कोश्यारी को स्पीकर नियुक्ति की चिंता!

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ( governor bhagat singh koshyari ) को इस बात की चिंता है कि विधानसभा में अभी तक स्पीकर की नियुक्ति क्यों नहीं हुई। गौरतलब है कि कांग्रेस के नाना पटोले स्पीकर थे, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। उसके बाद से अभी तक कांग्रेस पार्टी स्पीकर का नाम नहीं तय कर पाई है। पर इसके बगैर कोई आफत नहीं आ रही है, जिसकी वजह से राज्यपाल को सवाल पूछना पड़े। लेकिन क्या सचमुच राज्यपाल की चिंता है या भाजपा की चिंता है? पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा विधायक दल के नेता देवेंद्र फड़नवीस एक प्रतिनिधिमंडल लेकर राज्यपाल से मिलने गए थे और उसके अगले ही दिन राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से यह सवाल पूछ दिया कि स्पीकर कब तक नियुक्त होगा। यह राज्यपाल की स्वाभाविक चिंता नहीं है। भाजपा को इस समय कांग्रेस, एनसीपी और शिव सेना के बीच चल रही खींचतान पर राजनीति करनी है इसलिए उसने यह मुद्दा उठाया है। यह भी पढ़ें: यूपी में किसान वोट बांटने का खेल सवाल है कि जिस राज्यपाल को समय पर स्पीकर नियुक्ति की इतनी चिंता है उसने विधान परिषद के 12 सदस्यों का मनोनयन क्यों आठ महीने से लटका रखा है? महाराष्ट्र… Continue reading कोश्यारी को स्पीकर नियुक्ति की चिंता!

मानवता के इंतेहान में कहीं असफल ना हो जाएं..विशेषज्ञों ने जताया मुंबई में तीसरी लहर का अनुमान

कोरोना की पहली लहर ने देश की कमर तोड़ दी थी। और दूसरी लहर ने देश सांसे को लगभग रोक दिया है। ऐसे में तीसरी लहर की कल्पना भी अनुमान से परे है। दूसरी लहर से जूझते देश की हालत पहले ही बहुत खराब है। ऐसे में जरूरत है कि ना सिर्फ दूसरी लहर का प्रभाव कम किया जाए बल्कि तीसरी लहर को भी रोका जाना जरूरी है। लेकिन विशेषज्ञों ने जो अनुमान जताया है कि वह होश उड़ाने के लिए बहुत है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बुधवार को यह चेतावनी ज़ारी करते की है। महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि पर्याप्त संख्या में टीका उपलब्ध नहीं होने के कारण 18 से 44 वर्ष के लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू नहीं होगा। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे महाराष्ट्र के लिए पर्याप्त संख्या में टीके उपलब्ध नहीं होने के कारण पहले ही चिंता जता चुके हैं। महाराष्ट्र महामारी से बुरी तरह प्रभावित राज्य है और वहां वर्तमान लाभार्थियों (45 वर्ष से ऊपर के लोग) के लिए टीके की कमी की खबर है जिससे वहां टीकाकरण की गति धीमी है। इसे भी पढ़ें  Corona Alert: विशेषज्ञ ने बताया कोरोना से बचने के लिए पोषक आहार के साथ ये करना सबसे जरूरी अधिकारी भी… Continue reading मानवता के इंतेहान में कहीं असफल ना हो जाएं..विशेषज्ञों ने जताया मुंबई में तीसरी लहर का अनुमान

Maharashtra : उच्च न्यायालय ने शवों के अंतिम संस्कार पर महाराष्ट्र सरकार, BMC से मांगा जवाब

मुंबई | बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने आज कहा कि कोरोना (Corona) से जान गंवाने वालों के शव घंटों तक नहीं रखे जा सकते और इसके साथ उसने महाराष्ट्र सरकार (Government of Maharashtra) तथा बीएमसी (BMC) से राज्य तथा मुंबई में श्मशानों की स्थिति के बारे में अदात को अवगत कराने का निर्देश दिया। मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति जी एस कुलकर्णी की पीठ ने कहा कि कई श्मशानों में शव के अंतिम संस्कार (Funeral) के लिए काफी इंतजार करना पड़ता है और पीड़ितों के रिश्तेदारों को श्मशान के बाहर कतार में लगे रहना पड़ता है। अदालत ने कहा, महाराष्ट्र सरकार (Government of Maharashtra) और अन्य नगर निकायों को इस मुद्दे के समाधान के लिए कुछ ठोस व्यवस्था तैयार करनी चाहिए। घंटों तक शव नहीं रखे जा सकते। अदालत (Court) ने कहा कि अगर श्मशान में कतार लगी हुई है तो अस्पतालों से शव नहीं छोड़े जाने चाहिए। न्यायमूर्ति कुलकर्णी ने महाराष्ट्र के बीड जिले की एक घटना का हवाला दिया जहां कोरोना (Corona) संक्रमण के शिकार 22 लोगों के शव को एक ही एंबुलेंस से श्मशान में पहुंचाया गया। इसे भी पढ़ें – Uttar Pradesh : Corona situation को प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र,… Continue reading Maharashtra : उच्च न्यायालय ने शवों के अंतिम संस्कार पर महाराष्ट्र सरकार, BMC से मांगा जवाब

Maharashtra Corona Case: महाराष्ट्र सरकार का फैसला, मुंबई में जल्द ही तैयार होंगे 3 बड़े अस्पताल

Corona के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने मुंबई में आगामी पांच से छह सप्ताह में तीन बड़े अस्पताल (Hospital) स्थापित करने का फैसला किया है।

Corruption Case: सुप्रीम कोर्ट ने ख़ारिज की अनिल देशमुख और महाराष्ट्र सरकार की याचिका

सुप्रीम कोर्ट ने Corruption के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) जांच के आदेश के खिलाफ महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और राज्य सरकार की याचिकाएं आज खारिज कर दी।

मुंबई में परमबीर का परमतीर

चार दिन पहले तक मुंबई के जो पुलिस कमिश्नर रहे, ऐसे परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को जो चिट्ठी भेजी है, उसने हिंदुस्तान की राजनीति को नंगा करके रख दिया है।

देशमुख का इस्तीफा नहीं होगा

शरद पवार के आवास पर एनसीपी की हुई बैठक बाद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अनिल देशमुख इस्तीफा नहीं देंगे।

देशमुख को हटाने की चर्चा, पवार से मिले

देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी की सुरक्षा में सेंघ लगाने और उनके घर के पास विस्फोटक से भरी गाड़ी मिलने के मामले में राजनीति तेज हो गई है।

साइबर हमला, चीन का नया हथियार!

चीन भारत के खिलाफ पारंपरिक युद्ध के साथ साथ साइबर वार भी छेड़े हुए है और इससे निपटने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी करनी चाहिए।

पुणे में वनडे सीरीज के दौरान दर्शकों को नहीं मिलेगी एंट्री

भारत और इंग्लैंड के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज पुणे में खेली जाएगी और इस सीरीज के आयोजन के लिए महाराष्ट्र सरकार से हरी झंडी मिल गई है।

‘अवनी’ की मौत के मामले में अवमानना कार्रवाई करने से इनकार

उच्चतम न्यायालय ने महाराष्ट्र के यवतमाल में वर्ष 2018 में ‘आदमखोर’ बाघिन अवनी को मारने के मामले में महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ अदालत की अवमानना की कार्रवाई करने से आज इनकार कर दिया।

जब जवाबदेही हो ही नहीं

ऐसी घटनाएं अब आम होती जा रही हैं। इसका मतलब यह है कि हर पिछली घटना से आगे के लिए कोई सबक नहीं लिया जाता।

महाराष्ट्र में सरकार पर असर नहीं

कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर दबाव तो बना रही है पर वह सरकार को अस्थिर नहीं करेगी। कांग्रेस पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने पार्टी के प्रदेश नेताओं को बता दिया है विवाद के किसी भी मुद्दे को इतना नहीं खींचना है कि सरकार गिरने की नौबत आए

बॉम्बे हाइकोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार के फैसले को किया खारिज

बॉम्बे उच्च न्यायालय ने कल्याण डोम्बिवली नगरपालिक निगम (केडीएमसी) अंतर्गत 18 गांवों को अलग कर पृथक निगम क्षेत्र का गठन किये जाने संबंधी महाराष्ट्र सरकार के निर्णय को रद्द कर दिया है।

महाराष्ट्र में भाजपा का क्या दांव ?

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी क्या ऑपरेशन कमल की तैयारी कर रही है? ठीक एक साल पहले मुंबई में गजब खेल हुआ था।

और लोड करें