अपराधियों की कोई जात नहीं

हमारे देश व समाज की बहुत बड़ी खासियत यह है कि हम लोग हर चीज को जाति व धर्म के आधार पर बांट देते हैं। हमने कपड़े, पहनावे, खाने, फलों से लेकर रीति-रिवाज तक को धर्म के आधार पर बांटा हुआ है।