बजट पर चर्चा के लिए गुवाहाटी पहुंचीं सीतारमण

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2020-21 के केंद्रीय बजट पर चर्चा करने के लिए एक दिवसीय दौरे पर गुवाहाटी पहुंचीं।

संसद का यह तूफानी सत्र

संसद का यह सत्र तूफानी होनेवाला है, इसमें किसी को ज़रा-सा भी शक नहीं है। राष्ट्रपति के भाषण के दौरान विपक्षी सदस्यों ने जो हंगामा मचाया, वह आनेवाले कल की सादी-सी बानगी है। एक अर्थ में यह सत्र तूफानी से भी ज्यादा भयंकर सिद्ध हो सकता है। अब से 50-55 साल पहले इंदिराजी के कई सत्रों को डाॅ. लोहिया और मधु लिमये के द्वारा तूफानी बनते हुए मैंने देखे हैं लेकिन यह 31 बैठकों का सत्र ऐसा होगा, जो मोदी ने कभी न पहले गुजरात में देखा होगा और न ही दिल्ली में देखा है। यह सत्र तय करेगा कि मोदी की सरकार अगले पांच साल कैसे चलेगी ? चलेगी या नहीं भी चलेगी ? देश में मचे हुए कोहराम को वह रोक पाएगी या नहीं। यह कोहराम और इसके साथ गिरती हुई आर्थिक हालत अगले छह माह में इस जबर्दस्त राष्ट्रवादी सरकार की दाल पतली कर देगी। भाजपा और संघ में जो गंभीर और दूरदृष्टि संपन्न लोग हैं, उनकी चिंता दिनोंदिन बढ़ रही है। वे अभी तक चुप हैं लेकिन वे वैसे कब तक रह पाएंगे ? भाजपा के समर्थक और गठबंधन के दल भी सरकार की ‘मजहबी-नीति’ का विरोध कर रहे हैं। वे नए नागरिकता कानून में संशोधन… Continue reading संसद का यह तूफानी सत्र

संसद का बजट सत्र आज से

नई दिल्ली। संसद का बजट सत्र शुक्रवार को शुरू हो रहा है। राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ सत्र की शुरुआत होगी और इसके अगले दिन यानी शनिवार को बजट पेश किया जाएगा। उससे पहले गुरुवार को सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विपक्षी पार्टियों ने नागरिकता कानून से लेकर कश्मीर और अर्थव्यवस्था के मसले पर चर्चा की मांग की। विपक्ष की राय सुनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार हर विषय पर चर्चा के लिए तैयार है। बजट सत्र से एक दिन पहले गुरुवार को विपक्ष ने सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में नागरिकता संशोधन विधेयक, अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी, कश्मीर की स्थिति, महंगाई, किसानों की समस्याओं सहित तमाम मुद्दों पर चर्चा कराने की मांग की। विपक्ष की मांग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तैयार है। उन्होंने संसद सत्र को सफल बनाने के लिए विपक्ष से सहयोग भी मांगा। बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया- प्रधानमंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था सहित सभी मुद्दों पर सार्थक और समृद्ध चर्चा होनी चाहिए। अर्थव्यवस्था को दुनिया के संदर्भ में देखें कि भारत इसका फायदा कैसे उठा सकता है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री… Continue reading संसद का बजट सत्र आज से

72 प्रतिशत भारतीयों को लगता है मोदी राज में बढ़ी महंगाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में रोजमर्रा की वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के कारण आम जनता में बेचैनी बढ़ रही है। केंद्रीय बजट से पहले किए गए एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है।

स्थिर आय ने नकारात्मक रुख बना दिया

नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने भावनात्मक मुद्दों पर लोकप्रियता हासिल की है, लेकिन बीते एक साल से लोगों के अपनी आय को स्थिर पाने की वजह से उनका मूड तेजी से

‘हलवा’ रस्म के साथ 2020 बजट की उलटी गिनती शुरू

नई दिल्ली। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को केंद्रीय बजट की उलटी गिनती का शुभारंभ किया। बजट एक फरवरी को संसद में पेश होगा। सीतारमण ने ‘हलवा’ रस्म में भाग लिया। इसके साथ ही बजट की छपाई अत्यंत गोपनीयता के साथ शुरू हुई। सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को हलवा रस्म में भाग लिया, जिसका आयोजन नार्थ ब्लाक में वित्त मंत्रालय में किया गया। यह रस्म बजट 2020-21 से संबंधित दस्तावेजों की छपाई की शुरुआत से जुड़ी है। सीतारमण अपना दूसरा बजट पेश करेंगी। इससे पहले उन्होंने जुलाई 2019 में चुनाव बाद बजट पेश किया था। वित्त मंत्रालय के सभी सचिव, सीबीडीटी, सीबीआईसी प्रमुख व अन्य प्रमुख अधिकारी जो बजट से जुड़े हैं और दूसरे कर्मचारी भी हलवा रस्म का हिस्सा बने। एक फरवरी को पेश होने वाले केंद्रीय बजट में बुनियादी ढांचे, नवीकरणीय ऊर्जा, रेलवे, कृषि, सिंचाई, मोबिलिटी, स्वास्थ्य, जल में निवेश के प्रावधान किए जाने की उम्मीद है। बीती तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 4.5 फीसदी रही। ऐसे में सरकार का मकसद मांग बढ़ाने और अर्थव्यवस्था में सुधार करने पर है। ऐसा कैसे किया जाएगा, इसे देखना बाकी है। वित्त मंत्रालय की यह वार्षिक परंपरा बजट पेश किए जाने से कुछ दिनों पूर्व आयोजित होती… Continue reading ‘हलवा’ रस्म के साथ 2020 बजट की उलटी गिनती शुरू

और लोड करें