kishori-yojna
ड्रोन हमला गंभीर चेतावनी है!

यह साफ दिख रहा है कि कोई ताकत है, जिसको भारत-पाकिस्तान के बीच स्थायी शांति बहाली और जम्मू कश्मीर में राजनीतिक प्रक्रिया शुरू होने से परेशानी है। यह पता लगाना होगा कि इसके पीछे किसका हाथ हो सकता है? कौन शांति बहाली की प्रक्रिया को पटरी से उतारना चाहता है? यह भी पढ़ें: कश्मीर में उम्मीद की खिड़की! Drone Attack India : जम्मू में वायु सेना के ठिकाने पर 26-27 जून की दरम्यानी रात को हुए ड्रोन हमले को इसलिए मामूली नहीं माना जा सकता है कि उसमें किसी की मौत नहीं हुई या कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ। यह भारत के किसी भी रक्षा प्रतिष्ठान पर हुआ पहला ड्रोन हमला था। इसलिए इसकी गंभीरता को समझना होगा और इसे एक गंभीर चेतावनी के तौर पर लेना होगा। पहले हमले के बाद लगातार दो दिन तक भारतीय सेना के ठिकानों के आसपास ड्रोन मंडराने की घटना एक खास पैटर्न की ओर इशारा कर रही है, जिसकी गंभीरता से जांच करने और सेना को इससे निपटने के लिए तैयार करने की जरूरत है। पहले हमले के बाद 27-28 जून की आधी रात के करीब कालूचक सैन्य ठिकाने के पास और फिर 28-29 जून की रात को सुंजवान सैन्य ठिकाने के आसपास… Continue reading ड्रोन हमला गंभीर चेतावनी है!

छोटे हमले, बड़े आयाम

असल बात यह है कि भारत विरोधी किसी ताकत ने ड्रोन से जरिए निशाना साधा और वह अपने निशाने पर बम गिराने में लगभग कामयाब रही। यह भविष्य के लिए बड़े खतरे का संकेत है। इस खतरे के आयाम व्यापक हैं। यह साफ है कि ऐसे हमलों की क्षमता दूसरी तरफ हासिल कर ली गई है। Jammu Airforce Station Attack : जम्मू में वायु सेना संचालित हवाई अड्डे पर हुए दो ड्रोन हमलों ने भारत की सुरक्षा के लिए एक नई चुनौती पैदा कर दी है। इन हमलों से ज्यादा नुकसान नहीं हुआ, यह कोई बड़े संतोष की बात नहीं हो सकती। असल बात यह है कि भारत विरोधी किसी ताकत ने ड्रोन से जरिए निशाना साधा और वह अपने निशाने पर बम गिराने में लगभग कामयाब रही। यह भविष्य के लिए बड़े खतरे का संकेत है। इस खतरे के आयाम व्यापक हैं। हमला सीधे पाकिस्तान की सीमा के अंदर से किया गया या किसी पाकिस्तान समर्थिक गुट ने जम्मू-कश्मीर में किसी स्थान से ऐसा किया, यह अभी जांच का विषय है। लेकिन यह साफ है कि ऐसे हमलों की क्षमता दूसरी तरफ हासिल कर ली गई है। कुछ रक्षा विशेषज्ञ काफी समय से ये चेतावनी दे रहे हैं कि… Continue reading छोटे हमले, बड़े आयाम

जम्मू में ड्रोन-हमला

जम्मू में वायु सेना के अड्डे पर हुए स्वचालित विमानों (ड्रोन) के हमले से बहुत ज्यादा नुकसान तो नहीं हुआ लेकिन इस तरह का हमला पहली बार हुआ है। ऐसे बिना पायलट के विमानों से भारत पर पहले कभी किसी ने हमला नहीं किया था। रात को डेढ़ बजे हुए इस हमले से दो जवान घायल हुए और थोड़ी टूट-फूट भी हुई लेकिन इस तरह के हमले बेहद खरनाक भी हो सकते हैं, क्योंकि इसमें हमलावर तो होता ही नहीं है और यदि कुछ नष्ट होता है तो सिर्फ विमान ही होता है। जम्मू के जिस हवाई अड्डे पर यह विस्फोट हुआ, उसका इस्तेमाल देश के महत्वपूर्ण लोगों के लिए होता है। इसके पहले भी भारत-पाक सीमांत पर कई ड्रोन-हमले हुए हैं लेकिन उनमें होता यही था कि वे विमान कुछ हथियार, कुछ नोटों के थैले और कुछ भारत-विरोधी प्रचार-सामग्री गिरा देते थे। इन पायलटविहीन स्वचालित विमानों का उपयोग तस्करी का सामान पहुंचाने के लिए भी किया जाता है। यह भी पढ़ें: कश्मीर पर सार्थक संवाद इधर 25 फरवरी के बाद से भारत-पाक सीमांत पर युद्ध-विराम समझौते के बाद गोलीबारी की घटनाएं कम हुई हैं लेकिन इस तरह के स्वचालित विमानों के हमले गहरी चिंता का विषय बन गए हैं।… Continue reading जम्मू में ड्रोन-हमला

बिना पाइलेट के नहीं उड़ा सकेंगें ड्रोनः बिना लाइसेंस और योग्यता के 25 हज़ार तक देना होगा जुर्माना

New Delhi: भारत सरकार (Government of India) ने देशभर में एक नया नियम लागू किया है. इसके अनुसार अब 250 ग्राम से ज्यादा वजन के ड्रोन उड़ाने के लिए लाइसेंस और ट्रैनिंग अनिवार्य कर दी गयी है. इसका नाम मानव रहित विमान प्रणाली नियम 2021 नाम दिया है. ये नियम 12 मार्च से लागू हो गए हैं. इस नियम के तहत अब कोई भी बिना पाइलेट लाइसेंस (license) ड्रोन नहीं उड़ा सकेगा. इसका अर्थ हुआ कि अब शादियों के साथ ही अन्य किसी समारोह में ड्रोन उड़वाने के लिए  लाइसेंस वाले पायलट की जरूरत होगी.यदि कोई व्यक्ति लाइसेंस के बिना ड्रोन उड़ाता है तो इसके लिए आपको 25 हजार तक का जुर्माना देना पड़ सकता है. सरकार ने लाइसेंस के लिए योग्यता भी निर्धारित की है.  इसके तहत पाइलेट को लाइसेंस के लिए न्यूनतम 18 वर्ष की उम्र, दसवीं तक की पढ़ाई, मेडिकली फिट होने के साथ साथ सरकारी परीक्षा (government examination) भी पास करनी होगी. केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation)  ने ड्रोन बनाने, बेचेन-खरीदने, ऑपरेशन से जुड़े नियमों की अधिसचूना जारी कर दी है. इन नियमों के तहत अब ड्रोन के निर्माण, ऑपरेशन, आयात, निर्यात, ट्रांसफर और कारोबार के लिए पहले सरकार से मंजूरी लेना अनिवार्य… Continue reading बिना पाइलेट के नहीं उड़ा सकेंगें ड्रोनः बिना लाइसेंस और योग्यता के 25 हज़ार तक देना होगा जुर्माना

लॉकडाउन : फरीदाबाद पुलिस लोगों पर नजर रखने के लिए ले रही ड्रोन की मदद

फरीदाबाद पुलिस लॉकडाउन की अवहेलना करने वालों पर नजर रखने के लिए आधुनिक उपकरणों का सहारा ले रही है और इस क्रम में कुछ क्षेत्रों में ड्रोन की भी मदद ली जा रही है।

यूपी के हॉटस्पॉट इलाकों में ड्रोन से निगरानी शुरू

उत्तर प्रदेश की पुलिस अब हॉटस्पॉट घोषित क्षेत्रों की ड्रोन से भी निगरानी कर रही है। लखनऊ पुलिस ने हॉटस्पॉट इलाकों में ड्रोन से निगरानी शुरू कर दी है।

ड्रोन से की जा रही है कर्फ्यू्ग्रस्त क्षेत्र की निगरानी

राजस्थान में जयपुर के परकोटा क्षेत्र के सातों कर्फ्यूग्रस्त थाना क्षेत्रों में आज 15 ड्रोन के जरिए निगरानी की गयी।

चीन में नागरिकों को मास्क लगाने के लिए कह रहे ड्रोन

नई दिल्ली। कोरोनावायरस से लड़ने के प्रयास के तहत चीनी अधिकारी ड्रोन का रचनात्मक रूप से उपयोग कर रहे हैं। वह इसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में नागरिकों से मास्क लगाने के लिए कह रहे हैं। इससे जुड़ा एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में इनर मंगोलिया के ग्रामीण चौंकते हुए देखे जा सकते हैं, जब एक भारी आवाज वाला ड्रोन उनसे मास्क नहीं पहनने पर बात करता दिखाई देता है। चीन के स्वामितव वाले ग्लोबल टाइम्स ने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें ड्रोन को एक वृद्ध महिला को कहते देखा जा सकता है, हां, आंटी ड्रोन ही आप से बात कर रहा है–आपको बिना मास्क लगाए सड़क पर नहीं चलना चाहिए। वृद्ध महिला ड्रोन से आ रही भारी आवाज को सुनकर हैरान रह जाती है। अन्य क्लिप में ड्रोन महिलाओं के एक समूह को ‘जल्दी से मास्क लगाओ’ कहता देखा जा सकता है। जैसे ही यह वीडियो वायरल हुआ सोशल मीडिया यूजर्स ने इस पर प्रतिक्रियाएं देने शुरू कर दी। एक यूजर ने लिखा, यह डरावना लग सकता है, लेकिन शिकायत करने की कोई बात नहीं यह जीवन की रक्षा करता है। दूसरे ने लिखा, चीन की सरकार कैसे लोगों का ध्यान रख रही… Continue reading चीन में नागरिकों को मास्क लगाने के लिए कह रहे ड्रोन

भूख और कुपोषण का मुकाबला करने के समाधान सुझायें वैज्ञानिक : मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज वैज्ञानिकों से कृषि संबंधी विभिन्न मुद्दों का आधुनिक जैवतकनीक, कृत्रिम बौद्धिकता (एआई), ब्लॉक चेन तकनीक और ड्रोन तकनीक आदि

नक्सली इलाके में ड्रोन देखे जाने पर पुलिस अलर्ट

छत्तीसगढ़ के नक्सली प्रभावित सुकमा जिले के पुसवाड़ा पुलिस शिविर के आसपास ड्रोन देखे जाने के बाद पुलिस महकमा और अधिक सतर्क हो गया है।

और लोड करें