एक सराहनीय पहल

ये शिकायत पुरानी है। कॉस्मेटिक कंपनियां शरीर और सुंदरता को लेकर एक खास तरह का मॉडल लोगों के दिमाग में बैठते हैं, जिसका उन लोगों पर खराब मनोवैज्ञानिक असर होता है, जो उस मॉडल में फिट नहीं बैठते। इसलिए इस चलन से मुक्ति पाने के हर कदम का स्वागत होना चाहिए।