जिनके स्वंय के महल ध्वस्त हुए, वे अपनों की जमीदारी बचा पाएंगे?

मध्यप्रदेश की सियासी राजनीति इसी सिद्धांतों में चलती आई है। पंरतु जो अपना महल नही बचा पाये वे अपने जमीदारों की जमीदारी कैसे बचा पाएंगे। हम बात कर रहे मध्यप्रदेश की राजनीति में महाराज