Good News : जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल-डोज़ कोविड वैक्सीन को भारत में मिली मंजूरी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट किया है कि अमेरिकी फार्मास्युटिकल दिग्गज जॉनसन एंड जॉनसन की एकल-खुराक कोरोना वैक्सीन को भारत में आपातकालीन उपयोग की मंजूरी मिल गई है। केंद्रीय मंत्री ने शनिवार दोपहर ट्वीट किया कि भारत ने अपनी वैक्सीन टोकरी का विस्तार किया!

दुनिया में कोरोना का कहर, अमेरिका में 90 हजार नए केस

कोरोना वायरस की नई लहर दुनिया में कहर बरपाने लगी है। गुरुवार को पूरी दुनिया में साढ़े छह लाख से ज्यादा मामले आए। इससे पहले के हफ्ते में नए केसेज की संख्या साढ़े चार लाख तक पहुंच गई थी।

डेल्टा चेचक की तरह फैल सकता, टीका लगाए लोगों में भी

कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट को लेकर अमेरिका में एक अध्ययन हुआ है, जिसकी रिपोर्ट बेहद चिंता में डालने वाली है। इस अध्ययन की अंतिम रिपोर्ट अभी प्रकाशित नहीं हुई है

अगले महीने संभव बच्चों की वैक्सीन

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए चल रही वैक्सीनेशन अभियान के बीच अच्छी खबर है। अगले महीने यानी अगस्त में बच्चों की वैक्सीन आ सकती है।

Corona update: डेल्टा पहुंचा 111 देशों में,  संक्रामक क्षमता अन्य वैरिएंट्स की तुलना में ज्यादा

Corona update Delta Variant : जिनेवा। कोरोना वायरस की दूसरी लहर में भारत में तबाही मचाने वाला डेल्टा वैरिएंट दुनिया के 111 देशों में फैल गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ ने इसे लेकर दुनिया के देशों को आगाह किया है। डब्लुएचओ ने कोरोना संक्रमण के बारे में साप्ताहिक अपडेट में कहा है कि आने वाले दिनों में यह दुनिया में सबसे ज्यादा फैलने वाला वैरिएंट हो सकता है। इसका कारण यह है कि यह बाकी वैरिएंट्स के मुकाबले ज्यादा तेजी से फैलता है। डब्लुएचओ ने कहा है कि इस वैरिएंट के तेजी से फैलने से दुनिया के देशों के स्वास्थ्य ढांचे पर दबाव बढ़ेगा। डब्लुएचओ ने मंगलवार को जारी कोविड-19 के अपने साप्ताहिक अपडेट में कहा कि डेल्टा वैरिएंट ( Corona update Delta Variant ) के कारण कोविड-19 के मामले बढ़ने की जानकारी डब्लुएचओ के तहत आने वाले सभी क्षेत्रों से सामने आई है। मंगलवार 13 जुलाई तक, कम से कम 111 देशों, क्षेत्रों व इलाकों ने डेल्टा स्वरूप के मिलने की पुष्टि की है और इसके बढ़ने की आशंका है, जो आने वाले महीनों में वैश्विक स्तर पर हावी स्वरूप बन जाएगा। Read also:  Olympic 2021 : अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष का बड़ा फैसला, कोरोना से बचाव… Continue reading Corona update: डेल्टा पहुंचा 111 देशों में, संक्रामक क्षमता अन्य वैरिएंट्स की तुलना में ज्यादा

corona update delta variant: डेल्टा वैरिएंट 96 देशों में पहुंचा

corona update delta variant : नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार डेल्टा वैरिएंट दुनिया के 96 देशों में पहुंच चुका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ ने पहले ही इसे वैरिएंट ऑऱफ कंसर्न यानी चिंताजनक वैरिएंट बताया था और अब आधी दुनिया में इसके फैलने के बाद आशंका जताई है कि आने वाले कुछ महीनों में यह ज्यादा हावी हो जाएगा। यानी इसके और कई देशों में फैलने का खतरा है। हालांकि डब्लुएचओ ने कहा कि डेल्टा प्लस अभी वैरिएंट ऑफ कंसर्न नहीं है। डब्लुएचओ ने यह भी बताया है कि ब्रिटेन में पहली बार मिला अल्फा वैरिएंट अब तक 172 देशों तक पहुंचा है। ब्रिटेन में एक बार फिर वायरस तेजी से फैल रहा है। डब्लुएचओ ने कोरोना महामारी पर इस हफ्ते जारी अपडेट में कहा है कि डेल्टा वैरिएंट ( corona update delta variant ) 96 देशों में पाया गया है। हालांकि, अब तक इस वैरिएंट की पहचान करने की क्षमता बहुत सीमित है। इसलिए हो सकता है कि इसके बारे में कम डाटा सामने आया हो। यह भी सच है कि कई देशों में इसी वैरिएंट की वजह से नए केस काफी ज्यादा बढ़ गए हैं। डब्लुएचओ ने कहा कि डेल्टा वैरिएंट… Continue reading corona update delta variant: डेल्टा वैरिएंट 96 देशों में पहुंचा

Delta Plus Variant बना बड़ा खतरा

भारत की स्थिति यह है कि इस वेरिएंट का फैलाव दस राज्यों और करीब पौने दो सौ जिलों में हो चुका है। इससे महाराष्ट्र में पहली मौत भी हो चुकी है। विशेषज्ञ ये बता चुके हैं कि ये वेरिएंट पुराने तमाम वेरिएंट की तुलना में अधिक तेजी से फैलता है। इसका संक्रमण अपेक्षाकृत जल्दी फेफड़े तक पहुंच जाता है। देखते-देखते कोरोना वायरस का Delta Plus Variant एक बड़े खतरे के रूप में उभर गया है। और ये बात सिर्फ भारत की नहीं है, जहां ये वेरिएंट सबसे पहले पहचान में आया था। भारत की स्थिति यह है कि इस वेरिएंट का फैलाव दस राज्यों और करीब पौने दो सौ जिलों में हो चुका है। इससे महाराष्ट्र में पहली मौत भी हो चुकी है। विशेषज्ञ ये बता चुके हैं कि ये वेरिएंट पुराने तमाम वेरिएंट की तुलना में अधिक तेजी से फैलता है और इसका संक्रमण अपेक्षाकृत जल्दी फेफड़े तक पहुंच जाता है। अब तक कोरोना वायरस के बने वैक्सीन इस पर कितने प्रभावी हैं, इस बारे में अभी अनुमान ही लगाए जा रहे हैँ। अलग-अलग टीकों के बारे में अलग- अलग अनुमान लगे हैँ। बहरहाल, भारत की समस्या तो यह भी है कि यहां टीकाकरण की रफ्तार धीमी है। अब… Continue reading Delta Plus Variant बना बड़ा खतरा

Delta Plus Update: डेल्टा की चपेट में पूरी दुनिया, डब्लुएचओ की चेतावनी

Delta Plus Update : नई दिल्ली। दुनिया भर में एक बार फिर कोरोना वायरस के केसेज बढ़ने लगे हैं और ऐसा भारत में दूसरी लहर लाने वाले वायरस के डेल्टा वैरिएंट की वजह से हो रहा है। दुनिया के अनेक देशों में डेल्टा वैरिएंट की वजह से तेजी से नए केस बढ़ रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडेनम गैब्रिएसस ने दुनिया के 85 देशों में फैल चुके इस वैरिएंट को लेकर दुनिया के देशों के लिए चेतावनी जारी की है। इस बीच ब्रिटेन, ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश सहित कई देशों में नए सिरे से पाबंदियां लगाई जा रही हैं और लॉकडाउन किए जा रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका में डेल्टा वैरिएंट की वजह से स्थिति बिगड़ रही है। वहां एक दिन में 18 हजार नए केस मिले हैं। पुर्तगाल में सरकार ने कहा है कि वहां मिल रहे नए केसेज में से 50 फीसदी केस डेल्टा वैरिएंट के हैं, जबकि राजधानी लिस्बन में 70 फीसदी मामले डेल्टा वैरिएंट के हैं। ऑस्ट्रेलिया की राजधानी सिडनी में अब तक डेल्टा वैरिएंट के 80 केस मिले हैं और इसकी वजह से सिडनी में शनिवार को दो हफ्ते के सख्त लॉकडाउन का ऐलान किया गया। कोरोना से जंग जीत चुके और करीब… Continue reading Delta Plus Update: डेल्टा की चपेट में पूरी दुनिया, डब्लुएचओ की चेतावनी

डेल्टा प्लस वैरिएंट क्या है, क्या ये कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी है… आइए जानते हैं इसके सारे सवालों के जवाब

कोरोना वायरस ने हमारे जीवन में वर्ष 2020 में एंट्री मारी थी। तब लेकर अब तक यह अपने कई रूप बदल चुका हैं। कोरोना की दूसरी लहर हाल ही में होकर गुज़री है। और कोरोना का नया रूप डेल्टा प्लस भारत में आतंक मचाने आ चुका है। कोरोना का डेल्टा प्लस वायरस भी तेजी से अपने पैर फैला रहा है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पंजाब, मध्य प्रदेश और राजस्थान में डेल्टा प्लस वैरिएंट के कई मामले देखे जा चुके है। महाराष्ट्र में इस वैरिएंट से एक ( what is delta plus varriant ) मौत भी हो चुकी है। कोरोना की दूसरी लहर से अभी तक लोग बाहर भी नहीं आए है कि कोरोना का बदलता हुआ रूप आ गया है। इसके बारे में सुनकर लोग डरे हुए हैं। कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर तबाही मचाई थी।  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोरोना वायरस का डेल्टा प्लस वैरिएंट भारत के अलावा अभी 9 देशों में पाया गया है। ये देश हैं- अमेरिका, यूके, पुर्तगाल, स्विजरलैंड, जापान, पोलैंड, नेपाल, चीन, रूस। जहां तक बात वायरस के डेल्टा वैरिएंट की है तो यह भारत सहित दुनिया के 80 देशों में पाया गया है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर की वजह भी… Continue reading डेल्टा प्लस वैरिएंट क्या है, क्या ये कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी है… आइए जानते हैं इसके सारे सवालों के जवाब

इलाज की गाइडलाइन बदली

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर धीमी पड़ने के बीच केंद्र सरकार ने इसके इलाज की गाइडलाइन में बदलाव किया है। वायरस की महामारी शुरू होने के करीब डेढ़ महीने बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि जिन मरीजों में कोरोना के लक्षण नजर नहीं आते या हल्के लक्षण हैं, उन्हें किसी तरह की दवाइयां लेने की जरूरत नहीं है। हालांकि दूसरी बीमारियों की जो दवाएं चल रही हैं, उन्हें जारी रखना चाहिए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि बिना लक्षण वाले मरीजों को टेली कंसल्टेशन यानी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इलाज लेना चाहिए। सरकार की ओर से कहा गया कि बिना लक्षण वाले मरीजों को अच्छी डाइट लेना चाहिए और मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे जरूरी नियमों का पालन करना चाहिए। डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विसेज, डीजीएचएस ने नई गाइडलाइन के तहत बिना लक्षण वाले मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जा रहीं सभी दवाओं को सूची से हटा दिया है। इनमें बुखार और सर्दी-खांसी की दवाएं भी शामिल हैं। गाइडलाइन में कहा गया है कि ऐसे संक्रमितों को दूसरे टेस्ट करवाने की जरूरत भी नहीं है। इससे पहले 27 मई को गाइडलाइन जारी की गई थी, जिसमें हल्के लक्षणों वाले मरीजों पर हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन, आइवरमेक्टिन, डॉक्सीसाइक्लिन, जिंक और… Continue reading इलाज की गाइडलाइन बदली

एलोपैथी की साख किसने बिगाड़ी?

पतंजलि समूह के रामदेव एलोपैथी को लेकर जो कह रहे हैं वह अपनी जगह है। क्योंकि एलोपैथी के ऊपर उनका हमला सिर्फ इसलिए है कि वे अपनी कंपनी के उत्पाद बेच सकें। यह आयुर्वेद बनाम एलोपैथी की नहीं, बल्कि एलोपैथी बनाम रामदेव या एलोपैथी बनाम पतंजलि का विवाद है। इसलिए उसमें जाने की जरूरत नहीं है। पर सवाल है कि अगर एलोपैथी की साख पर सवाल उठे हैं और सोशल मीडिया में लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं तो उसके लिए जिम्मेदार कौन है? क्या इसके लिए सरकार की संस्थाएं और झोलाछाप सलाहकार जिम्मेदार नहीं हैं, जिन्होंने बिना सोचे समझे एक के बाद एक प्रयोग किए? भारत में जांच से लेकर इलाज के प्रोटोकॉल तक सब कुछ बिना किसी रियल डाटा और सर्वेक्षण के हुआ। अब भी भारत में वैक्सीन के सिर्फ क्लीनिकल ट्रायल का डाटा है और रियल ट्रायल का डाटा ब्रिटेन और दुनिया के दूसरे देश जुटा रहे हैं। बहरहाल, सरकार ने कोरोना के इलाज के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन शुरू किया फिर उसे बंद किया। फिर कहा गया कि बीसीजी के टीकों से मरीजों का बचाव हो रहा है, लेकिन जब गांवों में कोरोना फैला तो चुप्पी साध ली गई। इलाज में आइवरमेक्टिन का इस्तेमाल किया गया, फिर बंद… Continue reading एलोपैथी की साख किसने बिगाड़ी?

Ramdev माफी मांगे: हर्षवर्धन

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ओर से आपत्ति जताने और दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन की ओर से मुकदमा दर्ज कराए जाने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने पतंजलि समूह के रामदेव द्वारा डॉक्टरों पर दिए गए बयान को आपत्तिजनक बताया है और उनसे बयान वापस लेने को कहा है। हर्षवर्धन ने यह भी कहा है कि रामदेव ने जो सफाई दी है वह पर्याप्त नहीं है और उन्हें माफी मांगनी चाहिए। हर्षवर्धन ने रविवार को रामदेव को पत्र लिख कर अपना विवादित बयान वापस लेने को कहा। हर्षवर्धन ने पत्र में लिखा- एलोपैथी से जुड़े हेल्थ वर्कर्स और डॉक्टर बहुत मेहनत से कोरोना मरीजों की जान बचा रहे हैं। आपके बयान से कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई कमजोर पड़ सकती है। उम्मीद है कि आप अपने बयान को वापस लेंगे। इससे पहले शनिवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने स्वास्थ्य मंत्री को चिट्‌ठी लिखकर एलोपैथी पर दिए बाबा रामदेव के बयान पर आपत्ति जताई थी और मुकदमा चलाने की मांग भी की थी। इसके एक दिन बाद रविवार को स्वास्थ्य मंत्री ने रामदेव को चिट्ठी लिखी। उन्होंने लिखा- आप इस तथ्य से भली-भांति परिचित हैं कि कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में भारत सहित पूरे विश्व के असंख्य… Continue reading Ramdev माफी मांगे: हर्षवर्धन

सरकार ने बताया स्तनपान करवाने वाली महिलाएं कोरोना वैक्सीन लगवा सकती है या नहीं??

कोरोना वायरस संक्रमण के हालात पिछले बीस दिनों से बदल रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि लगातार केस कम हो रहे हैं। संक्रमण के नए मामलों से ज्यादा हर दिन अब रिकवर हो रहे हैं। 8 लाख के लगभग एक्टिव केस कम हुए हैं हालांकि 6 राज्यों में मौत के मामले सबसे ज्यादा आ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा कि अभी भी हमारा प्रयास कन्टेनमेंट जोन पर ज्यादा है। साथ ही मदर फीडिंग कराने वाली महिलाओं के लिए वैक्सीन को लेकर अहम जानकारी दी गई है। दूध पिलाने वाली महिलाओं, खून पतला करने की दवाई लेने वालों को वैक्सीन ना लगवाने की सलाह दी है। लेकिन अब दूध पिलाने वाली महिलाओं के बारे में स्पष्ठ जानकारी मिल गई है। इसे भी पढ़ें WELCOME THIRD WAVE : स्वैग से करेंगे कोरोना की तीसरी लहर का स्वागत, रेड कार्पेट पर आई तीसरी लहर सभी प्रयास जारी रखने की जरूरत स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा, अभी भी देश के 8 राज्य ऐसे हैं जहां 1 लाख से ज्यादा कोरोना केस हैं। 50 हजार से 1 लाख के बीच एक्टिव केस वाले राज्यों की संख्या 8 है। 18 राज्य ऐसे हैं जहां… Continue reading सरकार ने बताया स्तनपान करवाने वाली महिलाएं कोरोना वैक्सीन लगवा सकती है या नहीं??

Corona के दैनिक मामलों में बढ़ोतरी, 24 घंटे में 2.76 लाख से ज्यादा नए मामले

नई दिल्ली | देश में कोरोना वायरस (Corona virus) के दैनिक मामलों में एक बार फिर बढ़ोतरी देखने को मिली है और पिछले 24 घंटो के दौरान इस कोरोना संक्रमण (Corona virus) के 2.76 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए गए, लेकिन राहत की बात यह है कि इस दौरान इस कोरोना संक्रमण (Corona virus) को 3.69 लाख से अधिक लोगों ने मात दी है। इस बीच 11 लाख 66 हजार 090 लोगों को कोरोना के टीके लगाये गये। देश में अब तक 18 करोड़ 70 लाख नौ हजार 792 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) की ओर से आज सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में 2,76,070 नये मामले आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर दो करोड़ 57 लाख 72 हजार 400 हो गया। इसे भी पढ़ें – Rajasthan : नहीं रहे पहले दलित CM जगन्नाथ पहाड़िया, महादेवी वर्मा पर टिप्पणी की तो ले लिया इस्तीफा, प्रदेश में की थी शराब बंद इस अवधि में तीन लाख 69 हजार 077 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इसके बाद देश में अब तक 2,23,55,440 इस महामारी को मात दे चुके हैं और रिकवरी रेट, जिससे रिकवरी दर 86.74 फीसदी हो… Continue reading Corona के दैनिक मामलों में बढ़ोतरी, 24 घंटे में 2.76 लाख से ज्यादा नए मामले

आइये जानते है आखिर क्या है ब्लैक फंगस? इससे बचने के लिए क्या करें और क्या नहीं..

भारत अभी कोरोना महामारी से लड़ने की कोशिश कर रहे है। पूरा देश इसे हराने में लगा है। भारत में कोरोना के मामले कम आने लगे है। मौत के आंकड़े भी कम हो हे है। भारत को अभी रहत की सांस मिलने लगी है कि एक और बीमारी आ खड़ी हुई है….ब्लैक फंगस। कोरोना के बाद  ब्लैक फंगस लोगों को डराने लगा है।  इस बीमारी को मेडिकल टर्म में म्यूकोरमायकोसिस कहते हैं और यह बीमारी कोरोना से रिकवर होने के बाद मरीजों में ज्यादा देखने को मिल रही है। इस बीमारी में मरीजों की आंखें जा रही है। कई मरीजों की तो आंखें निकाली जा चुकी है। कोरोना केस कम आने जरूर शुरु हो गये है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। लिहाजा सावधानी और सतर्कता बेहद जरूरी है। एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना से ठीक हो रहे मरीजों को ब्लैक फंगस की बीमारी हो रही है। ब्लैक फंगस के मरीज राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात में ज्यादा देखने को मिल रही है। इसे भी पढ़ें Black Fungus In Rajasthan: राजस्थान में ‘ब्लैक फंगस’ की दस्तक, सरकार अलर्ट, जारी किए ये आदेश केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने इस बारे में दी जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने ट्वीट करके ब्लैक फंगस के… Continue reading आइये जानते है आखिर क्या है ब्लैक फंगस? इससे बचने के लिए क्या करें और क्या नहीं..

और लोड करें