kishori-yojna
तेल, गैस के क्षेत्र में भारत, ब्राजील के बीच सहयोग की मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को भारत और ब्राजील के बीच तेल और प्राकृतिक गैस के क्षेत्र में सहयोग पर एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करने को मंजूरी दी। कैबिनेट के एक बयान में कहा गया है कि एमओयू तेल और प्राकृतिक गैस क्षेत्र में दोनों पक्षों के बीच सहयोग बढ़ाएगा। एमओयू के तहत, दोनों पक्ष ब्राजील और भारत में अन्वेषण और उत्पादन पहल में सहयोग स्थापित करने और क्षेत्र में अनुसंधान एवं विकास पर काम करेंगे। इसके साथ ही ब्राजील, भारत और अन्य देशों में तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) परियोजनाओं में सहयोग का पता लगाने के लिए भी काम किया जाएगा। बयान के अनुसार, दोनों देश तेल ऊर्जा और पर्यावरणीय मुद्दों में भी सहयोग स्थापित करेंगे, जिसमें ऊर्जा से संबंधित नीतियां जैसे ऊर्जा दक्षता, ऊर्जा अनुसंधान विकास और क्षेत्रीय ऊर्जा अवसंरचना नेटवर्क के विस्तार शामिल हैं। इस महीने के अंत में ब्राजील के राष्ट्रपति की भारत यात्रा के दौरान समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है।

आज मजदूर संगठनों का भारत बंद!

नई दिल्ली। देश के दस बड़े मजदूर संगठनों ने बुधवार को हड़ताल और भारत बंद का आह्वान किया है। मजदूर संगठनों का दावा है कि इस हड़ताल में 25 करोड़ लोग शामिल होंगे और भारत बंद पूरी तरह से सफल होगा। दूसरी ओर केंद्र व राज्य सरकारें इससे निपटने के उपाय में लगी है। कई जगह इसे विफल करने के लिए धारा 144 लगा दी गई है। इस बीच केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को धमकाते हुए कहा है कि अगर वे आठ जनवरी की हड़ताल में शामिल होते हैं तो उन पर कार्रवाई हो सकती है। गौरतलब है कि बुधवार को दस केंद्रीय मजदूर संगठनों ने भारत बंद का एलान किया है। इस बंद से आम आदमी के भी कई काम रुक सकते हैं। बैंकों कर्मचारियों के हड़ताल में शामिल होने से बैंकिंग के काम रूकेंगे। इस बीच केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि अगर वे आठ जनवरी को हड़ताल में शामिल होते हैं तो उन्हें इसका नतीजा भुगतना पड़ेगा। केंद्र सरकार की नीतियों जैसे श्रम सुधार, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश और निजीकरण के खिलाफ केंद्रीय मजदूर संगठनों ने बुधवार को देश भर में हड़ताल और भारत बंद का आह्वान किया है। केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय की ओर… Continue reading आज मजदूर संगठनों का भारत बंद!

और लोड करें