योगी सरकार ने बुंदेलखंड को बनाया किसानों की कब्रगाह: लल्लू

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने आज कहा कि भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीति ने पूरे बुंदेलखंड को किसानों की कब्रगाह में तब्दील कर दिया है।

बुंदेलखंड के प्रसिद्ध लोकगायक देशराज पटेरिया का निधन

बुंदेलखंड अंचल के लोकगीतों के प्रसिद्ध गायक देशराज पटेरिया का आज तड़के यहां निधन हो गया। वे लगभग 65 वर्ष के थे। यहां एक अस्पताल में तड़के हृदय गति रुकने

बुंदेलखंड: गांव और खेत में पानी रोकने की जुगत

देश और दुनिया में बुंदेलखंड की पहचान सूखा, गरीबी, पलायन और बेरोजगारी के कारण है, मगर अब यहां के लोग हालात बदलना चाहते हैं। इसके लिए सबसे

बुंदेलखंड को मिलेगा स्वच्छ जल, अन्ना समस्या हल होगी : योगी

कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ झांसी पहुंचे। यहां उन्होंने जल जीवन मिशन, उत्तर प्रदेश (हर-घर-जल) के अंतर्गत पहले चरण में

झांसी के इतिहास में तीसरी बार बंद किया गया लक्ष्मीगेट

कहर बरपा रहे नोवल कोरोना वायरस के बुंदेलखंड की हृदयस्थली वीरांगना नगरी झांसी में दस्तक देने के साथ ही इस नगर में इतिहास ने एक बार फिर खुद को दोहराया और लक्ष्मीगेट को तीसरी बार बंद किया गया।

झांसी में मिला पहला कोरोना पॉजिटिव

दुनिया और देशभर में फैली कोरोना महामारी ने अब बुंदेलखंड के झांसी में भी दस्तक दे दी है। लॉकडाउन के दूसरे चरण में यहां एक कोरोना मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है।

बुंदेलखंड: लॉकडाउन से घुमंतुओं के सामने ‘रोटी’ का संकट!

देश में लागू लॉकडाउन भले ही कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने का सरल उपाय साबित हो जाए, लेकिन इसने बुंदेलखंड में घुमंतू समुदाय के लोगों के सामने ‘रोटी’ का संकट पैदा कर दिया है।

महुआ के पत्तों से आदिवासियों ने बनाए मास्क

भोपाल। कहा जाता है, आवश्यकता आविष्कार की जननी है। ऐसा ही कुछ कोरोना वायरस महामारी के चलते आदिवासियों के गांव में देखने को मिल रहा है। बुंदेलखंड के कई गांव ऐसे हैं जहां के आदिवासी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं और उनके पास मास्क खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं लिहाजा उन्होंने महुआ के पत्तों से ही मास्क बना लिया है, वे खुद तो इन मास्क का उपयोग कर ही रहे हैं साथ ही गांव के लोगों को बांट भी रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए चिकित्सक सलाह दे रहे हैं कि एक अंतराल के बाद हाथ धोते रहिए, दूसरों के संपर्क में नहीं आइए और मास्क का उपयोग करिए। चिकित्सकों की सलाह पर सक्षम लोग तो मास्क खरीद रहे हैं मगर बुंदेलखंड का बड़ा इलाका ऐसा है जहां लोगों के पास दो वक्त की रोटी तक का संकट है। ऐसे लोगों ने मास्क महुआ के पत्तों से बना डाले हैं और अपने चेहरे पर लगाए हुए हैं। यह चिकित्सकीय तौर पर कितना सही है यह तो नहीं कहा जा सकता मगर आदिवासी इलाकों के लोग अपने बचाव के रास्ते खोज रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन कर रहे हैं। पन्ना जिले के… Continue reading महुआ के पत्तों से आदिवासियों ने बनाए मास्क

कोरोना : ‘जनता कर्फ्यू’ के समर्थन में पहाड़ की चोटी पर अनशन

पृथक बुंदेलखंड राज्य की मांग को लेकर पिछले 634 दिनों से आल्हा चौक में अनशन पर बैठे बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने आज कोरोना वायरस के खिलाफ जारी ‘जनता कर्फ्यू’ के समर्थन में अनशन स्थल बदल कर गोरखगिरि पहाड़ की चोटी में अनशन जारी रखा।

ऐबीएसएस को लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में स्थान

अखिल भारतीय समाज सेवा संस्थान को बुंदेलखंड क्षेत्र में आदिवासियों, दलितों एवं वंचित वर्गों के उत्थान हेतु किए गए श्रेष्ठ कार्यो के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में स्थान मिला है।

बुंदेलखंड: अवैध रेत खनन गरीबों की रोटी का बना जुगाड़!

उत्तर प्रदेश में रेत (बालू) का अवैध खनन भले ही प्रतिबंधित हो, लेकिन इसका दूसरा पहलू यह भी है कि बुंदेलखंड में रोजगार के लिए तरस रहे गरीब-गुरबों के लिए यह दो वक्त की रोटी का ‘जुगाड़’ बन गया है।

बुंदेलखंड में कठपुतलियां बता रहीं ‘पानी की कहानी’

देश में बुंदेलखंड की पहचान समस्याग्रस्त इलाके की बन चुकी है, सारी समस्याओं की जड़ ‘पानी’ है। यही कारण है कि इस इलाके में जलसंकट के निदान के लिए कई अभियान चले, मगर तस्वीर नहीं बदली।

मूंगफली के लिए बने क्रय मूल्य किसानों के साथ मजाक : बिदुआ

उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड के झांसी में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर मूंगफली खरीद कर उन्हें व्यापारियों के चंगुल से बचाकर सीधे लाभ पहुंचाने के लक्ष्य के साथ शुरू किये गये

ठंड से 24 घंटे में 8 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड के चार जिलों बांदा, हमीरपुर, चित्रकूट और महोबा में पिछले 24 घंटों के दौरान कथित रूप से ठंड के कारण आठ लोगों की मौत हो गई है।

उप्र में अवैध रेत खनन के खिलाफ जल्द मुहिम छेड़ेंगे किसान

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की नदियों में हो रहे रेत (बालू) के अवैध खनन के खिलाफ किसान अब जल्द ही सड़कों पर उतरेंगे। बुंदेलखंड किसान यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने रविवार को यह घोषणा की।

और लोड करें