कोरोना से मुक्ति का आशीर्वाद दे लौटे “बप्पा”, Mumbai में 19,779 प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन

गणेश उत्सव के अंतिम दिन मुंबई में रात 9 बजे तक विसर्जन की अनुमति दी गई थी. बताया गया है कि शहर के अलग-अलग हिस्सों में गणपति और माता गौरी की 19,779 प्रतिमाओं का विसर्जन…

Mumbai में सुबह-सुबह बड़ा हादसा, निर्माणाधीन पुल गिरा, कई घायल, बचाव कार्य जारी

फ्लाईओवर गिरने की सूचना मिलते ही पूरा प्रशासनिक अमला घटनास्थल पर पहुंच गया। फायर ब्रिगेड और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव अभियान शुरू कर दिया।

Mumbai : दूसरी निर्भया ने भी तोड़ा दम, अस्पताल में इलाज के दौरान हुई मौत

साकीनाका में बलात्कार का शिकार हुई महिला ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है, उक्त जानकारी पुलिस ने आज सुबह..

Mumbai में युवती के साथ Rape की सारी हदें पार, प्राइवेट पार्ट में लोहे की छड़ से हमला, जिंदगी के लिए लड़ रही जंग

युवती के साथ बलात्कार किया गया है और उसके प्राइवेट पार्ट में लोहे की छड़ से हमला किया गया। डॉक्टरों के मुताबिक युवती के प्राइवेट पार्ट में सरिया डालने के कारण उसकी आंत बाहर आ गई थी।

भारत में बढ़ता जा रहा कोरोना, 24 घंटे में 43 हजार पार पहुंचे नए पॉजिटिव, केरल के बाद महाराष्ट्र में भी बढ़े केस

केरल (Kerala) में तो कोरोना से हालात बेकाबू हैं ही अब महाराष्ट्र (Maharashtra) में भी लगातार कोरोना के केस बढ़ने लगे हैं। मुंबई में 24 घंटे के दौरान 532 नए केस दर्ज किए गए हैं …

मुंबई के लालबागचा राजा के आयोजकों ने भगवान गणेश भक्तों से की विशेष अपील, मूर्ति 15 फीट नहीं 4 फीट ऊंची

लालबागचा राजा के आयोजकों ने अपने ट्रेडमार्क 15 फीट ऊंची मूर्ति के बजाय सरकारी दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए भगवान गणेश की चार फीट ऊंची मूर्ति स्थापित की है।

मुंबई के हीरानंदानी अस्पताल में अक्षय कुमार की मां की हालत नाजुक, यूके में शूट से वापस लौटे अभिनेता: रिपोर्ट

मां अरुणा भाटिया कुछ दिनों से अस्वस्थ हैं और कथित तौर पर मुंबई के हीरानंदानी अस्पताल में आईसीयू में हैं। अभिनेता पिछले कुछ हफ्तों से यूके में अपनी फिल्म सिंड्रेला की शूटिंग कर रहे थे।

Mumbai में कोरोना का कोहराम! स्कूल के 26 बच्चे कोरोना संक्रमित, सभी को किया क्वांरटीन, स्कूल सील

महाराष्ट्र कोरोना की दूसरी लहर में सबसे अधिक प्रभावित राज्य रहा है। यहां अभी भी कोरोना के मामले भले ही कम हुए हो, लेकिन उनमें लगतार उतार-चढ़ाव जारी है…

Maharashtra  में ‘थप्पड़’ पर बवाल : BJP कार्यालय के बाहर पत्थरबाजी, हो सकती है केंद्रीय मंत्री के गिरफ्तारी (Watch Video)

मुख्यमंत्री के लिए विवादित बयान देने पर नासिक पुलिस नारायण राणे की गिरफ्तारी के लिए निकल चुकी है. हालात कुछ ऐसे बन गए हैं कि शिवसेना के कार्यकर्ता मुंबई की सड़कों पर उतर आए हैं और गिरफ्तारी की मांग कर

toofan Boycott : रिलीज होने से पहले ही फरहान अख्तर की ‘तूफान’ बनी बॉयकॉट का कारण, लेकिन क्यों..

आजकल हम देखते है कि हर मूवी को ट्रोलिंग का सामना करना पड़ता है। अगर कोई फिल्म किसी की भावना को आहत करती है तो उसको बॉयकॉट का सामना करना पड़ा है। ( farhaan movie toofan bayycott ) फरहान अख्तर की एक फिल्म आ रही है तूफान जिसको रिलीज होने से पहले ही बॉयकॉट किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर लोग इसे संस्कृति के विरूद्ध बताकर बैन करने की मांग कर रहे है। फिल्म में फरहान के साथ मृणाल ठाकर भी दिखाई देगी। फरहान अख्तर और मृणाल ठाकर अभिनीत यह मूवी 16 सुलाई को ऐमजॉन प्राइम वीडियो पर रिलीज होनी है। इस फिल्म की रिलीज़ डेट पहले अक्टूबर 2020 और फिर मई 2021 की थी। लेकिन किसी कारण से इसे पोस्टपोन कर दिया गया। तूफान के डायरेक्टर राकेश ओमप्रकाश मेहरा हैं। This Anti-CAA Protestor #FarhanAkhtar shall be BOYCOTTED completely and we have to boycott his coming film. Even Trailer seeing is HARAM. 😡😡😡 No ONE, Even Single One shall see film of this JEHADI.#BoycottToofaan #BoycottToofan — HinduSpeaks (@speaks_hindu) July 11, 2021 also read: Bollywood को कई सुपरहिट फिल्में देने वाली ‘Shilpa Shetty’ ने ठुकरा दिया था 10 करोड़ का ऑफर, क्योंकि… ये बॉयकॉट का कारण ( farhaan movie toofan bayycott… Continue reading toofan Boycott : रिलीज होने से पहले ही फरहान अख्तर की ‘तूफान’ बनी बॉयकॉट का कारण, लेकिन क्यों..

क्या होता है लेप्टोस्पायरोसिस..मायानगरी पर क्यो छाया इसका साया, जानें इसके लक्षण और उपचार

मुंबई: महाराष्ट्र के मुंबई में कोरोना ने अपना बेइंतहा कहर बरसाया है। कोरोना के बाद बारिश ने मुंबई को खूब भिगोया है। कई निचले इलाके वाले मकानों में पानी भर जाने से उनको समस्या का सामना करना पड़ा। मानसून के आगमन पर मायानगरी पर खतरा मंडराता हुआ दिखाई दे रहा है। ऐसे में बृह्न्मुंबई म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (BMC) ने गुरुवार को लेप्टोस्पायरोसिस को लेकर परामर्श जारी किया है।मौसम विभाग ने मायानगरी में भयंकर बारिश के आसार बताये है। अनुमान लगाया है कि मुंबई में मूसलाधार बारिश हो सकती है। नगर निगम ने लेप्टोस्पायरोसिस के मामलों के बढ़ने की चेतावनी जारी की है। लोग अगर पानी में उतरते हैं, या सड़कों भरे पानी में बगैर गम बूट पहने चलते हैं तो ऐसे लोगों को संक्रमण का ज्यादा खतरा है। अगर कोई जिसके पैरों में या शरीर के किसी हिस्से में चोट लगी हुई है और वो रुके हुए पानी में चलता है तो उसे लेप्टोस्पायरोसिस का मध्यम खतरा है। यह बारिश के पानी से होने वाला एक प्रकार का संक्रमण होता है। होता क्या है लेप्टोस्पायरोसिस ये एक तरह का दुर्लभ बैक्टीरियल संक्रमण होता है, लेप्टोस्पायरोसिस की बीमारी इंसानों में जानवरों के जरिये फैलता है, ऐसा तब होता है जब शरीर में… Continue reading क्या होता है लेप्टोस्पायरोसिस..मायानगरी पर क्यो छाया इसका साया, जानें इसके लक्षण और उपचार

शिव सेना का बीएमसी चुनाव पर फोकस

अगले साल बृहन्नमुंबई महानगर पालिका यानी बीएमसी के चुनाव होने वाले हैं। महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना के लिए बीएमसी का चुनाव उतना ही अहम है, जितना विधानसभा का चुनाव होता है। ध्यान रहे बीएमसी का बजट कई राज्यों के बजट से ज्यादा है और पिछले करीब ढाई दशक से बीएमसी पर शिवसेना का नियंत्रण है। पिछली बार शिव सेना और भाजपा के बीच सीटों का अंतर बहुत कम का रह गया था। सो, इस बार शिवसेना के लिए वास्तविक चुनौती भाजपा की है। हालांकि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की साझा ताकत कम नहीं है और अगर तीनों पार्टियां मिल कर बीएमसी की चुनाव लड़ती हैं तो उनके लिए लड़ाई बहुत आसान होगी। लेकिन यह फैसला होने से पहले शिवसेना अपनी तैयारी अलग कर रही है। वह कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ लड़ाई इस अंदाज में लड़ रही है जैसे उसे बीएमसी का चुनाव अकेले की लड़ना है। यह भी पढ़ें: आजकल उपाधियां बांट कौन रहा है? इसमें बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कमाल किया है। शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने चहल को पूरी छूट दे रखी है। वे किसी राज्य के मुख्य सचिव की तरह फैसले कर रहे हैं। उन्होंने कोरोना वायरस से लड़ने का जो मॉडल… Continue reading शिव सेना का बीएमसी चुनाव पर फोकस

Cyclone Storm Tauktae ने मुंबई में मचाई तबाही, कई पेड़ धराशाई, कुछ मकान क्षतिग्रस्त

मुंबई | चक्रवाती तूफान तौकते (Cyclone Tauktae) ने आज मुंबई (Mumbai) में जोरदार तबाही मचाई। करीब 60-75 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार के साथ तेज आंधी ने मुंबई (Mumbai) में जोरदार तबाही मचाई जिसमें कई पेड़ टूट गए और कुछ घरों को नुकसान पहुंचा । सड़क पर यातायात बाधित (Traffic interrupted) हो गया लेकिन किसी के हताहत होने की खबर सामने नहीं आई है। इसकी जानकारी अधिकारियों ने दी। ‘बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान’ (Cyclone Storm) के रूप में वर्गीकृत, इसके प्रभाव रविवार-सोमवार की आधी रात के तुरंत बाद महसूस किए गए। कई क्षेत्रों में भारी बारिश हुई, कुछ स्थानों में गरज और बिजली के साथ तेज हवाएं भी चलीं। उसके बाद यह सिंधुदुर्ग से उत्तर की ओर घूम गया था । अब ये रत्नागिरी रायगढ़-मुंबई की ओर से गुजरात तट के पास पहुंचेगा। एक अधिकारी ने कहा कि एक बड़े एहतियाती उपाय के तौर पर राज्य के अधिकारियों ने सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी और ठाणे में लगभग 4,000 के अलावा तट के साथ संवेदनशील स्थानों से 7,866 लोगों को पहले ही स्थानांतरित कर दिया है। इसे भी पढ़ें –  Unique Temple: दुनिया का एक मात्र मंदिर जहां शिवलिंग की नहीं, भोले नाथ के अंगूठे की होती है पूजा आज सुबह तक, शहर में 8.37… Continue reading Cyclone Storm Tauktae ने मुंबई में मचाई तबाही, कई पेड़ धराशाई, कुछ मकान क्षतिग्रस्त

दिल्ली और मुंबई का फर्क

कोरोना वायरस का एपीसेंटर रहे मुंबई में अब रोज ढाई हजार के करीब केसेज आ रहे हैं और टेस्टिंग कम करने के बावजूद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में औसतन 20 हजार केस रोज आ रहे हैं। दिल्ली में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट ने लगातार 10 दिन तक केंद्र सरकार को फटकार लगाई और सुप्रीम कोर्ट ने भी दो टूक निर्देश देते हुए केंद्र से कहा कि वह हर दिन सात सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन दिल्ली को उपलब्ध कराए, वरना अदालत सख्त रुख अख्तियार करेगी। इसके उलट मुंबई या पूरे महाराष्ट्र में कहीं भी ऑक्सीजन की कमी की खबर नहीं आई। तभी हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट दोनों ने मुंबई मॉडल अपनाने की नसीहत दी। दिल्ली में अस्पताल के बेड्स, ऑक्सीजन सिलेंडर, टेस्टिंग और वैक्सीनेशन चारों के लिए हाहाकार है, जबकि मुंबई में एकाध अपवाद को छोड़ दें सब कुछ बिल्कुल सहज अंदाज में चल रहा है। सवाल है कि दिल्ली और मुंबई में ऐसा रात और दिन का फर्क क्यों है? कायदे से तो दिल्ली में स्थिति बेहतर होनी चाहिए थी क्योंकि वह राष्ट्रीय राजधानी है और एक साथ कई सरकारें काम कर रही हैं? इसका एक हिस्सा सीधे देश के प्रधानमंत्री के अधीन आता… Continue reading दिल्ली और मुंबई का फर्क

CORONA VACCINE : कोरोना की जंग में वैक्सीन है हथियार, जानिए युवाओं को क्यों जरूरी है वैक्सीन लगवाना

कोरोना की जंग में वैक्सीन ही ढ़ाल है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है जो आग की तरह फैल रही है। जो युवाओं को बच्चों को अपना शिकार बना रही है। कोरोना वैक्सीन लगवाने का दूसरा चरण चल रहा है। और 1 मई से तीसरा चरण शुरु हो जाएगा। हाल ही में भारत सरकार ने यह घोषणा की है कि 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को 1 मई से कोरोना का टीका लगेगा।अब तक सिर्फ 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग ही वैक्सीन लगवा सकते थे। देश के युवाओं को ज्यादा संख्या में कोरोना की वैक्सीन लगवानी चाहिए। क्योंकि यह वायरस युवाओं को ही अधिक मात्रा में संक्रमित कर रहा है। कई देश कोरोना की वैक्सीन से कोरोना मुक्त हो गये है। लेकिन अब बड़ा सवाल यह है कि क्या हमारे देश के युवा वैक्सीन लगवाना चाहते हैं या नहीं? अगर आपके मन में भी वैक्सीन लगवाने को लेकर कोई सवाल या डर है तो आइए जानते हैं वैक्सीन लगवाना युवाओं के लिए क्यों जरूरी है.. इसे भी पढ़ें Amethi: नाना के लिए ऑक्सीजन मांगने वाला युवक निकला फेक, अफवाह फैलाने का दर्ज हुआ मामला वैक्सीनेशन के बाद सामान्य जीवन जीने लगे लोग तेज़ी से… Continue reading CORONA VACCINE : कोरोना की जंग में वैक्सीन है हथियार, जानिए युवाओं को क्यों जरूरी है वैक्सीन लगवाना

और लोड करें