दिल्ली हिंसा मामला: आप के निलंबित नेता ताहिर हुसैन से पूछताछ

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उत्तरपूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा और तब्लीगी जमात मामले की जांच के सिलसिले में तिहाड़ जेल से पूछताछ के लिए आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को एजेंसी के मुख्यालय लेकर आई।

न्यायालय को भी वही शक

बीते फरवरी में दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाकों में हुए दंगों के दौरान और उसके बाद जांच के क्रम में पुलिस की भूमिका पर कई हलकों से संदेह उठाया गया था।

ताहिर हुसैन को 10 दिनों की न्यायिक हिरासत

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को आम आदमी पाटी(आप) के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा भड़काने के आरोप में 10 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। हुसैन की एक दिन की पुलिस रिमांड पूरी होने के बाद उसे मुख्य महानगर दंडाधिकारी पवन सिंह राजावत के समक्ष पेश किया गया। हुसैन कथित रूप से उस हिंसा में शामिल था, जिसमें खुफिया ब्यूरो (आईबी) के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या कर दी गई थी। अंकित का शव उसके घर के पास एक नाले से बरामद किया गया था। ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम को भी हिंसा के लिए गिरफ्तार किया गया है और फिलहाल वह न्यायिक हिरासत में है। पिछले महीने राष्ट्रीय राजधानी के उत्तर-पूर्व क्षेत्र में हिंसा भड़क उठी थी, जिसमें कम से कम 53 लोग मारे गए थे।

दिल्ली हिंसा : 5 और हिरासत में, एसआईटी पूछताछ में जुटी

उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले में 24-25 फरवरी को हुई हिंसा मामले में संदिग्धों की गिरफ्तारियों और हिरासत का सिलसिला जारी है। गुरुवार को दिल्ली पुलिस ने हिंसा के इन्हीं मामलों में पांच और लोगों को हिरासत में ले लिया।

दिल्ली हिंसा में 6.5 करोड़ रुपए का मुआवजा बांटा

नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के पीड़ितों को दिल्ली सरकार ने अभी तक 6 करोड़ 50 लाख रुपए का मुआवजा दिया है। मुआवजा पाने वालों में हिंसा में मारे गए 36 व्यक्तियों के परिजन भी शामिल हैं। दिल्ली सरकार ने 24 से 26 फरवरी के बीच उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा अभी तक 309 ऐसे दुकानदारों को पूरा मुआवजा दिया जा चुका है, जिनकी दुकानें इस हिंसा में नष्ट कर दी गईं। दुकानों के अलावा 78 मकान मालिकों को व इनमें रहने वाले किराएदारों को भी पूरा मुआवजा दिया जा चुका है। इन 78 घरों को उपद्रवियों ने जला दिया या लूट लिया था। दिल्ली सरकार ने 33 गंभीर रूप से घायल लोगों को भी मुआवजा दिया है। ई-रिक्शा, स्कूटी के लिए भी अभी तक मुआवजा दिया गया है। सरकार का कहना है कि अभी तक अंतरिम और पूर्ण मुआवजा मिलाकर 6 करोड़ 50 लाख रुपए भुगतान किया जा चुका है। दिल्ली सरकार के मुताबिक, जिन स्कूलों में 1000 छात्रों तक नामांकन है, उन्हें 5 लाख रुपए का मुआवजा और 1000 से अधिक छात्रों के नामांकन वाले स्कूलों के लिए 10… Continue reading दिल्ली हिंसा में 6.5 करोड़ रुपए का मुआवजा बांटा

दिल्ली हिंसा: हाईकोर्ट ने सरकार, नेताओं को भेजे नोटिस

दिल्ली हाईकोर्ट ने आज कथित रूप से घृणास्पद भाषण देने और आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त होने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने वाली याचिका पर

पुलिस ने सौंपी दिल्ली हिंसा पर शाह को ताजा रिपोर्ट

केन्द्र सरकार द्वारा दिल्ली हिंसा पर संसद में बहस से पहले दिल्ली पुलिस ने बुधवार को इस विषय पर एक विस्तृत रिपोर्ट गृहमंत्री अमित शाह को सौंपी।

सुनियोजित थी उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा : जीआईए

बुद्धिजीवियों के एक समूह द्वारा दिल्ली हिंसा पर तैयार की गई तथ्यान्वेषी रपट में दावा किया गया है कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा ‘सुनियोजित साजिश’ थी।

सरकार लोकसभा में दिल्ली हिंसा पर चर्चा को तैयार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार संसद में दिल्ली हिंसा पर चर्चा के लिए तैयार है, बशर्ते विपक्ष चर्चा होने दे। एक सूत्र ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी। सदन की मर्यादा भंग करने को लेकर निलंबित सात कांग्रेसी विधायकों के संबंध में भी लोकसभा अध्यक्ष बैठक कर रहे हैं। सूत्र ने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के संसद में पहुंचने के बाद वह सदन में दिल्ली हुई हिंसा के मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार हैं। कांग्रेस के सात सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा को स्थगित कर दिया गया। विपक्ष उनके निलंबन को रद्द करने की मांग कर रहा है। सूत्रों ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला सत्र में भाग ले सकते हैं और सदन की कार्यवाही सुचारु रूप से चल सके, इसके लिए सांसदों के निलंबन को वापस लेने और दिल्ली हिंसा पर बहुप्रतीक्षित बहस पर एक महत्वपूर्ण बयान दे सकते हैं। इसके बाद जल्द ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर सदन में चर्चा शुरू होगी।

राज्यसभा की कार्यवाही अपराह्न् 2 बजे तक स्थगित

नई दिल्ली। राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने बुधवार को फरवरी के अंतिम सप्ताह में दिल्ली हिंसा और केरल के दो टीवी चैनलों पर प्रतिबंध को लेकर हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही अपराह्न् दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के बिनॉय विश्वम और के.के. रागेश ने दो मलयाली समाचार चैनलों पर शुक्रवार को लगाए गए प्रतिबंध का मुद्दा उठाया, जिसका विपक्षी दलों ने भी समर्थन किया और इस मुद्दे पर चर्चा की मांग की। इससे पहले नायडू ने कहा कि दिल्ली में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा पर चर्चा गुरुवार सुबह कराई जाएगी। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने उत्तर पूर्व दिल्ली में हिंसा कवरेज को लेकर शुक्रवार शाम 7.30 बजे से 48 घंटों के लिए दो मलयाली समाचार चैनलों पर प्रतिबंध लगाते हुए उनका प्रसारण निलंबित कर दिया था। मंत्रालय ने कहा था कि स्थिति अत्यधिक अस्थिर है ऐसे में एशियानेट न्यूज और मीडियावन की रिपोर्ट देश में सांप्रदायिक वैमनस्य को बढ़ा सकती हैं। हालांकि, 24 घंटे बाद प्रतिबंध हटा लिया गया था।

दिल्ली हिंसा में आप,कांग्रेस का हाथ: अरुण सिंह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) महासचिव और सांसद अरुण सिह ने संसद में जारी गतिरोध के लिये विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुये आज कहा कि चार पांच दिनों में देश को पता चल जायेगा

अंकित शर्मा के हत्यारों को मौत की सजा हो: विधायक

मुजफ्फरनगर में खतौली से भाजपा विधायक विक्रम सैनी ने पिछले महीने दिल्ली में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के दौरान खुफिया ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की है।

कोर्ट ने शाहरुख की पुलिस हिरासत तीन दिन बढ़ाई

दिल्ली हिंसा के दौरान पुलिस हेड कांस्टेबल के ऊपर पिस्टल तानने वाले शाहरुख को दिल्ली न्यायालय ने आज तीन दिन के लिए पुलिस हिरासत बढ़ाई।

दुनिया कैसे देख रही भारत को?

पहले ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा पर भारत के खिलाफ बोला। कहा कि यह सुनियोजित थी और केंद्र सरकार की ओर से प्रायोजित थी। भारत ने इस पर तीखी टिप्पणी की। साथ ही नई दिल्ली में ईरान के राजदूत अली चेगेनी को बुला कर नाराजगी भी जाहिर की। पर अब ईरान के सर्वोच्च नेता अली खामेनाई ने भी वहीं बात कही। उन्होंने दिल्ली के दंगों को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए दावा किया कि भारत के सामने विश्व बिरादरी में अलग थलग पड़ जाने का खतरा है। जबकि खुद ईरान इस समय विश्व बिरादरी में अलग थलग पड़ा है और जिन चंद देशों से उसको मदद की उम्मीद है उनमें एक भारत भी है। इस हकीकत के बावजूद ईरान ने भारत पर सवाल उठाए हैं। ईरान ऐसा करने वाला अकेला देश नहीं है। तुर्की के राष्ट्रपति रज्जब तैयब एर्दोआन ने भी दिल्ली की हिंसा को सरकार प्रायोजित बताया है। अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी के कई नेताओं ने दंगों के लिए सरकार की आलोचना की है। राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए लड़ रहे बर्नी सैंडर्स ने तो दिल्ली के दंगों पर नहीं बोलने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की… Continue reading दुनिया कैसे देख रही भारत को?

नफरती भाषणों पर 12 मार्च को सुनवाई

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में विधानसभा चुनाव के दौरान और उसके बाद दिए गए नफरत फैलाने वाले भाषणों से जुड़ी याचिकाओं पर दिल्ली हाई कोर्ट में 12 मार्च को सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई हुई। पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने इस पर सुनवाई के लिए 13 अप्रैल की तारीख तय की थी। पर सुप्रीम कोर्ट ने उसे जल्दी सुनवाई के लिए कहा था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शुक्रवार को दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डीएन पटेल और जस्टिस सी हरिशंकर की पीठ ने संशोधित नागरिकता कानून, सीएए को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगे और नेताओं के कथित तौर पर नफरत फैलाने वाले भाषणों पर एफआईआर दर्ज करने और गिरफ्तारी की मांग करने वाली जनहित याचिका को 12 मार्च को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया। याचिका में भाजपा के नेता और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, सांसद प्रवेश वर्मा और विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार रहे पूर्व विधायक कपिल मिश्रा के खिलाफ उनके कथित नफरत फैलाने वाले भाषणों के लिए मामला दर्ज करने की मांग की गई है। याचिका में कांग्रेस नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा सहित दूसरे नेताओं के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने… Continue reading नफरती भाषणों पर 12 मार्च को सुनवाई

और लोड करें