सहयोगियों ने कांग्रेस को भाव नहीं दिया

एक तरफ भाजपा अपनी सहयोगी पार्टियों के नेताओं को राज्यसभा में भेज रही है तो दूसरी ओर कांग्रेस अपनी सहयोगी पार्टियों के सामने झोली फैला कर खड़ी थी कि उसके नेता को राज्यसभा मिल जाए पर किसी सहयोगी पार्टी ने उसे घास नहीं डाली।

झारखंड में भी भाजपा के लिए चुनौती

झारखंड में राज्यसभा की दो सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होगा। कारोबारी जगत से जुड़े दो लोग प्रेमचंद्र गुप्ता और परिमल नाथवानी रिटायर हो रहे हैं। गुप्ता को राजद ने कांग्रेस-जेएमएम के समर्थन से राज्यसभा में भेजा था तो नाथवानी भाजपा के समर्थन से निर्दलीय सांसद बने थे।

जेएमएम को ऐसे होगा नुकसान

झारखंड में टकराव की राजनीति शुरू हो गई है। दो महीने पहले चुनाव जीतने के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा, जेएमएम के नेता हेमंत सोरेन ने ऐसा दिखाया था कि वे टकराव और बदले की राजनीति नहीं करेंगे। पर अब वे दोनों काम कर रहे हैं।

झारखंड में जेएमएम, कांग्रेस, राजद तीनों नाराज

यह कमाल की बात है कि झारखंड में सरकार में शामिल तीनों पार्टियां नाराज हैं। तीनों पार्टियों के नेता परेशान हैं और इस बात को लेकर नाराज हैं कि उनके साथ अच्छा नहीं हो रहा है। 29 विधायकों के साथ मुख्यमंत्री बने हेमंत सोरेन ने अपने कोटे से पांच मंत्री बना लिए। यानी मुख्यमंत्री सहित… Continue reading झारखंड में जेएमएम, कांग्रेस, राजद तीनों नाराज

झारखंड में जेएमएम, भाजपा का दावा

झारखंड में राज्यसभा की दो सीटें खाली हो रही हैं और रिटायर हो रहे दोनों सांसद इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे। ध्यान रहे 2014 के चुनाव में झारखंड से दो कारोबारी चुनाव जीते थे। कांग्रेस के समर्थन से राजद के नेता प्रेमचंद्र गुप्ता और भाजपा, आजसू की मदद से रिलायंस समूह से जुड़े निर्दलीय उम्मीदवार परिमल नाथवानी।

बिना बड़े मंत्रालय के जन सेवा संभव नहीं!

महाराष्ट्र, हरियाणा में जो हुआ है और झारखंड में जो हो रहा है, उसे देख कर ऐसा लग रहा है कि पार्टियों और नेताओं को जनता की सेवा करने के लिए बड़े और मलाईदार मंत्रालयों की बड़ी जरूरत होती है। उसके बगैर जनता की सेवा संभव नहीं दिख रही है।

मरांडी के फैसले का होगा बड़ा असर

वसीम बरेलवी का शेर है- उसी को जीने का हक है जो इस जमाने में, इधर का लगता रहे और उधर का हो जाए। झारखंड के विधानसभा चुनाव के दौरान जेवीएम के नेता बाबूलाल मरांडी के लिए लग रहा था कि वे भाजपा की ओर हैं पर चुनाव के बाद वे जेएमएम के हो गए।

मंत्री बनने की लॉबिंग शुरू

वैसे जेएमएम, कांग्रेस और राजद में नतीजे आने से पहले एक्जिट पोल आने के साथ ही मंत्री पद के लिए लॉबिंग शुरू हो गई थी। पर नतीजों के बाद अब लॉबिंग तेज हो गई है। तीनों पार्टियों के नेता अपने अपने इलाके और अपनी अपनी जाति के समीकरण के आधार पर मंत्री पद का दावा कर रहे हैं।

कांग्रेस, जेएमएम में मंत्रियों की संख्या तय!

झारखंड में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस, जेएमएम और राजद के गठबंधन की सरकार की तैयारी चल रही है। बताया जा रहा है कि इन तीनों पार्टियों ने सीट बंटवारे के साथ ही सरकार बनाने का फार्मूला भी तय कर लिया था। इसलिए नतीजों के बाद सरकार बनाने में किसी तरह की खींचतान के आसार नहीं हैं।

मोदी ने जो कहा वह संघ का सपना है!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड के चुनाव में आखिरी चरण के मतदान वाले क्षेत्र में दो रैलियां कीं। संथालपरगना के आदिवासी बहुल और जेएमएम के असर वाले इलाके में भाजपा को बढ़त दिलाने के लिए चुनाव को हिंदू बनाम मुस्लिम और भारत बनाम पाकिस्तान बनाने वाले खूब सारे बयान दिए गए।

रघुवर के पिछड़ने के प्रचार से भाजपा बैकफुट पर

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी संघर्ष कर रही है। हर चरण के मतदान के बाद भाजपा की स्थिति बिगड़ने की खबरें आ रही हैं। पहले चरण के मतदान के बाद जेएमएम-कांग्रेस और राजद गठबंधन और भाजपा दोनों ने जीत का दावा किया।

‘लुटेरों’ से तालमेल नहीं करने की गारंटी नहीं है!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड में जिन पार्टियों को राज्य लूटने वाला बताया, चुनाव के बाद भाजपा उनके साथ सरकार नहीं बनाएगी, इस बात की कोई गारंटी नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू कश्मीर में मुफ्ती पिता-पुत्री के लिए कहा था कि ये लोग राज्य लूटने के लिए सत्ता में आते हैं।

झारखंड विधानसभा चुनाव : कांग्रेस, राजद ने पहली सूची जारी की

रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के एक दिन बाद पार्टी ने रविवार को पहले चरण के लिए पांच उम्मीदवारों के नाम जारी किए। कांग्रेस प्रदेश प्रमुख रामेश्वर उरांव को लोहरदगा सीट से व पूर्व मंत्री… Continue reading झारखंड विधानसभा चुनाव : कांग्रेस, राजद ने पहली सूची जारी की

जेएमएम के साथ ही जाएगी कांग्रेस

झारखंड में कांग्रेस पार्टी ने झारखंड मुक्ति मोर्चा, जेएमएम के साथ तालमेल का फैसला कर लिया। भले उसे सीटें कम मिलें पर वह जेएमएम के साथ ही चुनाव लड़ेगी। जेएमएम के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तालमेल के लिए अपनी शर्तें सार्वजनिक कर दी हैं।

बाबूलाल मरांडी बनाएंगे तीसरा मोर्चा

झारखंड में विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले यह साफ होता दिख रहा है कि इस बार एक तीसरा मोर्चा भी मैदान में होगा। कांग्रेस और जेएमएम के तालमेल की खबरों के बीच जेवीएम के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी भी अपनी तैयारी कर रहे हैं।