बूढ़ा पहाड़
दुनिया में 15 हजार मौत

नई दिल्ली। दुनिया के देशों में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले और इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। सोमवार की शाम तक दुनिया के 192 देश इसकी चपेट में आ गए। कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की संख्या बढ़ कर तीन लाख 60 हजार तक पहुंच गई है और मरने वालों का आंकड़ा साढ़े 15 हजार तक पहुंच गया। संक्रमित लोगों में 11 हजार से ज्यादा की हालत गंभीर बताई जा रही है। इटली में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या साढ़े पांच हजार से ज्यादा हो गई है। अच्छी खबर यह है कि इलाज से स्वस्थ होने वालों की संख्या बढ़ कर एक लाख हो गई है। सबसे ज्यादा हैरान करने वाली और चिंताजनक खबर अमेरिका से आ रही है। वहां मरने वालों का आंकड़ा पांच सौ के करीब पहुंच गया है। दुनिया के दूसरे देशों के उलट अमेरिका में युवा व अधेड़ उम्र के लोगों की मौत ज्यादा हो रही है। वहां से मिले आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना वायरस से 53 फीसदी मौतें 18 से 49 साल की उम्र के लोगों की हुई है। इसके उलट दुनिया के दूसरे देशों में ज्यादातर मौतें 60 साल से… Continue reading दुनिया में 15 हजार मौत

सिर्फ प्रतिक्रिया देने की एप्रोच!

कोरोना वायरस यानी कोविड-19 से भारत की लड़ाई कैसी है? भारत की सरकार और आम लोग क्या वैसे ही लड़ रहे हैं, जैसे इससे प्रभावित दूसरे अपेक्षाकृत विकसित और सभ्य देशों में लड़ा जा रहा है या हमारी लड़ाई उनसे अलग है? इसे समझने के लिए कोरोना वायरस से प्रभावित देशों की अलग-अलग श्रेणियां बना कर अपनी श्रेणी के किसी देश के साथ तुलना करने पर वास्तविकता का पता चलता है। पर यह तरीका बहुत विवादित हो जाएगा क्योंकि पहला सवाल इसी पर उठेगा कि हम किस श्रेणी में आते हैं? हम यूरोप की श्रेणी में नहीं हैं और अमेरिका की श्रेणी में भी नहीं हैं। एशियाई देशों में भी हम चीन, दक्षिण कोरिया या जापान की श्रेणी में नहीं हैं। और अगर पाकिस्तान, बांग्लादेश आदि की श्रेणी में भारत को रखें तो बहुत से लोगों की भावनाएं आहत हो सकती हैं। इसलिए भारत की तैयारी और इसकी लड़ाई को अपने ही नजरिए से देखने की जरूरत है। तो सवाल है कि हमारा नजरिया कैसा है? भारत का नजरिया सिर्फ प्रतिक्रिया देने का है। भारत की ओर से आगे बढ़ कर समस्या से मुकाबला करने की एप्रोच नहीं दिखाई गई है। संकट आ जाने पर उससे लड़ने के बंदोबस्त जरूर… Continue reading सिर्फ प्रतिक्रिया देने की एप्रोच!

भारत जीतेगा कोरोना-युद्ध

जनता-कर्फ्यू की सफलता अभूतपूर्व और एतिहासिक रही है। पिछले 60-70 साल में मैंने कई भारत बंद देखे हैं और उनमें भाग भी लिया है लेकिन ऐसा भारतबंद पहले कभी नहीं देखा। इस पहल का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तो है ही, इस जनता-कर्फ्यू ने यह भी सिद्ध कर दिया है कि मोदी से बड़ा प्रचारमंत्री पूरी दुनिया में कोई नहीं है।इटली, चीन, स्पेन और अमेरिका में कोरोना से हजारों लोग हताहत हुए लेकिन इन देशों में भी जनता का ऐसा कर्फ्यू कहीं नहीं हुआ। इसका एक कारण यह भी है कि लोगों के दिल में मौत का डर गहरे में बैठ गया है, वैसा शायद कहीं नहीं फैला है। इसके अलावा भारत की केंद्रीय सरकार और राज्य सरकारें भी जबर्दस्त मुस्तैदी दिखा रही हैं। यदि अगले 15 दिन ठीक-ठाक निकल गए तो भारत की यह मुस्तैदी सारी दुनिया के लिए एक मिसाल बन जाएगी। इस जनता-कर्फ्यू ने यह भी सिद्ध कर दिया है कि भारत की जनता काफी जिम्मेदार और समझदार है। भारत के 60-70 प्रतिशत मतदाताओं ने मोदी के विरुद्ध मतदान किया है लेकिन एकाध अधकचरे नेता के अलावा देश के 100 प्रतिशत लोगों ने मोदी के आह्वान का सम्मान किया है।मुझे आश्चर्य है कि अभी तक मोदी… Continue reading भारत जीतेगा कोरोना-युद्ध

ताली, थाली पीटने के पक्ष में कैसे कैसे तर्क!

ऐसा नहीं है कि जनता कर्फ्यू को मास्टरस्ट्रोक बताने वाले समर्थक सिर्फ इसके ‘वैज्ञानिक’ पक्ष का प्रचार कर रहे है उन्होंने कर्फ्यू के दौरान शाम पांच बजे ताली और थाली बजा कर कोरोना वायरस से लड़ रहे लोगों का आभार जताने के प्रधानमंत्री के सुझाव का धार्मिक, आध्यात्मिक और ज्योतिषीय पक्ष भी खोज निकाला। असल में समाज में और सोशल मीडिया एक बड़ा समूह है, जो प्रायोजित तौर पर या स्वंयस्फूर्त भी हर उस बात के समर्थन का तर्क खोज लेता है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या उनकी सरकार कहती है। हालांकि उसके बरक्स एक ऐसा वर्ग भी है, जो मोदी और उनकी सरकार की हर बात का विरोध करने का तर्क भी खोज लेती है। बहरहाल, समर्थकों के हिसाब से प्रधानमंत्री ने बहुत सोच समझ कर ताली या थाली बजाने को कहा है। किसी एक ने कहा कि इससे जो शोर पैदा होगा, उसे ही भारतीय शास्त्रों में नाद कहा गया है। उनके हिसाब से इस नाद से तमाम बुरी शक्तियों को पराजित करने की मिसालें रही हैं। किसी एक ने कहा कि इस नाद से जो कंपन पैदा होता है उससे वायरस को आसानी से मारा जा सकता है। एक ने 22 मार्च की तारीख का महत्व समझाया।… Continue reading ताली, थाली पीटने के पक्ष में कैसे कैसे तर्क!

कोविड-19 से लड़ाई लंबी है

भारत और दुनिया के 182 देश इस समय कोविड-19 यानी नोवल कोरोना वायरस से लड़ रहे हैं। सबकी लड़ाई अपने अपने तरीके से है और सब अपने तरीके और अपने संसाधनों के हिसाब से लड़ाई लड़ रहे हैं। भारत की लड़ाई इन सबके मुकाबले जटिल है और इसके कई पहलू हैं। इसलिए भारत को यह लड़ाई सिर्फ एक मोर्चे पर नहीं लड़ना पड़ रहा है, बल्कि कई मोर्चों पर एक साथ लड़ना पड़ रहा है। देश के 130 करोड़ लोगों की सेहत और उनके जीवन का एक मोर्चा है तो दूसरा मोर्चा बड़ी आर्थिक लड़ाई का है। इस लड़ाई में भारत के सामने कई बाधाएं हैं। स्पेन, इटली, फ्रांस या ब्रिटेन की तरह भारत कम आबादी वाला और विकसित देश नहीं है, न यह ईरान की तरह का धार्मिक राष्ट्र है और न चीन की तरह एक पार्टी की तानाशाही वाला देश है। इसके पास अमेरिका की तरह विशाल संसाधन भी नहीं हैं और न दक्षिण कोरिया की तरह उन्नत वैज्ञानिक व्यवस्था है। तभी भारत की लड़ाई इस वायरस से सबसे अधिक प्रभावित आठ-नौ देशों के मुकाबले बिल्कुल अलग है। जिस समय देश में आजादी की लड़ाई चल रही थी उस समय महात्मा गांधी ने कम से कम दो स्तर… Continue reading कोविड-19 से लड़ाई लंबी है

कोरोना की चेन तोड़ने का सरलीकरण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक दिन के जनता कर्फ्यू का ऐलान किया तो उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा कि इससे कोरोना वायरस के संक्रमण की शृंखला टूट जाएगी या इससे वायरस की कमर टूट जाएगी और सब कुछ ठीक हो जाएगा। उन्होंने इसके वैज्ञानिक और तकनीकी पक्ष का भी ब्योरा नहीं दिया और न यह बताया कि इतनी देर तक कर्फ्यू लगाने से इस वायरस के मूवमेंट पर कैसा असर होगा। पर जिस समय इसकी घोषणा हुई उसी समय से प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के समर्थकों की एक ब्रिगेड इसके वैज्ञानिक पक्ष की व्याख्या में लग गई है। पर यह इस मामले का अति सरलीकरण करना है, जिससे नुकसान भी हो सकता है। जैसे भाजपा समर्थक समूहों ने सोशल मीडिया पर यह बताना शुरू किया कि यह कैसे मोदी का मास्टरस्ट्रोक है। वैसे यह भी विडंबना है कि अब तक के तमाम मास्टरस्ट्रोक जैसे नोटबंदी, जीएसटी वगैरह नुकसानदायक ही साबित हुए हैं। बहरहाल, इसे मास्टरस्ट्रोक बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि यह सिर्फ 14 घंटे की कर्फ्यू नहीं है, बल्कि 36 घंटे का है। तकनीकी रूप से यह सही भी है। क्योंकि इसकी शुरुआत भले रविवार की सुबह सात बजे से हुई है पर प्रभावी तरीके से… Continue reading कोरोना की चेन तोड़ने का सरलीकरण

तीन मौत, 350 संक्रमित

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से भारत में मरने वालों की संख्या सात पहुंच गई है। शनिवार की रात से लेकर रविवार तक तीन लोगों की कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हुई है। भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण से पहली मौत 10 मार्च को कर्नाटक के कलबुर्गी में हुई थी। अगले  12 दिन में यह आंकड़ा सात पहुंच गया। भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। रविवार तक इसके संक्रमितों की संख्या साढ़े तीन सौ पहुंच गई। बहरहाल, शनिवार-रविवार को पहली बार एक दिन में तीन मौतों का मामला सामने आया है। मुंबई में शनिवार की रात  को 63 साल के एक मरीज की मौत हो गई। शनिवार की रात को ही पटना में 38 साल के सैफ अली की मौत हुई। 60 साल के कम उम्र के व्यक्ति की मौत का यह पहला मामला है। मुंगेर का रहने वाला सैफ हाल ही में कतर से लौट कर आया था। उसे 20 मार्च को एम्स में भर्ती कराया गया था। इन दोनों मरीजों को डायबिटीज थी। सैफ अली की किडनी भी खराब थी। उधर गुजरात के सूरत में रविवार को 67 साल के एक बुजुर्ग की मौत हो गई। वे अस्थमा… Continue reading तीन मौत, 350 संक्रमित

आइसोलेशन पर अब जोर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का पता लगाने के लिए ज्यादा जांच कराने के पक्ष में नहीं है। उसकी बजाय सरकार चाहती है कि लोग आइसोलेशन में रहें। रविवार को हुई प्रेस कांफ्रेंस में सरकार की ओर से साफ किया गया कि उसके पास एक हफ्ते में 60 से 70 हजार लोगों की जांच की सुविधा है पर वह अंधाधुंध जांच के पक्ष में नहीं है। सरकार की ओर से यह भी कहा गया है कि 80 फीसदी मरीज खुद ही ठीक हो रहे हैं और सिर्फ पांच फीसदी मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है। कोराना वायरस के संक्रमण से बचाव और इलाज के बारे में सरकार की तैयारियों की जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, आईसीएमआर के अधिकारियों ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस की। अधिकारियों  ने बताया कि आइसोलेशन और क्वारैंटाइन सबसे कारगर उपाय हैं। उन्होंने कहा कि 14 दिनों के आइसोलेशन से 80 फीसदी मरीज ठीक हो सकते हैं। सिर्फ पांच फीसदी को ही अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत होगी।अधिकारियों ने लोगों से यह भी कहा कि संक्रमण के लक्षण नजर आने पर ही जांच कराएं, ताकि अस्पतालों पर बेवजह बोझ… Continue reading आइसोलेशन पर अब जोर

देश ने बजाई ताली और थाली

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर रविवार को पूरे देश ने ताली और थाली बजाई। शाम पांच बजे पुलिस ने शहरों की गलियों में, सड़कों पर जैसे ही हूटर बजाया लोग अपने घरों से बाहर निकले और ताली, थाली, शंख, घंटा आदि बजा कर प्रधानमंत्री की अपील की पालन किया। प्रधानमंत्री ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में रविवार को जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। लोगों ने दिन भर इसका पालन किया और उनकी अपील के मुताबिक शाम पांच बजे घरों से बाहर निकल कर पांच मिनट तक ताली व थाली बजा कर कोरोना वायरस से लड़ने वाले योद्धाओं के प्रति आभार जताया। बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों का आभार जताया। उन्होंने ट्विट कर कहा- देशवासियों का बहुत-बहुत आभार। यह विजय की शुरुआत का नाद। उन्होंने लोगों से अपील की थी कि वे देश उन डॉक्टरों-नर्सों, पुलिसकर्मियों और आपातकालीन सेवाओं में लगे स्टाफ का आभार जताएं, जो कोरोना खिलाफ लड़ाई में अपनी जान की भी परवाह नहीं कर रहे हैं। देश भर के लोगों ने अपनी तरह से उन सभी लोगों का आभार जताया, जो इस काम में लगे हैं। रविवार को शाम पांच बजे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह,… Continue reading देश ने बजाई ताली और थाली

मौत का वैश्विक आंकड़ा साढ़े 13 हजार पार

नई दिल्ली। दुनिया भर के देशों में कोरोना वायरस का संक्रमण कम नहीं हो रहा है। इससे संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। दुनिया के करीब 190 देशों में रविवार की शाम तक तीन लाख 19 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं और 13,671 लोगों की मौत हो चुकी है। शनिवार की शाम से लेकर रविवार की शाम के बीच 30 हजार नए मरीज दुनिया भर में सामने आए हैं और इन 24 घंटों में डेढ़ हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। इस समय दुनिया भर में दस हजार से ज्यादा मरीजों की हालत गंभीर है। कोरोना वायरस से लड़ाई में राहत की बात यह है कि 96 हजार से ज्यादा मरीज इलाज से स्वस्थ हुए हैं। स्पेन में शनिवार से रविवार तक 24 घंटे में 344 लोगों की मौत हुई। इसी अवधि में ईरान में 129 लोगों की मौत हो गई है। इस बीच ईरान ने अमेरिका से मिलने वाली किसी भी मदद से इनकार किया है। बहरहाल, इटली में शनिवार को सहसे ज्यादा 793 लोगों की मौत हुई थी। इस बीच वाशिंगटन से खबर है कि अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस और उनकी पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव आई। फ्रांस में… Continue reading मौत का वैश्विक आंकड़ा साढ़े 13 हजार पार

डेढ़ अरब से ज्यादा लोग घरों में बंद

नई दिल्ली। भारत में एक दिन के जनता कर्फ्यू के बाद देश के 12 राज्यों के करीब ढाई सौ शहरों में लॉकडाउन हो गया है। भारत की तरह दुनिया के करीब 20 देशों ने अपने यहां पूरी तरह से या आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की है। दुनिया के अलग अलग शहरों से मिल रही खबरों के मुताबिक दुनिया की करीब डेढ़ अरब से ज्यादा आबादी पूरी तरह से घरों में बंद हो गई है। यह भी कहा जा रहा है कि यह संख्या आने वाले दिनों में बढ़ भी सकती है। गौरतलब है कि भारत में राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई सहित अनेक बड़ी आबादी वाले शहरों में लॉकडाउन किया गया है। भारत में ही करीब 50 करोड़ आबादी को घरों में रहने को कहा गया है। भारत से पहले चीन, डेनमार्क, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, जर्मनी, ब्रिटेन, पोलैंड, स्पेन, बेल्जियम, अर्जेंटीना, ईरान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग, इंडोनेशिया सहित करीब 20 देशों ने लॉकडाउन लागू किया हुआ है। बताया जा रहा है कि इन देशों में करीब 120 करोड़ लोगों को घरों में रहने को कहा गया है। इनके अलावा करीब 50 देशों ने किसी शहर या एक सीमित इलाके में लॉकडाउन लागू किया हुआ है। अमेरिका ने शुक्रवार को कैलिफोर्निया… Continue reading डेढ़ अरब से ज्यादा लोग घरों में बंद

मरने वालों का आंकड़ा 12 हजार!

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और इसके साथ ही इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। शुक्रवार की शाम से लेकर शनिवार की शाम तक करीब डेढ़ हजार लोगों की मौत हुई है, जिससे शनिवार की शाम तक मरने वालों का आंकड़ा 12 हजार के करीब पहुंच गया है। अकेले स्पेन में शनिवार को 233 लोगों की मौत हुई है। वहां मरने वालों की संख्या 1378 पहुंच गई है। ईरान में अब तक 1556 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस का संक्रमण शनिवार तक कुल 186 देशों में फैल चुका है। शनिवार शाम तक दो लाख 88 हजार 11 मामले सामने आ चुके हैं और 11, 949 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच खबर है कि राहत की बात यह है कि 93,617 लोग ठीक हुए हैं। स्पेन में शनिवार को 233 लोगों की मौत हो गई। फ्रांस के पूर्वी हिस्से में मरीजों की संख्या इतनी बढ़ गई है कि वहां के अस्पतालों में जगह नहीं बची है। खबर है कि 1,82,445 लोग अस्पतालों में भरती हैं, जिनमें 81 सौ लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। खबर है… Continue reading मरने वालों का आंकड़ा 12 हजार!

दिल्ली के सभी बाजार आज से 3 दिन तक बंद रहेंगे

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए आज दिल्ली के सभी बाजार बंद रहेंगे। ये बाजार तीन दिनों तक बंद रहेंगे। कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल के मुताबिक डेयरी, दवाएं, सब्जी और राशन की दुकानें खुली रहेंगी, ताकि लोगों को दिक्कत न हो और उनकी आम जरूरते पूरी होती रहें।

दिल्ली में तीन दिन बाजार बंद रहेंगे

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले तीन दिन तक सारे बाजार बंद रहेंगे। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स, कैट ने दिल्ली के कारोबारी संगठनों के साथ हुई एक बैठक में फैसला किया है कि शनिवार से तीन दिन तक दिल्ली के सभी बाजार बंद रहेंगे। बैठक में कहा गया कि जिस तरह तेजी से कोरोना वायरस फैल रहा है उससे सामुदायिक संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इसलिए फैसला किया गया कि दिल्ली के सभी बाजार 21, 22 और 23 मार्च को पूरी तरह बंद रहेंगे और कोई कारोबार नहीं होगा। हालांकि इन तीन दिनों के दौरान इमरजेंसी सेवाओं के तहत, दवा की दुकान, दूध की आपूर्ति और सब्जियों की दुकान खुली रहेगी। इन तीनों पर यह नियम लागू नहीं होगा। 23 मार्च को दिल्ली के प्रमुख व्यापारिक संगठनों के नेता सारी स्थिति की समीक्षा करेंगे और आगे का फैसला करेंगे। इससे पहले ऐहतियातन दिल्ली में उन सभी जगहों पर आने जाने की पाबंदी लगा दी गई है, जहां भीड़ एकट्ठा होती है, जिनमें इंडिया गेट और सभी मॉल्स भी शामिल है। रविवार को दिल्ली मेट्रो की सेवाएं भी बंद रहेंगी। उस दिन प्रधानमंत्री ने जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की है।

दुनिया में 10 हजार से ज्यादा मौत

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर चीन में थम गया है पर दुनिया के बाकी हिस्सों में इसका संक्रमण बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार की शाम तक इस वायरस के संक्रमण से 10 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार तक कोरोना का कहर 182 देशों में पहुंच गया और ढाई लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ गए।शुक्रवार शाम तक के आंकड़ों के मुताबिक कुल 182 देशों में दो लाख 55 हजार 294 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। इस वायरस के संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा 10,456 तक पहुंच गया है। शुक्रवार की शाम तक करीब 90 हजार लोगों को इस संक्रमण से ठीक किया जा चुका है। अब भी एक लाख 55 हजार के करीब सक्रिय मामले हैं, जिनमें से साढ़े सात हजार मामले गंभीर बताए जा रहे हैं। अब तक कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा मौत चीन में हुई थी पर अब यह आंकड़ा इटली में ज्यादा हो गया है। चीन में 3246 लोगों की मौत हुई है, जबकि इटली में यह आंकड़ा 3405 पहुंच गया है। ईरान में 1433 और स्पेन में 1002 लोगों की मौत हुई है। अमेरिका में कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या… Continue reading दुनिया में 10 हजार से ज्यादा मौत

और लोड करें