राज्यपाल कोश्यारी का नया मोर्चा

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी लगातार कुछ न कुछ ऐसा करते रहते हैं, जिसकी वजह से उनके और राज्य सरकार के बीच तनाव बना रहता है। कोश्यारी ने महाराष्ट्र विधान परिषद के लिए भेजे गए 12 नामों की सूची को नौ महीने से लटका रखा है।

योजना में अटका है एमएलसी का मामला!

maharashtra governor bhagat singh koshyari : महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य में विधान परिषद के 12 सदस्यों के मनोनयन की फाइल रोक कर रखे हुए हैं। पिछले साल नवंबर में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में इन नामों को मंजूरी दी गई थी और राज्यपाल के पास भेजा गया था। इसमें शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस तीनों के चार-चार नेताओं के नाम हैं। आठ महीने से ज्यादा समय से राज्यपाल के यहां फाइल अटकी है। इसे मंजूरी देने के लिए दबाव बनाने की बजाय शिव सेना की ओर से बीच-बीच में एकाध बयान दे दिया जाता है, जिसके जवाब में भाजपा नेता कहते हैं कि राज्यपाल की मंजूरी के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की गई है। इसके बाद मामला फिर कुछ दिन के लिए ठंडे बस्ते में चला जाता है। यह भी पढ़ें: कांग्रेस को यूपी में कोई नहीं पूछ रहा तभी सवाल है कि क्या किसी योजना के तहत इस मामले को लटका कर रखा गया है? जानकार सूत्रों का कहना है कि शिव सेना और भाजपा के फिर एक साथ आने के इंतजार में इसे रोक कर रखा गया है। राज्यपाल के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की… Continue reading योजना में अटका है एमएलसी का मामला!

राउत ने भाजपा पर निशाना साधा

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करने के दो दिन बाद शिव सेना के सुर फिर बदल गए हैं। शिव सेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा ने शिव सेना को खत्म करने का प्रयास किया था। उन्होंने यह भी कहा कि पिछली सरकार में शिव सेना के साथ नौकरों जैसा व्यवहार किया जा रहा था। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के एक पुराने सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओमप्रकाश राजभर ने भी भाजपा पर सहयोगियों के साथ नौकरों जैसा बरताव करने का आरोप लगाया है। बहरहाल, पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की डेढ़ घंटे से ज्यादा समय तक मुलाकात हुई थी। इसके बाद संजय राउत ने मोदी को भाजपा का और देश का सर्वोच्च नेता बताया था। लेकिन अब उन्होंने बयान बदल दिया है। राउत ने कहा कि पिछली महाराष्ट्र सरकार में भाजपा का शिव सेना के लिए व्यवहार नौकरों जैसा होता था। राउत का इशारा 2014 से 2019 के बीच के समय की ओर था, जब शिव सेना भाजपा के साथ महाराष्ट्र की सत्ता में थी। जलगांव में शिव सेना कार्यकर्ताओं के बीच राउत ने कहा- राज्य में जो पिछली… Continue reading राउत ने भाजपा पर निशाना साधा

डेढ़ घंटे चली मोदी-उद्धव की मुलाकात

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुख्यमंत्री बनने के बाद दूसरी बार उद्धव की प्रधानमंत्री से यह दूसरी मुलाकात थी। इस बार वे मराठा आरक्षण के मसले पर बात करने आए थे। इसके अलावा उन्होंने चक्रवाती तूफान ताउते से हुई तबाही के लिए मुआवजे के बारे में भी बात की। प्रधानमंत्री के साथ उनकी मुलाकात डेढ़ घंटे से ज्यादा चली। मुलाकात के बाद उद्धव ने कहा कि राजनीतिक रूप से वे भाजपा के साथ नहीं हैं पर मोदी से रिश्ता खत्म नहीं हो गया है। गौरतलब है कि पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण पर रोक लगा दी थी, जिसके बाद प्रदेश में राजनीति तेज हो गई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मराठा आरक्षण लागू करने के लिए प्रधानमंत्री से मदद मांगी। उसके अलावा उन्होंने वैक्सीनेशन और तूफान से हुए नुकसान के मुआवजे के बारे में बात की। एक दिन पहले ही यह मुलाकात तय हुई है और दोनों ने मीटिंग अकेले में की। ये बातचीत करीब एक घंटा चालीस मिनट तक चली मुलाकात के बाद इस बारे में पूछे जाने पर उद्धव ने कहा- भले ही राजनीतिक रूप से साथ नहीं हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है… Continue reading डेढ़ घंटे चली मोदी-उद्धव की मुलाकात

एमएलसी का नामांकन रूकवाने का क्या मकसद?

महाराष्ट्र में विधान परिषद के 12 सदस्यों का मनोनयन भारतीय जनता पार्टी ने रूकवाया हुआ है। राज्य सरकार की ओर से कैबिनेट की बैठक में 12 नाम तय करके राज्यपाल को भेज दिए जाने के छह महीने बाद भी राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी इस बारे में फैसला नहीं कर रहे हैं। राज्य सरकार ने पिछले साल पांच नवंबर को 12 नाम राज्यपाल को भेजे थे, जिसमें राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार में शामिल तीन पार्टियों- शिव सेना, कांग्रेस और एनसीपी की ओर से दिए गए चार-चार लोगों के नाम हैं। इसमें कुछ नेता भी हैं और कुछ सामाजिक कार्यकर्ता, सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े लोग और फिल्म व साहित्य की हस्तियां भी हैं। पहले कहा जा रहा था कि इस आधार पर सूची को चुनौती दी जा सकती है कि इसमें राजनेताओं के नाम हैं, जबकि मनोनीत श्रेणी उनके लिए नहीं है। पर भाजपा इस आधार पर चुनौती नहीं दे सकती है क्योंकि दो महीने पहले ही उसने बिहार में मनोनीत श्रेणी की सभी सीटों पर सिर्फ नेताओं को ही नियुक्त किया है। तभी भाजपा के नेता और पिछली सरकार के मंत्री रहे आशीष सेलार ने कहा है कि राज्यपाल के ऊपर फैसला करने के लिए समय की कोई बाध्यता नहीं… Continue reading एमएलसी का नामांकन रूकवाने का क्या मकसद?

दिल्ली और मुंबई का फर्क

कोरोना वायरस का एपीसेंटर रहे मुंबई में अब रोज ढाई हजार के करीब केसेज आ रहे हैं और टेस्टिंग कम करने के बावजूद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में औसतन 20 हजार केस रोज आ रहे हैं। दिल्ली में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट ने लगातार 10 दिन तक केंद्र सरकार को फटकार लगाई और सुप्रीम कोर्ट ने भी दो टूक निर्देश देते हुए केंद्र से कहा कि वह हर दिन सात सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन दिल्ली को उपलब्ध कराए, वरना अदालत सख्त रुख अख्तियार करेगी। इसके उलट मुंबई या पूरे महाराष्ट्र में कहीं भी ऑक्सीजन की कमी की खबर नहीं आई। तभी हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट दोनों ने मुंबई मॉडल अपनाने की नसीहत दी। दिल्ली में अस्पताल के बेड्स, ऑक्सीजन सिलेंडर, टेस्टिंग और वैक्सीनेशन चारों के लिए हाहाकार है, जबकि मुंबई में एकाध अपवाद को छोड़ दें सब कुछ बिल्कुल सहज अंदाज में चल रहा है। सवाल है कि दिल्ली और मुंबई में ऐसा रात और दिन का फर्क क्यों है? कायदे से तो दिल्ली में स्थिति बेहतर होनी चाहिए थी क्योंकि वह राष्ट्रीय राजधानी है और एक साथ कई सरकारें काम कर रही हैं? इसका एक हिस्सा सीधे देश के प्रधानमंत्री के अधीन आता… Continue reading दिल्ली और मुंबई का फर्क

Corona crisis के बीच गायिका लता मंगेशकर ने महाराष्ट्र सीएम फंड में दिए 7 लाख रुपये

मुंबई | देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बना हुआ है कोरोना मामलों में रोजाना वृद्धि हो रही है प्रसिद्ध गायिका, भारत रत्न लता मंगेशकर (Singer Lata Mangeshkar) ने कोरोना (Corona) से लड़ने के लिए महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री राहत कोष (CM Relief Fund) में 7,00,000 रुपये का योगदान दिया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने कोविड के प्रयासों में मदद करने के लिए सुप्रसिद्ध गायक का आभार व्यक्त किया है। सीएम ने लोगों से अपील की कि वे कोविड युद्ध और 18-44 आयु वर्ग के लिए चल रहे निशुल्क टीकाकरण अभियान के लिए जो कुछ भी कर सकते हैं उसमें योगदान करें। उनका योदगान आज 1 मई से महाराष्ट्र दिवस और अंतर्राष्ट्रीय श्रम राज्य के दिन राज्य में बड़ा योगदान होगा। इसे भी पढ़ें – विमान ईंधन 6.7 फीसदी महंगा, जल्द आ सकती है पेट्रोल-डीजल की भी बारी इससे पहले सप्ताह में, सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी (MVA) सहयोगी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के विधायकों ने सीएमआरएफ में अपना वेतन और अन्य दान सहित लगभग 2 करोड़ रुपये का योगदान दिया है। उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा, वित्तीय संकट का सामना करने के बावजूद एमवीए सरकार ने 18-44 आयु वर्ग में सभी युवाओं को लगभग 5.70 करोड़ लोगों… Continue reading Corona crisis के बीच गायिका लता मंगेशकर ने महाराष्ट्र सीएम फंड में दिए 7 लाख रुपये

एनसीपी से कांग्रेस और शिव सेना दोनों नाराज

महाराष्ट्री की महाविकास अघाड़ी सरकार में खींचतान चलती रहती है। वहां सरकार में तीन पार्टियां शामिल हैं और उनके समीकरण बदलते रहते हैं। कभी लगता है कि एनसीपी और शिव सेना एक साथ हैं, कभी लगता है कि शिव सेना और कांग्रेस एक साथ हैं तो कभी लगता है कि कांग्रेस और एनसीपी एक साथ हैं। जैसे इन दिनों एनसीपी के नेता और राज्य सरकार के मंत्री नवाब मलिक के एक बयान को लेकर कांग्रेस और शिव सेना दोनों के नेता नाराज हो गए हैं। इससे पहले अनिल देशमुख के मामले में कांग्रेस और एनसीपी एक साथ आ गए थे और शिव सेना दोनों से नाराज थी। बहरहाल, पिछले दिनों नवाब मलिक ने बयान दिया कि राज्य सरकार अपने सभी नागरिकों को मुफ्त में वैक्सीन लगवाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस बारे में कैबिनेट में चर्चा हो गई है। नवाब मलिक अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हैं और सरकार के प्रवक्ता नहीं हैं। तभी शिव सेना के नेता इस बात से नाराज हुए कि उन्होंने किस हैसियत से कैबिनेट की बैठक की बात मीडिया को बताई और वैक्सीन मुफ्त में लगाने की बात का खुलासा किया? शिव सेना के नेता चाहते थे कि 18 साल से ऊपर की उम्र के… Continue reading एनसीपी से कांग्रेस और शिव सेना दोनों नाराज

गृहमंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे पर रविशंकर ने कहा- उद्धव ठाकरे ने शासन करने का नैतिक आधार खोया

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के गृहमंत्री Anil Deshmukh के इस्तीफे के बाद, केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री व BJP के वरिष्ठ नेता Ravi Shankar Prasad ने आज कहा कि Chief Minister Uddhav Thackeray ने शासन करने का नैतिक अधिकार खो दिया है। प्रसाद ने यहां भाजपा मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, देशमुख ने नैतिक क्षेत्र का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया। मुख्यमंत्री ठाकरे, आपकी नैतिकता कहां है? क्या हम आपकी नैतिकता पर कुछ सुनेंगे? मुझे लगता है कि Uddhav Thackeray ने Governance चलाने के नैतिक अधिकार को खो दिया है। इसे भी पढ़ें – Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh ने उद्धव ठाकरे को सौंपा इस्तीफा, High Court ने दिए थे CBI जांच के आदेश उन्होंने कहा कि देशमुख ने मुख्यमंत्री ठाकरे से नहीं, एनसीपी प्रमुख sharad Pawar से सलाह लेने के बाद इस्तीफा दिया। उन्होंने पूछा, देशमुख के इस्तीफे पर मुख्यमंत्री चुप क्यों हैं? प्रसाद ने कहा कि BJP ने बार-बार कहा था कि मुंबई पुलिस द्वारा निष्पक्ष जांच संभव नहीं है, जबकि देशमुख अभी भी पद पर हैं। मंत्री ने कहा, अब सीबीआई उचित जांच के बाद मामले की सभी कड़ियों का पता लगाएगी। इसे भी पढ़ें – Bombay High Court ने कहा गृह मंत्री अनिल… Continue reading गृहमंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे पर रविशंकर ने कहा- उद्धव ठाकरे ने शासन करने का नैतिक आधार खोया

शिवसेना से जुड़ेंगी अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर

बॉलीवुड अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर अपनी नई राजनीतिक पारी की शुरुआत करने जा रही है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के वरिष्ठ सहयोगी ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी

उद्धव ठाकरे ने चुप्पी तोड़ी

राजनीतिक और कोरोना वायरस दोनों ही मोर्चे पर विरोधियों की आलोचनाओं का सामना कर रहे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज कहा कि महाराष्ट्र को बदनाम करने का

अस्पतालों को 80 प्रतिशत ऑक्सीजन सिलेंडर दिए जाएंगे : ठाकरे

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि आने वाले दिनों में कोविड-19 के मामले बढ़ने की विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी के मद्देनजर राज्य सरकार ने अस्पतालों को 80 प्रतिशत और

सुशांत मामले में उद्धव ठाकरे ने अपनी चुप्पी तोड़ी

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए पहली बार कहा कि मुंबई पुलिस मामले की जांच करने में पूरी तरह सक्षम है।

ठाकरे ने प्रधानमंत्री से व्यावसायिक परीक्षाएं रद्द करने का आग्रह किया

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोविड-19 महामारी के चलते विभिन्न व्यावसायिक परीक्षाओं को रद्द करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है।

ठाकरे, अन्य ने महाराष्ट्र एमएलसी चुनाव के लिए पर्चा भरा

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज यहां महाराष्ट्र विधान परिषद द्विवार्षिक चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। चुनाव 21 मई को होगा।

और लोड करें