आईपीएल में वापसी को तैयार थे धोनी : बालाजी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण चेन्नई सुपर किंग्स का ट्रेनिंग कैम्प रद्द कर दिया गया और इसी के साथ टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपने घर लौट गए। चेन्नई के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी ने कहा है कि धोनी ट्रेनिंग सत्र में काफी शिद्दत से अभ्यास कर रहे थे और उन्हें देखकर लग नहीं रहा था कि वह प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में आराम के बाद वापसी कर रहे हैं। बालाजी ने इंडिया टुडे से कहा धोनी शानदार लग रहे थे। उनका ध्यान हमेशा की तरह अभ्यास पर था। वह हमेशा की तरह सामान्य थे। उन्होंने उसी तरह अभ्यास किया जिस तरह से पिछले साल दो साल पहले किया था। तैयारी की जहां तक बात है कुछ भी नहीं बदला है। उनका रुटीन, उनकी मानसिकता सब एक है। उन्होंने कहा धोनी आईपीएल को लेकर काफी फोकस थे। वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो एक बार में एक चीज पर ध्यान देते हैं।

मनिका ने इस मुश्किल समय में दिल्ली पुलिस के काम को सराहा

नई दिल्ली। राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता भारत की महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने दिल्ली पुलिस की तारीफ की है। मनिका ने कहा है कि कोरोना वायरस के इस मुश्किल समय में दिल्ली पुलिस सराहनीय काम कर रही है। मनिका ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें दिल्ली पुलिस की तारीफ के कसीदे पढ़े हैं। मनिका ने कहा इस मुकिश्ल समय में मैंने दिल्ली पुलिस के स्टाफ के कई सारे फोटो और वीडियो देखे हैं जिसमें वे सराहनीय काम कर रहे हैं। चाहे वह लॉकडाउन को बनाए रखने का काम हो या फिर जरूरतमंद लोगों को भोजन मुहैया कराने का काम हो। प्रतिष्ठित ‘आईटीटीएफ ब्रेकथ्रू टेबल टेनिस स्टार’ अवार्ड पाने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं मनिका ने आगे कहा ऐसे में जब हमारे पास रहने को अपनी लक्जरी घर है तो दिल्ली पुलिस असाधारण काम कर रही है ताकि लोग अपने घरों में सुरक्षित रूप से रह सकें और आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी करते करते समय सामाजिक दूरी बनी रहे ताकि गरीब और जरूरतमंद लोगों को भोजन मिल सके। अर्जुन अवार्ड से सम्मानित मनिका ने कहा कि उन्हें दिल्ली पुलिस के काम पर गर्व है। उन्होंने कहा आपके प्रयास पर हम सबको गर्व है। मैं… Continue reading मनिका ने इस मुश्किल समय में दिल्ली पुलिस के काम को सराहा

आधा समय बेटी की देखभाल में गुजर जाता है : पुजारा

राजकोट। भारतीय भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान उनका आधा समय तो बेटी की देखभाल में ही गुजर जाता है। कोरोना से लड़ने के लिए भारत सरकार ने पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन कर रखा है और इस दौरान पुजारा सहित सभी क्रिकेटर अपने अपने तरीके से घर पर वक्त बिता रहे हैं। पुजारा ने स्पोर्टस्टार से कहा मेरे लिए यह बदलाव स्वागत योग्य है। मैं इन दिनों खुद के साथ समय बिता रहा हूं। जब भी मैं अकेला होता हूं तो किताब पढ़ने और टीवी देखना पसंद करता हूं। उन्होंने कहा मेरे पास एक बेटी है जो हमेशा ही खेलने के लिए काफी उत्साह से भरी रहती है। मेरा अधिकतर समय तो बेटी की देखभाल में ही गुजर जाता है। मैं रोज के काम में पत्नी का हाथ भी बटा रहा हूं। पुजारा ने सभी देशवासियों से घरों में ही रहने की अपील की और कहा कि उन्हें किसी से भी हाथ नहीं मिलाना चाहिए। उन्होंने कहा ना केवल हमारे देश के लिए बल्कि यह पूरी दुनिया के लिए एक मुश्किल समय है। हम केवल घर में रहकर ही बीमारी से लड़ सकते हैं।

कोहली भारतीय टीम के बॉस : शास्त्री

नई दिल्ली। भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि कप्तान विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम के बॉस हैं क्योंकि वह खेल के सभी पहलुओं से टीम का नेतृत्व करते हैं। शास्त्री स्काइ स्पोर्ट्स पोडकास्ट पर नासिर हुसैन के सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा  मेरा हमेशा से मानना है कि कप्तान बॉस होता है। कोचिंग स्टाफ की जिम्मेदारी खिलाड़ियों को सर्वश्रेष्ठ तरीके से तैयार करने की होती है ताकि खिलाड़ी मैदान पर जाकर बहादुर, सकारात्मक और निडर होकर क्रिकेट खेले। उन्होंने कहा कप्तान आगे बढ़कर टीम का नेतृत्व करता है। जी हां, हम उसका बोझ उतारने के लिए वहां रहते हैं, लेकिन मैदान पर पूरी जिम्मेदारी आप कप्तान पर ही छोड़ते हैं। कप्तान खुद टीम के लिए कीर्तिमान स्थापित करता है और फिर अपने खिलाड़ियों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। मैदान में पूरा शो वही नियंत्रित करता है। शास्त्री ने टीम की फील्डिंग और फिटनेस में सुधार का श्रेय भी कप्तान कोहली को देते हुए कहा जब आप फिटनेस की बात करते हैं तो नेतृत्व ऊपर से आता है, जो विराट कोहली है। कोच ने कहा  वह फालतू काम करने वालों में से नहीं है। वह एक सुबह उठा और बोला-… Continue reading कोहली भारतीय टीम के बॉस : शास्त्री

कोविड-19 के बाद भी अच्छे भविष्य को लेकर आश्वस्त वू लेई

बीजिंग। चीन के स्टार फुटबाल खिलाड़ी वू लेई ने शनिवार को कहा है कि उनकी पत्नी भी कोविड-19 से पीड़ित पाई गई हैं। लेई भी इस बीमारी से पीड़ित थे लेकिन उन्होंने कहा है कि वह इस बीमारी से ठीक हो गए हैं और इस बीमारी का उनके करियर पर कोई असर नहीं पड़ेगा। लेई ने चीन के सेन्ट्रल टेलीविजन को दिए इंटरव्यू में कहा कि 15 मार्च को उनके सिर में दर्द था और उन्हें बुखार भी था। इसके बाद वह कोविड-19 से पीड़ित पाए गए। उनकी पत्नी में भी इस बीमारी के लक्षण दिखे थे और वह भी इस बीमारी से पीड़ित पाई गई। यह जोड़ा इस समय बार्सिलोना में अलगाव की स्थिति में है। उन्होंने अपने दोनों बच्चों को दादा-दादी के पास भेज दिया है। लेई ने कहा मैं दिन ब दिन बेहत महसूस कर रहा हूं। और अब मुझे किसी तरह के लक्षण नहीं हैं और न ही मेरी पत्नी को। मैंने 19 मार्च को सीटी चैक करवाया था जो अच्छा रहा था। मुझे नहीं लगता कि इस वायरस का मेरे करियर पर कोई असर पड़ेगा। लेई स्पेन के फुटबाल क्लब इस्पानयोलसे खेलते हैं।

लाइव ऑनलाइन वर्कशॉप शानदार पहल : गोपीचंद

नई दिल्ली। कोरोनावायरस के कारण लगे लॉकडाउन के चलते सभी खिलाड़ी घरों में ही रह रहे हैं, ऐसे में भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने स्पोर्ट्स साइंस और स्पोर्ट्स मैनेजमेंट के विशेषज्ञों के साथ मिलकर लाइव ऑनलाइन वर्कशॉप शुरू किया है, ताकि खिलाड़ी किसी तरह व्यस्त रहें। इस वर्कशॉप को खेल मंत्री किरण रिजिजू ने अपने ट्विटर पर लांच किया था। यह वर्कशॉप सुबह 11 बजे हर दिन साई के सोशल मीडिया पर चालू की जाएगी। इसका पहला सत्र शुक्रवार को चालू किया गया, जिसमें फिजियोथैरेपिस्ट निखिल लाटे ने खिलाड़ियों को घर में रहकर ट्रेनिंग करने के तरीके सुझाए। इसके बाद खिलाड़ियों के पोषण आहार को लेकर भी सत्र आयोजित किया गया। इनके अलावा राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद, भारतीय हॉकी टीम के कप्तान विरेन रसकिन्हा और सीनियर खेल पत्रकार शारदा उगरा ने अपने विचार साझा किए। सत्र पर ओलम्पियन पूजा ढांडा ने कहा यह सत्र काफी जानकारी वाला रहा। इससे मुझे घर पर रहकर अलग तरह से ट्रेनिंग करने में मदद मिली। वहीं गोपीचंद ने कहा यह साई की शानदार पहल है। इस मुश्किल समय में यह जरूरी है कि हर कोई अपने आप को शारीरिक और मानसिक तौर पर फिट रखे और समय बिताने के बेहतर तरीके निकाले।

धावक रोप पर 2 दो साल का बैन

नेरौबी। एशियाई खेलों में 5000 मीटर में रजत पदक जीतने वाले केन्या के धावक अल्बर्ट रोप डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं और अब उन पर दो साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है। एथलेटिक्स इंटिग्रिटी यूनिट (एआईयू) ने शुक्रवार को कहा कि रोप सात अक्टूबर 2018 को अपना ठिकाना उपलब्ध कराने में विफल रहे क्योंकि उन्होंने अपनी जानकारी से अवगत नहीं कराया और साथ ही वह योजनाबद्ध टेस्ट में विफल रहे। एआईयू ने एक बयान में कहा एआईयू ने पाया कि एथलीट ने प्रतियोगिता के संबंध में अपने ठिकाने की जानकारी को सही से अपडेट नहीं किया, जोकि उन्होंने नीदरलैंडस में 10 किमी रेस रोड में भाग लिया था। एथलीट के पास इस फैसले के खिलाफ अपील करने का अधिकार है। विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) ने सितंबर 2018 में अपनी रिपोर्ट में कहा था कि 2004 से लेकर 2018 तक केन्या के 138 एथलीट डोपिंग टेस्ट में विफल रहे हैं।

लड़ाई आसान नहीं है, आपसी दूरी बनाए रखें : कोहली

नई दिल्ली। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने केंद्र सरकार द्वारा लगए गए लॉकडाउन को लेकर देश के नागरिकों से अपील की है कि वह इस दौरान घरों में ही रहें और लाकडाउन का पालन करें। कोहली ने साथ ही लोगों से स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सलाह मानने की भी अपील की है। कोहली ने सोशल मीडिया पर जारी एक वीडियो में कहा मैं विराट कोहली आज आपसे एक खिलाड़ी नहीं बल्कि एक भारतीय होने के नाते बात कर रहा हूं। जो कुछ मैंने बीते कुछ दिनों में देखा। लोगों की भीड़, सड़क पर घूमते लोग। कर्फ्यू का पालन न करना, लॉकडाउन का पालन न करना। यह देखकर मुझे लगा कि हम इस लड़ाई को बहुत ही साधारण तरीके से देख रहे हैं। उन्होंने कहा यह लड़ाई उतनी साधारण नहीं है, जितनी दिखती है। इसलिए मेरी आज आप सभी से यही विनती है कि आप सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सरकार ने हमें जो भी दिशा निर्देश दिए हैं उसे पूरी ईमानदारी से मानें। यह सोचें कि अगर आपकी लापरवाही से आपके परिवार में किसी को यह बीमारी हो जाए तो आपको कैसा महसूस होगा। इसलिए हमारी सरकार, हमारे स्वास्थ विशेषज्ञ इसके लिए काफी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन यह… Continue reading लड़ाई आसान नहीं है, आपसी दूरी बनाए रखें : कोहली

कोरोना मरीजों को हीनभावना से मत देखिए : तेंदुलकर

मुंबई। भारत के महान पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने शुक्रवार को लोगों से अपील की कि जो लोग कोविड-19 से पीड़ित हैं, उन्हें हीन भावना से नहीं देखा जाए। तेंदुलकर ने कहा कि समाज का दायित्व है कि कोविड-19 के मरीज का अच्छे तरीके से ख्याल रखा जाए। सचिन ने ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें कहा है एक समाज के तौर पर यह हमारी जिम्मेदारी है कि जो लोग कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए हैं उनको हमारा प्यार और सम्मान मिले। हमें उनकी देखभाल करनी चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए की उन्हें शर्मिदगी महसूस न हो। सचिन ने कहा हम एक साथ मिलकर ही कोरोनावायरस से लड़ाई जीत सकते हैं।

लक्ष्मीरतन शुक्ला सामान बांट कर रहे हैं ग्राउंडसमैन की मदद

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के खेल मंत्री और पूर्व क्रिकेटर लक्ष्मीरतन शुक्ला ने अपना पांच महीने का विधायक वेतन और बीसीसीआई से मिलने वाली पेंशन को कोरोना वायरस से जारी लड़ाई में लगाने का फैसला किया है। इसी के साथ वह ‘मैदान’ के ग्राउंड स्टाफ की चावल और दाल बांट कर मदद कर रहे हैं। शुक्ला ने कहा 1999 में मैंने करगिल युद्ध में दान देकर केंद्र सरकार की मदद की थी। अब मैं मंत्री हूं और साथ ही इस देश का जिम्मेदार नागरिक। इसलिए आज मैंने मैदान के ग्राउंडस्टाफ को चावल और दाल बांट कर उनकी मदद करने की कोशिश की। उन्होंने कहा हमें इस बीमारी से एक साथ लड़ने की जरूरत है। ग्राउंड स्टाफ को भी मदद की जरूरत होती है। मैंने अच्छे-खासे समय तक क्रिकेट खेली है और अब मैं मदद कर सकता हूं तो मुझे करना चाहिए।

एससीए ने की 42 लाख रुपए की मदद

अहमदाबाद। सौराष्ट्र क्रिकेट संघ (एससीए) ने कोरोनावायरस के लिए बनाए गए प्रधानमंत्री राहत कोष और गुजरात मुख्यमंत्री राहत कोष में 42 लाख रुपए की मदद देने का ऐलान किया है। दोनों राहत कोष में 21-21 लाख रुपए दिया जाएगा। एससीए ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। बयान में कहा गया है कोरोनावायरस के इस भयंकर समय में एससीए देश के नागरिकों की चिंता करती है। हम सभी भारतीयों से घर में रहने की अपील करते हैं। एससीए से पहले बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) ने भी राज्य सरकार को 25 लाख रुपए की मदद देने का ऐलान किया था। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी 50 लाख रुपए के चावल मुहैया कराने की बात कही थी।

फुटबाल : कोलंबिया और मेक्सिको का दोस्ताना मैच रद्द

बोगोटा। कोलंबिया और मेक्सिको के बीच खेले जाने वाला अंतर्राष्ट्रीय दोस्ताना फुटबाल मैच कोरोनावायरस के कारण रद्द कर दिया गया है। कोलंबिया फुटबाल महासंघ (सीएफसी) ने इसकी जानकारी दी। यह मैच 30 मई को अमेरिका के माइले हाई स्टेडियम में खेला जाना था। सीएफसी के हवाले से कहा हमें उम्मीद है कि भविष्य में फिर से इस मैच का कार्यक्रम तय किया जाएगा। लेकिन इस समय हर किसी के स्वासथ्य की रक्षा करना प्राथमिकता है। कोलंबिया इस मैच के जरिए कोपा अमेरिका की अपनी तैयारियों को परखना चाहता था,जिसे इस महीने की शुरूआत में स्थगित कर दिया गया था। मेक्स्किो को नेशंस लीग के सेमीफाइनल में चार जून को कोस्टा रिका से खेलना था। मेक्सिको और कोलंबिया पिछली बार मार्च 2012 में एक दूसरे से भिड़े थे, जब कोलंबिया ने मेक्सिको को 2-0 से करारी मात दी थी।

कोविड-19 के कारण स्थगित हुई स्पेनिश ग्रां प्री

मेड्रिड। कोरोनावायरस के कारण स्पेनिश ग्रां प्री को स्थगित कर दिया गया है। यह रेस पहले तीन मई को होनी थी। आयोजकों ने गुरुवार को इस बात की जानकारी देते हुए बताया कोरोनावायरस के कारण मौजूदा कार्यक्रम को पुर्ननिधारित किया जाएगा। एक बयान के मुताबिक स्थिति ऐसी है कि लगातार इसे परखना पड़ेगा। इसलिए जब तक स्थिति साफ नहीं हो जाती तब तक स्पेनिस ग्रां प्री की नई तारीखों के बारे में नहीं बताया जा सकता। स्पेन में कोरोनावायरस के कारण मृतकों की संख्या चीन से ज्यादा हो गई है। स्पेन कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला दूसरा देश है।

खिलाड़ियों को फिट रहने के लिए प्रोत्साहित कर रहे लैंगर

सिडनी।  कोरोना वायरस के कारण आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर की तीन बेटियां अपनी नौकरी खो चुकी है। कोरोना के कारण आस्ट्रेलिया में सभी तरह की क्रिकेट गतिविधियां निलंबित हैं। ऐसे में कोच लैंगर खिलाड़ियों को मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रखने के लिए उन्हें सिल्वर लाइनिंग की तलाश के लिए प्रोत्साहित कर रहे है। क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू ने पर्थ में मौजूद लैंगर के हवाले से कहा निजी रूप से मैं अपने खिलाड़ियों को कुछ सिल्वर लाइनिंग (उम्मीद की किरण) की तलाश के लिए प्रोत्साहित कर रहा हूं। उन्होंने कहा यह कुछ ऐसा है, जिसमें हम अपने परिवारों के साथ घर में हैं, खुद के बिस्तर पर सोते हैं, घर में पका हुआ खाना खाते हैं और घर से काम कर सकते हैं। हमने दक्षिण अफ्रीका सीरीज में देखा कि हमारे कई खिलाड़ी शारीरिक और मानसिक रूप से थक चुके थे। यह समय खिलाड़ियों को फिर से तरोताजा होने का मौका देता है। लैंगर ने कहा कि खिलाड़ियों के साथ बचे हुए कार्यकाल में अब वह उनकी फिटनेस और टेनिंग पर ध्यान देंगे। उन्होंने कहा  मुझे बहुत हैरानी होगी अगर वे कड़ी मेहनत नहीं करेंगे। एक पेशेवर खिलाड़ी के रूप में आपको खुद को… Continue reading खिलाड़ियों को फिट रहने के लिए प्रोत्साहित कर रहे लैंगर

अभी भी आईपीएल की तैयारी कर रहे हैं स्टोक्स

लंदन। भारत में इन दिनों कोरोना वायरस के कारण 21 दिनों का लॉकडाउन जारी है और ऐसे में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का होना मुश्किल लग रहा है लेकिन इंग्लैंड के ऑल राउंडर बेन स्टोक्स अभी भी आईपीएल की तैयार कर रहे हैं। आईपीएल की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी लेकिन कोरोना वायरस के कारण इसे 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है। और,जो हालात हैं, उनमें इसका आयोजन मुश्किल ही लग रहा है। स्टोक्स ने बीबीसी रेडियो से कहा इस समय मेरा अगला टूर्नामेंट आईपीएल होगा। यह मेरे दिमाग में है और मैं जानता हूं कि शायद मैं न खेलूं, लेकिन मुझे अपने आप को तैयार रखना है ताकि अगर यह हो यह तो मैं तैयार रहूं। उन्होंने कहा मैं तीन सप्ताह का ब्रेक नहीं ले सकता और यह उम्मीद नहीं कर सकता कि मेरा शरीर 20 अप्रैल के लिए तैयार रहेगा क्योंकि मैं किसी भी तरह से पीछे नहीं रहना चाहता। बीसीसीआई को उम्मीद है कि अगर लीग का पहला मैच मई के पहले सप्ताह में होगा तो भी वो कम दिनों में लीग का आयोजन कर सकती है।

और लोड करें