ब्लू स्टार: भिंडरावाले की किंवदंती

राजनीति ने ही भिंडरावाले को कौम की आवाज, हितैषी, लड़ाका और संत बनाया। न ज्ञानी जैल सिंह ने सोचा, न लोंगोवाल ने कि चंडीगढ़ विवाद, यमुना कैनाल, पंजाबी भाषा जैसी छोटी-छोटी बातों को उछाल कर सिखों के आम मानस में अन्याय, भेदभाव, उत्पीड़न और दोयम दर्जे का नागरिक होने का जो जहर घोला जा रहा… Continue reading ब्लू स्टार: भिंडरावाले की किंवदंती