संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में हुआ बड़ा फैसला, पीछे नहीं हटेंगे किसान, अब 29 नवंबर को संसद कूच

किसान संगठनों ने 29 नवंबर को संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन संसद कूच करने का ऐलान कर रखा है जिसे भी वे जारी रखेंगे और संसद कूच करेंगे।

पंजाब में किसान आंदोलन के नाम पर स्मारक बनेगा – सीएम चरणजीत सिंह चन्नी

आजादी के बाद अगर कोई बड़ा संघर्ष था तो यह (तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन) था जिसने लोकतांत्रिक को मजबूत किया

Ghazipur Border से पुलिस ने हटाए बैरिकेड, राकेश टिकैत बोले- रास्ता खुला तो हम फसल बेचने जाएंगे पार्लियामेंट

नई दिल्ली | Ghazipur Border Barricades Removed: दिल्ली और उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए राहतभरी खबर सामने आई है। केंद्र सरकार के नये कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली-यूपी गाजीपुर बॉर्डर (Delhi UP Ghazipur Border) पर चल रहे किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के धरना स्थल पर फिर से यातायात सुगम हो सकेगा। यहां पुलिस ने बैरिकेडिंग को हटाना शुरू कर दिया है। इस कार्रवाई के संबंध में दिल्ली पुलिस के DCP ईस्ट ने बताया कि, सरकार के आदेश है इसलिए इन बैरिकेडिंग को हटाकर रास्ता खोला जा रहा है। इसी के साथ ही पुलिस अधिकारी ने बताया कि, इसके बाद नेशनल हाईवे 9 और नेशनल हाईवे 24 भी जल्द खुल दिया जाएगा। फिर से लौटेगी वाहनों की रौनक, लोगों की परेशानी होगी कम धरना स्थल से बैरिकेड (Barricades) हटने के बाद यहां एक बार फिर वाहनों की रेलमपेल दिखाई देने लगेगी। गाजियाबाद से दिल्ली की ओर आवाजाही शुरू होने से लोगों की पेरशानी कम हो जाएगी। आपको बता दें कि, पुलिस ने गुरुवार रात को टिकरी बॉर्डर से भी बैरिकेडिंग हटा दिए हैं। किसान आंदोलन के चलते करीब ग्यारह महीनों से सड़क पर बैरिकेडिंग लगी हुई थी। #WATCH | Police barricading being removed from Ghazipur (Delhi-Uttar Pradesh) border where… Continue reading Ghazipur Border से पुलिस ने हटाए बैरिकेड, राकेश टिकैत बोले- रास्ता खुला तो हम फसल बेचने जाएंगे पार्लियामेंट

विरोध के अधिकार के बिना अधूरा लोकतंत्र

केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में 10 महीने से अधिक समय से चल रहा आंदोलन अब इस मुकाम पर है कि उसके बहाने विरोध करने के लोकतांत्रिक अधिकार की परीक्षा होगी।

आंदोलन को कुचलना है

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में जो घटना हुई, उससे देश के वे लोग खुद को कुचला गया महसूस कर रहे हैं, जिनका विवेक और संवेदनशीलता अभी जिंदा है।

विरोध के अधिकार पर विचार करेगी अदालत

किसानों के आंदोलन से देश की सर्वोच्च अदालत इतनी नाराज है कि उसने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के नागरिकों के विरोध करने के अधिकार पर ही विचार करने का ऐलान कर दिया है।

SC ने जंतर-मंतर में सत्याग्रह की मांग पर दिया जवाब, कहा- जब मामला कोर्ट में है तो कैसा प्रदर्शन ?

SC ने साफ तौर पर कहा कि मामला विचाराधीन होने पर विरोध की अनुमति है या नहीं न्यायालय इस पर विचार करने का काम कोर्ट का है….

तो पीड़ित क्या करें?

किसान आंदोलन के सिलसिले में सुप्रीम कोर्ट ने जो सवाल पूछे, वे अतार्किक नहीं हैं। लेकिन यह जरूर कहा जा सकता है कि वे संदर्भ से कटे हुए हैँ।

किसान आंदोलन का प्रायोजित विरोध

भारत में पिछले कुछ समय से आंदोलन की परंपरा खत्म होती जा रही है। केंद्र या राज्य सरकार की नीतियों के विरोध में अगर कहीं आंदोलन हो रहा है तो वह ज्यादातर प्रतीकात्मक होता है।

Karnal : सीएम खट्टर के घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस का लाठीचार्ज, पंजाब में भी प्रदर्शन…(Video)

प्रदर्शन करते हुए किसानों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के घर की घेराबंदी की और बैरिकेडिंग पर ट्रैक्टर चढ़ा दिये..

SC की टिप्पणी पर आया राकेश टिकैट का जवाब, कहा- हमने नहीं दिल्ली पुलिस ने ब्लॉक की है सड़क…

राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर हाईवे हमने नहीं बल्कि पुलिस ने ब्लॉक कर रखा है. टिकट का कहना है कि यदि पुलिस आगे की बैरिकेडिंग हटा दें तो फिर गाड़ीयां आराम से बाहर…

किसान आंदोलन पर SC ने की कड़ी टिप्पणी, कहा- आपने तो दिल्ली का गला घोंट दिया…

एक साल से भी ज्यादा समय से चलते आ रहे किसान आंदोलन पर अब सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है. SC की इस टिप्पणी ने दिल्ली में रहने वाले लोगों का दुख भी बयां…

Yogi Adityanath का बड़ा बयान- आगामी चुनावों में खुद का ही पिछला रिकॉर्ड तोड़ेगी BJP

योगी आदित्यनाथ ने किसान आंदोलन को विपक्ष की उपज बताया है। उन्होंने कहा कि, विपक्षी किसान आंदोलन को वित्तपोषित कर रहे हैं।

किसान आंदोलन का दम

जिन बड़े आंदोलनों का खूब जिक्र होता है, वे अक्सर मध्य वर्ग केंद्रित थे या फिर उनमें गोलबंदी अस्मिता के मुद्दों पर हुई थी। जबकि मौजूदा किसान आंदोलन में सीधे तौर पर रोजी-रोटी के सवाल प्रमुख हैं।

भारत बंद में किसानों के साथ विरोध करने पहुंचे थे कांग्रेसी नेता, किसानों ने हाथ जोड़कर भेजा वापस, कहा- ये राजनाीति का मंच नहीं है…

भारत में बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला. देश की राजधानी दिल्ली में लोगों को कुछ ज्यादा परेशानियां उठानी….

और लोड करें