बच्चों में बढ़ती आंखों की समस्या

कोरोना महामारी के चलते स्कूल वगैरह बंद हैं, ऐसे में पढ़ाई के लिए ऑनलाइन क्लासेज और बाहर ज्यादा न निकलने की अवस्था में गेमिंग में बच्चे अपना अधिक समय बिता रहे हैं

मगर चिंता आखिर किसे है?

संयुक्त राष्ट्र की सूचनाएं आधिकारिक होती हैं। संयुक्त राष्ट्र ये सूचनाएं इसलिए जारी करता है, ताकि दुनिया भर की सरकारें मौजूद चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए कमर कस सकें।

बच्चे, बुजुर्ग, बीमार, ट्रेन से यात्रा न करें!

बेतुकी बातों और बेसिरपैर के निर्देशों की वजह से विवादों में घिरे भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को एक और बेतुका निर्देश जारी किया

महामारी के दौर में अपने प्रसव को लेकर चिंतित थीं अमेरिका फेरेरा

अभिनेत्री अमेरिका फेरेरा ने स्वीकार किया है कि वह कोरोनो वायरस महामारी के दौरान बच्चे को जन्म देने को लेकर बहुत घबराई हुईं और चिंतित थीं।

इस साल हजारों अतिरिक्त बच्चों की मौत हो सकती है: संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि बच्चों पर कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव के आकलन में कहा है कि इस महामारी से उत्पन्न होने वाली वैश्विक मंदी के कारण इस साल हजारों बच्चों की मौत हो सकती हैं।

महिला ने सड़क किनारे दिया बच्चे का जन्म

जिले में लागू लॉकडाउन के चलते अस्पताल पहुंचने के लिए कोई वाहन न मिलने पर प्रसव पीड़ा से तड़पती महिला को सड़क किनारे ही बच्चे को जन्म देना पड़ा।

किम का दावा, नोर्थ को छोड़ उनके सारे बच्चे शाकाहारी

रियलिटी टीवी स्टार किम कार्दशियन और उनके बच्चे -सैंट, शिकागो और साल्म ने मांसाहार को छोड़ते हुए पूरी तरह से शाकाहार अपना लिया है। किम को उनके स्वास्थ्यवर्धक खाद्य चयन को लेकर जाना जाता है,

नन्हे प्रतिभागियों को शो से बाहर करने में शेरिल को लगता है बुरा

‘द ग्रेटेस्ट डांसर’ शो के दूसरे सीजन में बतौर जज वापसी करने को तैयार गायिका शेरिल को तब बहुत बुरा लगता है जब शो से किसी बच्चे को एलिमिनेट (बाहर निकालना) करना पड़ता है। शेरिल ने माना कि दो साल के बच्चे बियर की मां होने के नाते शो से छोटे प्रतिभागियों को निकालने में उन्हें बहुत बुरा महसूस होता है।

खुद के बच्चे को लेकर सुनिश्चित नहीं फोएबे

ब्रिटिश अभिनेत्री फोएबे वालर-ब्रिज का कहना है कि वह खुद के बच्चे होने को लेकर सुनिश्चित नहीं हैं। फोएबे ने कहा कि उन्हें बच्चों के साथ समय बिताना पसंद है, लेकिन फिलहाल वह खुद का परिवार बढ़ाने को लेकर पूरी तरह से तैयार नहीं हैं।

5 साल से कम उम्र के एक-तिहाई बच्चे कुपोषित

संयुक्त राष्ट्र। यूनिसेफ की एक नई रिपोर्ट के अनुसार, पांच साल से कम उम्र के प्रत्येक तीन में से एक बच्चा कुपोषण या ज्यादा वजन का शिकार है। इससे दुनियाभर में कुपोषित आहार के परिणामों के प्रति सतर्क कर दिया है। यूनिसेफ ने सोमवार को प्रकाशित रिपोर्ट में चेतावनी दी कि करोड़ों बच्चे अपनी जरूरत से बहुत कम खाना खाते हैं और जिसकी जरूरत नहीं होती है उसे अत्यधिक मात्रा में खाते हैं। रिपोर्ट में कहा गया, दुनियाभर में बीमारियां फैलने के पीछे अब मुख्य खतरा खराब आहार है। यूनिसेफ के अनुसार, इनमें से कई बच्चों पर दिमाग के अल्प विकास, याद करने में परेशानी, कमजोर प्रतिरोधक क्षमता और संक्रमण तथा बीमारियों का खतरा है। यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर ने कहा, बेहतर विकल्प नहीं होने के कारण करोड़ों बच्चे अस्वास्थ्यकर भोजन से ही गुजारा करते हैं। रिपोर्ट में कुपोषण के तीन बोझ बताए- अल्पपोषण, छिपी हुई भूख और अधिक वजन। यूनिसेफ के आंकड़ों के अनुसार, साल 2018 में दुनियाभर में पांच साल से कम के 14.9 करोड़ बच्चे अविकसित और लगभग पांच करोड़ बच्चे कमजोर थे। आम धारणा के विपरीत, ज्यादातर कमजोर बच्चे आपातकाल का सामना कर रहे देशों की तुलना में एशिया में ज्यादा थे। इसके अलावा,… Continue reading 5 साल से कम उम्र के एक-तिहाई बच्चे कुपोषित

और लोड करें