एक्सबॉक्स सीरीज गेमिंग कोन्सोल के लिए माइक्रोसॉफ्ट ने एलजी से हाथ मिलाया

माइक्रोसॉफ्ट ने एक्सबॉक्स सीरीज एक्स गेमिंग कोन्सोल को प्रोमोट करने के लिए एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स से हाथ मिलाया है। एक्सबॉक्स सीरीज एक्स और एलजी के सीरीज एक्स टीवी

माइक्रोसॉफ्ट 5 साल में 50 करोड़ से ज्यादा नए ऐप विकसित करेगी

कोविड-19 महामारी के बीच डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में जितनी तेजी देखने को मिली, उसके पहले कभी नहीं देखी गई थी। सॉफ्टवेयर दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट द्वारा

इंटरनेट एक्सप्लोरर बंद करने जा रहा है माइक्रोसॉफ्ट

माइक्रोसॉफ्ट अपने लोकप्रिय इंटरनेट एक्सप्लोरर को बंद करने की तैयारी कर ली है। माइक्रोसॉफ्ट चाहता है कि उसके यूजर्स अब एज ब्राउजर का उपयोग करें, जिसे कम्पनी ने हाल के दिनों में नया रूप दिया है।

माइक्रोसॉफ्ट ने भारत में लॉन्च किया सर्फेस प्रो एक्स

माइक्रोसॉफ्ट ने आज भारत में अपने कॉमर्शियल कस्टमर्स के लिए अपना सबसे पतला और सबसे कनेक्टेड 2-इन-1 डिवाइस-सर्फेस प्रो एक्स लॉन्च किया।

माइक्रोसॉफ्ट के ‘टीम्स’ में शामिल हुआ नया ऐप ‘लिस्ट’

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने वीडियो मीट प्लेटाफॉर्म ऐप ‘टीम्स’ का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं के लिए ‘लिस्ट’ नामक अपना नया ऐप उपलब्ध कराया है।

माइक्रोसॉफ्ट और वॉलमार्ट साथ मिलकर खरीदेंगे टिकटॉक!

टिकटॉक पिछले कुछ दिनों से काफी विवादों में है, जिसके चलते लगातार सूर्खियों में भी बना हुआ है। अब इसमें एक नया मोड़ आया है, जिसके तहत अमेरिका की दिग्गज रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने टिकटॉक के कारोबार को खरीदने के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर एक संयुक्त बोली लगाई है।

माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज 95 ने पूरे किए 25 साल

माइक्रोसॉफ्ट के प्रतिष्ठित सॉफ्टवेयर विंडोज 95 ने अपने 25 साल पूरे कर लिए हैं। विंडोज 95 को 24 अगस्त को कंपनी के सह-संस्थापक बिल गेट्स के द्वारा जारी किया गया था

माइक्रोसॉफ्ट के कार्यालय अगले साल खुलेंगे: रिपोर्ट

माइक्रोसॉफ्ट द्वारा अगले साल 19 जनवरी में अमेरिका में स्थित अपने कार्यालयों को खोलने की बात कही जा रही है। द वर्ज के मुताबिक, कंपनी की योजना अपने कार्यालयों को छह चरणों में खोलने की है।

भारत में डाउन हुआ माइक्रोसॉफ्ट टीम्स

भारत में आज लाखों यूजर्स का माइक्रोसॉफ्ट का कम्यूनिकेशन टूल टीम्स डाउन हो गया, जिस कारण कोविड-19 महामारी के दौरान छात्र ऑनलाइन क्लासेज में शामिल नहीं हो पाए।

कोविड-19 टीका पहले उन्हें मिले जिन्हें जरूरत है : बिल गेट्स

माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक, अरबपति परोपकारी बिल गेट्स ने हाल ही में कोविड-19 दवाओं और बाद में उत्पादित टीके को उन देशों और लोगों को उपलब्ध करवाने का आह्वान किया

माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 10 अपडेट की, खामियां भी उजागर

माइक्रोसॉफ्ट ने डेस्कटॉप, लैपटॉप और टैबलेट यूजर्स के लिए विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम का एक नया वर्जन लॉन्च किया है।

माइक्रोसॉफ्ट ने सरफेस प्रो एक्स, सरफेस प्रो 7, सरफेस लैपटॉप 3 लॉन्च

माइक्रोसॉफ्ट ने आज देश में सरफेस प्रो एक्स, सरफेस प्रो 7 व सरफेस लैपटॉप 3 के लॉन्च की घोषणा की। यह वाणिज्यिक अधिकृत रिसेलर्स

बिल गेट्स भी टीका बनवाने में लगे हैं?

दुनिया भर की दवा कंपनियों को छोड़ दें तो शायद कोई दूसरा उद्योगपति कोविड-19 का टीका बनवाने के लिए उतना बेचैन नहीं है

बिल गेट्स का सबकुछ छोड़ना!

यदि कोरोना के बाद फिलहाल पूरी दुनिया में कोई दूसरा नाम सबसे ज्यादा चर्चित है तो वह माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स का है जहां कोरोना पर चर्चा से भय व आतंक पैदा होता है वहीं बिल गेट्स नाम लेने से दिलो में आशा, विश्वास पैदा होता है। सुखद आश्चर्य होता है कि दुनिया में ऐसे भले, भविष्य के सपने दिखाने वाले अरबपति भी हैं। बिल गेट्स ने हाल ही में माइक्रोसॉफ्ट छोड़कर अपनी पूरी जिदंगी समाज सेवा के लिए लगा देने का ऐलान किया है। मजेदार बात यह है कि यह अरबपति अपने परिवारजनों के लिए कुछ भी छोड़ कर नहीं जाना चाहता हैं। इस 65 वर्षीय धनवान की कहानी बहुत ही रोचक है। अमेरिका के सिएटल में पैदा हुए इस व्यवसायी ने कोई लंबी चौड़ी शिक्षा हासिल नहीं की थी।  उनका पूरा नाम विलियम हेनरी गेट्स था। उनके पिता वकील थे। वे अपने चार भाई बहनों में तीसरे नंबर पर थे। अतः उन्हें ट्रे कहा (थ्री) कहकर भी बुलाया जाता था। उनके मां-बाप उन्हें वकील बनाना चाहते थे। वह देखने में काफी छोटे लगते थे। अतः उन्हें स्कूल में शैतान बच्चे परेशान करते थे। अतः वे खुद को कमरे में बंद करके कुछ सोचते रहते थे। उन्हें बचपन में… Continue reading बिल गेट्स का सबकुछ छोड़ना!

ऐसा होगा भविष्य का इंटरनेट

सैन फ्रांसिस्को। भविष्य में इंटरनेट कैसे होगा यह सवाल सभी लोगों के मन में आता है। अमेरिका की दिग्गज प्रौद्योगिकी कंपनी सिस्को ने एक नया उन्नत चिप और राउटर को पेश किया है, जिसके बारे में कंपनी का कहना है कि यह ‘भविष्य के इंटरनेट’ में क्रांति लाएगा। सिस्को की इस पेशकश को प्रौद्योगिकी क्षेत्र एक उपलब्धि मानी जा सकती है, जो करोड़ों लोगों की जिंदगी पर असर डाल सकती है। भारतीय इंजीनियरों का बड़ा योगदान सिस्को के अनुसार, नए जमाने का इंटरनेट न सिर्फ रफ्तार में तेज होगा, बल्कि सस्ता भी होगा और दुनिया के भविष्य संवारने में सक्षम होगा। इंटरनेट को कम खर्चीला बनाने के सिस्को के सपने को साकार करने में भारत के सैकड़ों सॉफ्टवेयर इंजीनियरों का भी बड़ा योगदान है। सैन फ्रैंसिस्को में यहां लगातार एक के बाद एक अभिनव प्रयोगों और नवाचारों से पर्दा हटाते हुए सिस्को के चेयरमैन व सीईओ चुक रोबिंस ने बुधवार को कहा कि उनकी टीम पांचवीं पीढ़ी यानी 5जी के उन्नत बेतार प्रौद्योगिकी यानी वायरलेस टेक्नोलोजी के लिए नया इंटरनेट बनाने के लिए उद्योग में बदलाव ला रही है। भविष्य में करीब 4.8 अरब इंटरनेट यूजर होंगे उन्होंने कहा, “अगले तीन साल में इंटरनेट यूजर की तादाद के बारे में… Continue reading ऐसा होगा भविष्य का इंटरनेट

और लोड करें