वित्त मंत्री के दावे और हकीकत

दुनिया की सभी सरकारों का अपने कामकाज, पिछली सरकारों के कामकाज और विपक्ष के प्रति व्यवहार लगभग एक जैसा होता है। जैसे दुनिया की सभी सरकारें अपने बुरे कामों और गलत फैसलों को भी अच्छा कहती हैं। इसी तरह दुनिया की सभी सरकारें अपनी तुलना पिछली सरकारों के काम से करती हैं और अपने काम को बेहतर बताती हैं। दुनिया की सभी सरकारें कमियों का ठीकरा पहले की सरकारों पर फोड़ती हैं और उसके अच्छे कामों का श्रेय लेती हैं। दुनिया की सभी सरकारें विपक्ष को गैर जिम्मेदार बताती हैं, चाहे विपक्ष वहीं काम क्यों न कर रहा हो, जो सत्तारूढ़ दल ने विपक्ष में रहते हुए किया हो। ये सब यूनिवर्सल नियम हैं और भारत की मौजूदा सरकार भी अपवाद नहीं है। फर्क सिर्फ डिग्री का है। मौजूदा सरकार ये सारे काम बहुत ज्यादा बड़े पैमाने पर कर रही है या ऐसे भी कह सकते हैं कि सिर्फ ये ही काम कर रही है। प्रधानमंत्री के भाषणों, मंत्रियों की प्रेस कांफ्रेंस और पार्टी प्रवक्ताओं की टेलीविजन बहसों को देख कर इसे समझा जा सकता है। यह भी पढ़ें: अदालते है लोकतंत्र का दीया! यह भी पढ़ें: भारत भी तो कुछ कहे चीन को! वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के एक… Continue reading वित्त मंत्री के दावे और हकीकत

हिसाब बराबर करने की बेचैनी

एक जमाने में भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं को आलोचना के प्रति उदार माना जाता था। संभवतः लंबे समय तक विपक्ष में रहने की वजह से भाजपा में यह खूबी आई थी। लेकिन अब भाजपा के नेताओं को आलोचना कतई बरदाश्त नहीं है। अगर किसी ने सरकार के किसी काम की या पार्टी के किसी काम की आलोचना कर दी तो सारे नेता उस पर टूट पड़ते हैं और जब तक हिसाब बराबर नहीं कर लेते हैं तब तक लगे रहते हैं। इस बात का भी ख्याल नहीं रखते हैं कि अभी कैसा समय है और क्या प्राथमिकता है। जैसे अभी कोरोना वायरस की महामारी से मुकाबले के समय में भी भाजपा के नेता और केंद्रीय मंत्री विपक्षी नेताओं की बातों का जवाब देने का ज्यादा प्राथमिकता का काम मानते हैं। लगभग रोज किसी न किसी मसले पर कोई मंत्री किसी विपक्षी नेता को सोशल मीडिया में जवाब देता मिलता है। ऐसा भी नहीं है कि एक बार जवाब देकर वह चुप हो जाए। वह घंटों तक सोशल मीडिया में लड़ता रह सकता है। पिछले दिनों सारे देश ने देखा कि कैसे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री से वैक्सीन के बारे में पूछ दिया और उसकी… Continue reading हिसाब बराबर करने की बेचैनी

राहुल को कमान संभालनी होगी!

अब राहुल गांधी के पास कोई विकल्प  नहीं है। उन्हे नेतृत्व संभालना होगा और दो टूक, लाउड मैसेज (कड़ा संदेश) देना होगा कि कोई नहीं बख्शा जाएगा! कानून कड़ाई से अपना काम करेगा। देश इस समय भारी अनिर्णय के दौर से गुजर रहा है। उसे नहीं मालूम किधर देखना है, किससे उम्मीद करना है। डरा हुआ समाज अपनी आवाज नहीं उठा सकता। उसे जो कहा जा रहा है कर रहा है। तुम्हारी किस्मत खराब है वह मान जाता है, 70 साल से कांग्रेस दोषी थी, सात साल से सिस्टम, वह मान जाता है। मौतें आक्सीजन की कमी से नहीं हो रहीं, मृत्यु को कौन रोक सकता है, वह मान जाता है। प्रचार तंत्र जो बता रहा है वह सब मान रहा है। उसकी बुद्धि, विवेक सब मीडिया ने हर ली है। मोदी, मोदी के नशे में उसे नहीं मालूम कि आगे कुआ है या खाई। उसके बच्चों का क्या होगा?  नौकरी का क्या होगा? तनखाएं और कितनी कम होंगी? नए कृषि कानूनों के बाद कल जब अनाज भी आक्सीजन की तरह मुनाफाखोरों के पास पहुंच जाएगा तो रोटी का क्या होगा? उसे कुछ नहीं मालूम! न वह मालूम करना चाहता है। उसे उम्मीद है कि हिन्दु, मुसलमान से सब समस्याओं… Continue reading राहुल को कमान संभालनी होगी!

कोरोना अपडेट : Rahul Gandhi आये कोरोना की चपेट में, पीएम Narendra Modi ने ट्वीट करके ये कहा

New Delhi | देश में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। आये दिन किसी ना किसी के संक्रमित होने की खबर मिलती ही रहती है। इसी क्रम में कांग्रेस नेता राहुल गांधी कोरोना पॉजिटिव (Rahul Gandhi Corona Positive) पाए गए हैं। राहुल गांधी ने इस बात की जानकारी ट्वीट कर दी है। उन्होंने कहा है कि Mild Symptoms के बाद टेस्ट कराया और वे पॉजिटिव आए। राहुल ने हाल ही में उनके संपर्क में आने वाले लोगों से जरूरी एहतियात बरतने और सभी कोरोना नियमों का पालन करने की अपील की है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट करके उनसे शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है।  कांग्रेस के युवा नेता सचिन पायलट ने भी ट्वीट किया है और राहुल गांधी के शीघ्र स्वास्थ्यलाभ की कामना की है। इसे भी पढ़ें Corona Update : बाहरी राज्यों से Rajasthan आने वाले लोग सावधान, Web Portal पर सूचनाएं डालनी होंगी अनिवार्य, ये रहा Link ये बड़े नेता भी हैं संक्रमित कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी कोरोना पाॅजिटिव आए हैं। इससे पूर्व भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह भी कोविड संक्रमित आए थे। वहीं राज्यसभा प्रतिपक्ष के उप नेता आनंद शर्मा भी कोविड से संक्रमित हुए हैं। बीजेपी के नेता और पीएमओ में राज्यमंत्री… Continue reading कोरोना अपडेट : Rahul Gandhi आये कोरोना की चपेट में, पीएम Narendra Modi ने ट्वीट करके ये कहा

आखिर कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष?

कांग्रेस के बड़े नेताओं के बीच इन दिनों सबसे ज्यादा चर्चा किस विषय हो रही है? पांच राज्यों के चुनाव नतीजों पर? नहीं! सबसे गर्म मुद्दा है इन चुनावों के बाद होने वाले पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव का।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पत्नी ने एम्स में लगवाया कोविड टीका

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी ने यहां आज एम्स में कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली। सूत्रों ने कहा कि सिंह और उनकी पत्नी ने को-विन पोर्टल के जरिए टीका लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था।

कर्ज संकट पैदा होगा: मनमोहनसिंह

केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों और देश में बढ़ती बेरोजगारी को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया।

विपक्ष न तब था न अब है!

इन दिनों जनता में नंबर एक चर्चा, नंबर एक सवाल है विपक्ष कहां है? पेट्रोल-डीजल के दाम रिकार्ड तोड़ ऊंचाई पर है, महंगाई बढ़ रही है और लोगों का रोना है कि विपक्ष नहीं है।

विपक्ष मजबूत होता तो क्या कर लेता?

विपक्ष के मजबूत होने के क्या-क्या लक्षण होते हैं? किस तरह के विपक्ष को मजबूत विपक्ष माना जाना चाहिए? अगर सदन में विपक्षी पार्टियों के ज्यादा सदस्य होंगे तब विपक्ष मजबूत माना जाएगा

कमजोर विपक्ष की बात में राजनीतिक फायदा

देश में राजनीतिक विकल्प नहीं होने का विमर्श कोई नया नहीं है। देयर इज नो ऑल्टरनेटिव यानी टीना फैक्टर की पहले भी चर्चा होती थी

बिहार चुनाव : सोनिया, राहुल, मनमोहन, प्रियंका करेंगे चुनाव प्रचार

कांग्रेस ने 28 अक्टूबर को होने वाले बिहार चुनाव के पहले चरण के लिए 30 स्टार कैंपेनर की सूची जारी की है। इस सूची में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी

मोदी ने मनमोहन को दी जन्मदिन की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए उनके स्वस्थ और दीर्घायु जीवन की कामना की है।

राहुल कांग्रेस में अंदरूनी कलह से परेशान

कांग्रेस में युवा बनाम वरिष्ठ, बुजुर्ग नेताओं को लेकर मचे घमासान से पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी काफी परेशान हैं। हालांकि, सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह ने इस मामले में

कांग्रेस को अनेक भूल सुधार करने हैं

कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार को ऐतिहासिक भूल सुधार किया। पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बड़ी आत्मीयता और सम्मान के साथ पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत पीवी नरसिंह राव को याद किया।

मनमोहन की बात से नाराजगी क्यों?

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद पर सोमवार को बयान दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री को नसीहत देते हुए कहा कि इस तरह के संवेदनशील मसलों पर उन्हें सोच समझ कर बोलना चाहिए।

और लोड करें