kishori-yojna
मायावती ने राजस्थान में की राष्ट्रपति शासन की सिफारिश

राजस्थान में कांग्रेस सरकार से खफा बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने वहां के मौजूदा राजनीतिक अस्थिरता के माहौल का हवाला देते हुये राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की है।

‘फोर डी’ था कांग्रेस सरकार के पतन का कारण: शिवराज

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि राज्य की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में ‘फोर डी’ का बोलबाला था

कांग्रेस ने आज के दिन को काला दिवस के रुप में मनाया: कमलनाथ

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सत्तारूढ दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार को अलौकतांत्रिक तरीके से गिराने का आरोप लगाते हुए

राजस्थान ने कोरोना से लड़ने का मॉडल प्रस्तुत किया

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए मजबूत कदम उठा कर इस महामारी के खिलाफ लड़ाई कैसे जीती जाए का एक मॉडल प्रस्तुत किया है।

अब मध्य प्रदेश में क्या करेगी कांग्रेस?

कांग्रेस पार्टी अब मध्य प्रदेश में क्या करेगी? उसकी आगे की रणनीति पर सबकी नजर है। एक सवाल यह भी है कि कमलनाथ क्या आगे भी दो पद अपने पास रखेंगे और अगर नहीं तो वे कौन सा पद छोड़ेंगे? ध्यान रहे वे मुख्यमंत्री के साथ साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी थे। अब उनके पास सिर्फ प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष पद है। लेकिन प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद कांग्रेस विधायक दल के नेता के नाते उनको नेता प्रतिपक्ष का पद भी मिल जाएगा। तभी सवाल है कि वे नेता प्रतिपक्ष बन कर राज्य में राजनीति करेंगे या प्रदेश अध्यक्ष बनेंगे? गौरतलब है कि प्रदेश में 24 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं। कोरोना वायरस का संकट खत्म होने के बाद जून में उपचुनाव हो सकता है। कांग्रेस पार्टी को इसकी तैयारी बड़े पैमाने पर करनी होगी। उपचुनाव ज्योतिरादित्य सिंधिया के असर वाले गुना-ग्वालियर-चंबल संभाग में होने वाले हैं। दशकों के बाद ऐसी स्थिति है कोई भी सिंधिया कांग्रेस के पास नहीं है। ऐसे में कांग्रेस किस रणनीति के तहत उपचुनाव लड़ेगी यह बड़ा सवाल है। कांग्रेस के प्रभारी को निश्चित रूप से कोई आइडिया नहीं होगा। इसलिए कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को ही इसकी रणनीति बनानी… Continue reading अब मध्य प्रदेश में क्या करेगी कांग्रेस?

दिग्विजय के कारण गिरी सरकार : शिवराज

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गिरने का कारण पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को बताया

कांग्रेस को नीतिगत निर्णय लेने का अधिकार नहीं: शिवराज

मध्यप्रदेश में जारी सियासी घटनाक्रमों के बीच आज मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार अल्पमत में हैं और ऐसी परिस्थिति में उसके पास नीतिगत निर्णय लेने का कोई अधिकार नहीं है।

बहुमत खो चुकी है कांग्रेस सरकार: शिवराज

मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी घटनाक्रमों के बीच पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आरोप लगाते हुए आज कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार अल्पमत में है,

सिद्धू ने लॉन्च किया यूट्यूब चैनल

चंडीगढ़। पंजाब में जहां कांग्रेस सरकार अपने तीन साल पूरे करने जा रही है, वहीं क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने विचार लोगों से साझा करने के लिए शनिवार को यूट्यूब चैनल लॉन्च कर दिया है। सिद्द्धू ने पिछले साल जुलाई में राज्य मंत्रिमंडल से अपना इस्तीफा दिया था। अपने यूट्यूब चैनल पर पहले वीडियो में सिद्द्धू ने 27 फरवरी को नई दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से हुई मुलाकात के बारे में बताया। इस मुलाकात में उन्होंने पार्टी प्रमुख को पंजाब की राजनीतिक स्थिति से अवगत कराया था। वीडियो में सिद्दू ने कहा कि वो लोगों से सरल तरीके से संवाद करेंगे। ‘जीतेगा पंजाब’ या ‘पंजाब विल विन’ नाम का यह चैनल अपने जैसे विचारों वाले लोगों को उनका मत साझा करने का आमंत्रण भी देता है। सिद्दू के कार्यालय ने इस बारे में कहा, “यह पंजाब को पुनरुद्धार और नवजागरण के लिए प्रेरित करने वाला एक मंच है। 9 महीने के चिंतन और आत्मावलोकन के बाद पूर्व मंत्री और 4 बार संसद के सदस्य और अमृतसर पूर्व के विधायक रह चुके नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब के ज्वलंत मुद्दों पर बात करेंगे। साथ ही पंजाब के पुनरुत्थान के लिए ठोस रोडमैप बनाने की… Continue reading सिद्धू ने लॉन्च किया यूट्यूब चैनल

मप्र में सरकार बची, लेकिन उखाड़-पछाड़ जारी

मध्य प्रदेश में विचित्र स्थिति बनी हुई है। कांग्रेस सरकार के बाल-बाल बच जाने के बाद कई विधायकों में छटपटाहट देखी जा रही है। भाजपा खेमे में ज्यादा बेचैनी है। कांग्रेस में दो-तीन गुट हैं।

सरकार के पास पूर्ण बहुमत है: कमलनाथ

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज भाजपा पर आरोप लगाया कि पिछले कई दिन से वह माफिया के साथ मिलकर प्रदेश सरकार को अस्थिर करने का असफल प्रयास कर रही है।

बाल-बाल बच गई कमलनाथ की सरकार

मध्य प्रदेश में कमलनाथ की कांग्रेस सरकार गिरते-गिरते बच गई। वह अत्यंत क्षीण अल्पमत पर जिंदा है और भाजपा हमेशा उसको पटखनी देने के लिए तैयार रहती है।

मप्र की कांग्रेस सरकार अंतर्कलह से ग्रसित: भाजपा

भोपाल। हरियाणा के एक होटल में मध्यप्रदेश के सत्तापक्ष के विधायकों को भाजपा नेताओं द्वारा बंधक रखे जाने के कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा ने साफ किया है कि मध्यप्रदेश में कमजोर बहुमत पर खड़ी मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का वह कोई प्रयास नहीं कर रही है बल्कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने ही अंतर्कलह से ग्रसित है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार सुबह को यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में संवाददाताओं से कहा, मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अपने अंतर्विरोधों, अंतर्कलह से ग्रसित है। आप लोग देख रहे होंगे कि किस प्रकार से सरकार में उनके अपने अंदर विद्रोह हैं। भारतीय जनता पार्टी का इस पूरे प्रकरण से कोई लेना देना नहीं है, ना ही भाजपा के इस तरह के कोई प्रयास हैं। उन्होंने कहा कि अंतर्कलह का जवाब कमलनाथ जी, सिंधिया जी और दिग्विजय सिंह जी को देना चाहिए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ये पहले से ही ब्लैकमेल सरकार है। जब बनी थी तब जोड़-तोड़ के आधार पर बनी थी। इस प्रकार के घटनाक्रम में न भाजपा का कोई लेना देना है न हमारे किसी प्रकार के प्रयास हैं।

कांग्रेस सरकार को काम नहीं, तमाशा करना आता है: शिवराज

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए

कमलनाथ सरकार को वादे पूरा करने को मजबूर कर देगी भाजपा: उमा

भोपाल। मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर वादे पूरे न करने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी है कि भाजपा विपक्ष की भूमिका निभा रही है और प्रदेश सरकार को इस बात के लिए मजबूर कर देगी कि वह जनता से किए गए वादों को पूरा करे। भाजपा के प्रदेश कार्यालय पहुंची उमा भारती ने नवनियुक्ति प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा का केसर का तिलक लगाकर अभिनंदन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा, प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर हो चुकी है, थाने के बाजू में ही मर्डर हो रहे हैं। इससे बुरी हालत प्रदेश की और क्या हो सकती है। भाजपा ने बिना सत्ता में रहे जनता के हितों के लिए संघर्ष किया है, काम किए, लड़ाइयां लड़ीं, मकसद हासिल किए, लक्ष्य प्राप्त किए हैं। विपक्ष में रहते हुए भी जनता के हित के लिए फैसले करवाए हैं। उमा ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष संगठन और सरकार दोनों का नेता होता है। अध्यक्ष की भूमिका में सभी नेतृत्व निहित होते हैं, चाहे वह सरकार का नेतृत्व हो या संगठन का नेतृत्व हो। नेतृत्व के पीछे कोई एक भाव निहित नहीं होता, उसके पीछे संपूर्ण भाव निहित होते हैं। यह… Continue reading कमलनाथ सरकार को वादे पूरा करने को मजबूर कर देगी भाजपा: उमा

और लोड करें