी नेतृत्व खत्म हो गया है।

येचुरी को क्या कांग्रेस भेजेगी राज्यसभा?

देश की सबसे बड़ी कम्युनिस्ट पार्टी सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी को फिर से राज्यसभा में भेजने की मांग हो रही है। वे दो बार लगातार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। पार्टी के नियमों के हिसाब से तीसरी बार किसी को राज्यसभा नहीं दी जाती है।

और लोड करें