• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

प्रचार

Assam Assembly Election कांग्रेस का सवाल, बीजेपी सभी सीटें जीत रही है तो करोड़ों क्यों फूंक रही

गुवाहाटी । गृहमंत्री अमित शाह की प्रेस वार्ता के अगले ही दिन बीजेपी पर जोरदार हमला बोलते हुए असम कांग्रेस के प्रमुख रिपुन बोरा ने सवाल किया कि अगर भगवा पार्टी ऊपरी असम की 47 सीटों पर जीत हासिल...

राहुल बंगाल क्यों नहीं जा रहे हैं?

अगर राहुल गांधी पश्चिम बंगाल में प्रचार करते हैं, जहां कांग्रेस और लेफ्ट मिल कर लड़ रहे हैं तो उसका निगेटिव असर केरल में होगा। केरल में राहुल और उनकी पार्टी लेफ्ट पर तीखे हमले कर रही है।

संसद में अच्छी स्थिति में बने रहने के लिए कांग्रेस को जीतने होंगे राज्य

असम और केरल में चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस जमकर कोशिश कर रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी भी पश्चिम बंगाल को छोड़कर उन सभी राज्यों में प्रचार कर रहे हैं, जहां चुनाव नजदीक हैं।

मप्र : कांग्रेस ने बाबाओं की टोली और भगवाधारी को प्रचार में उतारा

मध्यप्रदेश में हो रहे विधानसभा उप-चुनाव का नजारा पिछले चुनावों के मुकाबले कुछ जुदा है। इस बार चुनाव में बाबाओं की टोली और भगवाधारी भाजपा नहीं बल्कि कांग्रेस के प्रचार में लगे हैं।

दिग्विजय जितना दौरा करेंगे भाजपा को उतना लाभ : सिंधिया

भारतीय जनता पार्टी के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय िंसंह पर हमला करते हुए कहा कि वो जितना दौरे और प्रचार करेंगे, भाजपा को

बिहार चुनाव के लिए कांग्रेस ने बनाई समितियां

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के प्रचार अभियान के प्रबंधन के लिए विभिन्न समितियों की घोषणा कर दी है।

चीन को लेकर साजिश थ्योरी

जैसे-जैसे दुनिया भर के देशों में कोरोना वायरस का कहर फैल रहा है वैसे वैसे चीन को लेकर साजिश थ्योरी का प्रचार भी तेज हो रहा है। सोशल मीडिया ऐसे पोस्ट से भरे पड़े हैं, जिनमें बताया जा रहा है कि कैसे चीन ने जान बूझकर यह वायरस पैदा किया और उसे पूरी दुनिया में फैला दिया।

कैसे कैसे अंधविश्वासों का प्रचार

राजनीति, खेल और फिल्म जगत के लोग कई किस्म के टोटके मानते हैं। सब सफल होने के लिए तरह तरह के यज्ञ, हवन आदि कराते रहते हैं। इन दिनों इस तरह के टोटकों या अंधविश्वासों की बाढ़ आई हुई है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के एक विधायक ने कमलनाथ की सरकार बचाने के लिए विशेष पूजा कराई है।

नीतीश के प्रचार का फायदा नहीं

भाजपा ने इस बार पूर्वांचल के वोटों के लिए नीतीश कुमार से भी प्रचार कराया। बिहार से सटे झारखंड में तीन महीने पहले ही दोनों पार्टियां अलग अलग लड़ी थीं। सोचें, झारखंड में जहां जनता दल यू का पुराना आधार रहा है और एक समय वहां उसके छह विधाय़क होते थे।

मानो शाहीन बाग पर जनादेश

दिल्ली का चुनाव नतीजा शाहीन बाग पर जनादेश की तरह होगा। कम से कम भाजपा के प्रचार से तो ऐसा ही लग रहा है कि चुनाव का मुख्य और केंद्रीय मुद्दा शाहीन बाग है
- Advertisement -spot_img

Latest News

सत्य बोलो गत है!

‘राम नाम सत्य है’ के बाद वाली लाइन है ‘सत्य बोलो गत है’! भारत में राम से ज्यादा राम...
- Advertisement -spot_img