ममता किसको राज्यसभा भेजेंगी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनाव जीत कर राज्य में लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने के साथ ही राज्यसभा की अपनी एक सीट भी वापस मिल गई है। चुनाव से ऐन पहले राज्य में धारणा को प्रभावित करने और हवा बनवाने के लिए भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस के पुराने नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री दिनेश त्रिवेदी का इस्तीफा कराया था। ध्यान रहे ममता बनर्जी ने दिनेश त्रिवेदी के 2019 का चुनाव बैरकपुर सीट पर हार जाने के बाद उनको राज्यसभा में भेजा था। लेकिन वे चुनाव से पहले भाजपा के असर में आ गए और तृणमूल व राज्यसभा दोनों से इस्तीफा दे दिया। उनकी खाली हुई सीट का कार्यकाल चार साल से ज्यादा बचा हुआ है। सो, अब बड़ा सवाल है कि ममता बनर्जी किसको राज्यसभा में भेजेंगी? फिलहाल इस सीट से राज्यसभा के सबसे प्रबल दावेदार पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने चुनाव से ठीक पहले ममता बनर्जी की पार्टी ज्वाइन की और पूरे चुनाव वे लगातार भाजपा पर हमला करते रहे थे। उनको राज्यसभा में भेजने से ममता बनर्जी को कई फायदे हैं। उनका चेहरा अखिल भारतीय है और वे राजनीतिक कद बहुत बड़ा है। वे राज्यसभा में भाजपा के दिग्गजों पर… Continue reading ममता किसको राज्यसभा भेजेंगी

West Bengal : मुख्यमंत्री Mamata Banerjee ने शपथ ग्रहण के बाद ही इन सेवाओं पर लगाई सख्त पाबंदियां

कोलकाता | पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने शपथग्रहण के तुरंत बाद राज्य में कोरोना (Corona) स्थिति की आज समीक्षा की और कोरोना वायरस (Corona virus) के प्रसार को रोकने के लिए नई पाबंदियों की घोषणा की जिनके तहत स्थानीय ट्रेन सेवाओं पर रोक (ban on local train services) लगा दी गई है। शीर्ष अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक के बाद ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने कहा कि नये प्रतिबंधों के तहत मेट्रो रेल और राज्य परिवहन सेवाएं भी बृहस्पतिवार से 50 प्रतिशत तक सीमित कर जाएंगी। संवाददाता सम्मेलन में बनर्जी ने कहा कि बैंक सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक काम करेंगे और सरकारी दफ्तरों को 50 प्रतिशत कार्यबल के साथ काम करने को कहा गया है। इसे भी पढ़ें – Corona Positive news : सोनु सूद ने कोरोना मरीजों को दी जिंदगी की ऑक्सीजन..बचाई 22 जिंदगी स्थानीय ट्रेन सेवाओं पर रोक मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य प्रशासन ने निजी कंपनियों से घर से काम करने को प्राथमिकता देने का भी अनुरोध किया है। बनर्जी ने कहा, ‘स्थानीय ट्रेनों पर कल से रोक रहेगी। राज्य परिवहन एवं मेट्रो सेवाएं भी 50 प्रतिशत तक सीमित होंगी। सात मई से हवाई यात्रियों को बंगाल… Continue reading West Bengal : मुख्यमंत्री Mamata Banerjee ने शपथ ग्रहण के बाद ही इन सेवाओं पर लगाई सख्त पाबंदियां

Congress leader कपिल सिब्बल ने कहा, पश्चिम बंगाल में अहंकार, धन बल और विभाजनकारी एजेंडे की हुई हार

नई दिल्ली | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की प्रचंड जीत की सराहना करते हुए आज को कहा कि अहंकार, धन बल और विभाजनकारी एजेंडे की हार हुई है। सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अहंकार, ताकत, धन बल, राजनीति के लिए जय श्रीराम के इस्तेमाल, विभाजनकारी एजेंडे और निर्वाचन आयोग की हार हुई है। सिब्बल ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) की तारीफ करते हुए कहा कि इनके सामने वह खड़ी हुईं और जीतीं। इसे भी पढ़ें – IPL 2021 में कोरोना की आहट… आज होने वाला KKR और RCB का मैच स्थगित! निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध ताजा आंकड़ों के अनुसार, पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) 210 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है और तीन पर आगे है, जबकि भाजपा ( BJP) ने 77 सीटें जीती हैं। राज्य में 292 सीटों पर चुनाव हुआ था। इसे भी पढ़ें – Whatsapp के ये नए फीचर लोगों को करेंगे रोमांचित, जानें क्या मिलेंगी सुविधाएं

बंगाल की बेटी राज करेगी

कोलकाता। विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस ने अपने नए चुनावी नारे में कहा था- बंगाल को चाहिए अपनी बेटी। तब भाजपा ने कहा था कि बंगाल के लोग बेटी की विदाई कर देंगे। भाजपा का यह दावा उसको बहुत भारी पड़ा है। पश्चिम बंगाल के लोगों ने अपनी बेटी को राज करने के लिए चुना है। लगातार तीसरी बार पश्चिम बंगाल के मतदाताओं ने ममता बनर्जी की पार्टी को प्रचंड बहुमत के साथ राज्य की सत्ता सौंपी है। आठ चरण में हुए विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी 214 सीटों पर जीत के साथ सरकार में लौटी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनको जीत पर बधाई दी है और केंद्र की तरफ से हर संभव मदद का वादा किया है। दो महीने से ज्यादा समय तक चला विधानसभा चुनाव 29 अप्रैल को संपन्न हुआ था। राज्य की 294 विधानसभा सीटों के लिए आठ चरणों में हुए मतदान का आखिरी चरण 29 अप्रैल को पूरा हुआ। रविवार को सुबह आठ बजे से 108 मतदान केंद्रों पर वोटों की गिनती शुरू हुई थी और पहले दो घंटे तक तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच बराबरी का मुकाबला होता दिख रहा था। पर 10 बजे के बाद तस्वीर बदलने लगी और… Continue reading बंगाल की बेटी राज करेगी

लंबे नाटक के बाद नंदीग्राम जीतीं ममता!

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सबसे प्रतिष्ठा वाली नंदीग्राम सीट पर देर रात तक नाटक चलता रहा। हालांकि देर रात तक चुनाव आयोग की नतीजों की वेबसाइट पर बताया गया कि ममता बनर्जी को तीन हजार से ज्यादा वोटों से आगे निकल गई हैं। पहले न्यूज एजेंसी के हवाले से खबर आई कि ममता बनर्जी 12 सौ वोट से जीत गईं। फिर उसके बाद खबर आई कि 19 सौ वोट से भाजपा के शुभेंदु अधिकारी जीत गए। फिर देर रात चुनाव आयोग की वेबसाइट पर दिखाया गया कि ममता बनर्जी तीन हजार से ज्यादा वोट से लीड कर रही हैं। नंदीग्राम सीट पर नाटक का आलम यह रहा कि ममता बनर्जी ने खुद स्वीकार कर लिया कि वे हार गईं। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि नंदीग्राम के लोगों का फैसला मंजूर है, लेकिन हम राज्य जीत गए। इसके बाद उन्हें चुनौती देने वाले शुभेंदु अधिकारी ने प्रेस बयान जारी करके अपनी जीत का ऐलान किया और नंदीग्राम के लोगों का आभार जताया। लेकिन उसके बाद अचानक चुनाव आयोग की वेबसाइट पर आंकड़े बदल गए। शाम सात बजे के बाद तक जहां ममता बनर्जी 10 हजार से पीछे चल रही थीं, वहीं रात 10 बजे वे 3,122 वोटों से आगे निकल… Continue reading लंबे नाटक के बाद नंदीग्राम जीतीं ममता!

बड़ी जीत के बावजूद

पश्चिम बंगाल के चुनाव नतीजे को भारतीय जनता पार्टी के लिए एक झटका समझा जाएगा, तो सिर्फ इसलिए कि पार्टी ने जितनी ताकत झोंकी थी और अपनी प्रतिष्ठा जिस रूप में वहां दांव पर लगा दी थी, नतीजा उसके मुताबिक नहीं रहा। बल्कि उसने जो ध्रुवीकरण किया, उसका लाभ तृणमूल कांग्रेस को मिला। तमाम भाजपा विरोधी वोट उसके खेमे में चले गए और उसने लगातार तीसरी बार बड़ी जीत दर्ज कर ली। इस बार की जीत इसलिए और ज्यादा बड़ी लगती है, क्योंकि मुकाबले का धरातल समान नहीं था। यहां बात सिर्फ निर्वाचन आयोग की भाजपा समर्थक भूमिका की नहीं है। बल्कि पैसा और प्रचार के मामले में भी ममता बनर्जी का नरेंद्र मोदी- अमित शाह की जोड़ी से कोई मुकाबला नहीं है। हार- जीत से अलग होकर देखें तो भाजपा का प्रदर्शन बुरा नहीं है। उसने यहां भी दिखाया कि देश के ज्यादातर हिस्सों की तरह पश्चिम बंगाल में एक तिहाई से ज्यादा मतदाता उसके पक्ष में गोलबंद है। दूसरी बात यह कि पिछले लोक सभा चुनाव की तुलना में महाराष्ट्र, हरियाणा, दिल्ली और बिहार में भाजपा गठबंधन के वोटों में जितनी गिरावट आई थी, उतनी पश्चिम बंगाल में नहीं आई। तो लिहाज से कहा जा सकता है कि… Continue reading बड़ी जीत के बावजूद

एक्जिट पोल में ममता की जीत

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के आठवें और अंतिम चरण का मतदान खत्म होने के साथ ही पांच राज्यों में मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो गई और शाम तक मीडिया समूहों के एक्जिट पोल का नतीजा भी आ गया। ज्यादातर मीडिया समूहों और सर्वेक्षण करने वाली एजेंसियों के एक्जिट पोल में पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के जीतने की संभावना जताई गई है। छह में से चार सर्वेक्षणों में कहा गया है कि ममता बनर्जी की पार्टी चुनाव जीतेगी। दो सर्वेक्षणों में भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी बनने की संभावना जताई गई है। हालांकि उसमें भी पार्टी को बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है। जहां तक बाकी राज्यों का सवाल है कि तमिलनाडु में डीएमके-कांग्रेस गठबंधन को प्रचंड बहुमत मिलने का अनुमाना है। केरल में दशकों बाद पहली बार ऐसा होता दिख रहा है कि लेफ्ट पार्टियां लगातार दूसरी बार सत्ता में आएंगी। सारे एक्जिट पोल नतीजों में सीपीएम के नेतृत्व वाले एलडीएफ की जीत की संभावना जताई गई है। कांग्रेस नेतृत्व वाला यूडीएफ सत्ता से दूर रह जाएगा। असम में भाजपा-अगप गठबंधन के फिर से सत्ता में वापसी की संभावना है। उधर पुड्डुचेरी में रंगास्वामी की पार्टी एनआर कांग्रेस गठबंधन के सत्ता में आने… Continue reading एक्जिट पोल में ममता की जीत

ममता लॉकडाउन का उपाय क्यों नहीं आजमातीं?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अड़ी हैं कि वे लॉकडाउन नहीं लगाएंगी और उनके राज्य में कोरोना वायरस के केसेज तेजी से बढ़ रहे हैं। राज्य में 26 फरवरी को चुनाव की घोषणा के बाद से कोरोना के केसेज में तीन हजार फीसदी तक का इजाफा हो गया है। दूसरे जिन राज्यों में इतनी तेजी से कोरोना के केसेज बढ़े हैं उन राज्यों में सरकारों ने संक्रमण रोकने के लिए कई किस्म की पाबंदियां या लॉकडाउन लागू किया है। पर ऐसा लग रहा है कि ममता बनर्जी चुनावी चिंता में लॉकडाउन नहीं लागू कर रही हैं। इस तरह से वे अपने राज्य के लोगों की जान से खिलवाड़ कर रही हैं। उनको भाजपा शासित उन राज्यों से सीखना चाहिए, जहां एक-एक, दो-दो सीटों के उपचुनाव हुए। जैसे मध्य प्रदेश की दमोह सीट पर उपचुनाव था तो राज्य सरकार ने वहां प्रचार के लिए छूट देकर रखी और बाकी इलाकों में या तो लॉकडाउन लगा या पाबंदियां लगीं। ऐसा ही कुछ कर्नाटक में भी किया गया। सो, ममता बनर्जी भी चाहें तो आखिरी चरण में जिन इलाकों में मतदान होना है वहां छोड़ कर बाकी इलाकों में लॉकडाउन लगा सकती हैं। वैसे भी अब सिर्फ एक चरण का चुनाव होना… Continue reading ममता लॉकडाउन का उपाय क्यों नहीं आजमातीं?

Bengal Election 2021 : कोरोना के कारण मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कम की अपनी रैलियां

कोलकाता| पश्चिम बंगाल में बढ़ते कोरोना (Corona) मामलों को देखते हुए राज्य में चल रहे विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) ने कोलकाता (Kolkata) में सभी बड़ी रैलियों को रद्द कर दिया है कोलकाता (Kolkata) में कोरोना महामारी के तेजी से बढ़ते मामलों ने आम लोगों के साथ नेताओं को भी हिलाकर रख दिया है। महामारी के बढ़ते प्रसार को देखते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) ने कोलकाता (Kolkata) में सभी बड़ी रैलियों (rallies) को रद्द कर दिया है और जिलों में होने वाली रैलियों के समय को कम कर दिया है। उन्होंने कोलकाता के कुछ हिस्सों में अपने पार्टी के सहयोगियों से अपने अभियान को कम करने का भी आग्रह किया है, जहां अगले दो चरणों में 26 और 29 अप्रैल को मतदान होंगे। इसे भी पढ़ें – Delhi Lockdown: सीएम केजरीवाल के एलान के बाद राशन नहीं शराब का स्टॉक रखने की  दिखी होड़  तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) अब कोलकाता में चुनाव प्रचार (Election Campaign) नहीं करेंगी। 26 अप्रैल को शहर में चुनाव प्रचार (Election Campaign) के अंतिम दिन केवल एक प्रतीकात्मक बैठक करेंगी। सभी जिलों में उनकी चुनावी रैलियों… Continue reading Bengal Election 2021 : कोरोना के कारण मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कम की अपनी रैलियां

ममता का पीएम मोदी पर हमला: कहा- BJP चुनाव प्रचार के लिए बाहरी लोगों को ले कर आई जिससे कोरोना मामले बढ़े

जलपाईगुड़ी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने आज आरोप लगाया कि भाजपा (BJP) विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के लिए प्रचार अभियान में “बड़ी संख्या में बाहरी लोगों को” लेकर आई जिससे राज्य में हाल के दिनों में कोरोना (Corona) के मामलों में वृद्धि हुई। ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने यहां एक चुनावी रैली में केंद्र की भाजपा-नीत सरकार पर आरोप लगाया कि वह अधिकतर लोगों के टीकाकरण के लिए राज्य के अनुरोध पर जवाब नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि लोगों को टीका लगाने से बीमारी के प्रसार पर काबू पाने में मदद मिल सकती है। इसे भी पढ़ें – Rajasthan: पूर्व उपमुख्यमंत्री Sachin Pilot ने कहा, उपचुनाव में तीनों सीटों पर जीत दर्ज करेगी कांग्रेस ममता (Mamata Banerjee) ने रैली में कहा कि वे लोग (भाजपा नेता) चुनाव प्रचार के लिए बाहरी लोगों को लेकर आए हैं जिससे कोविड मामलों में वृद्धि हुई। हमने कोविड स्थिति पर काबू पा लिया था लेकिन उन्होंने इसे जटिल बना दिया। निर्वाचन आयोग द्वारा 24 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पर रोक लगाए जाने के फैसले के संबंध में उन्होंने कहा, “क्या हिंदुओं, मुस्लिमों और अन्य लोगों को एक साथ वोट देने के लिए कहना गलती है? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी… Continue reading ममता का पीएम मोदी पर हमला: कहा- BJP चुनाव प्रचार के लिए बाहरी लोगों को ले कर आई जिससे कोरोना मामले बढ़े

बंगाल में 80 फीसदी मतदान

पश्चिम बंगाल और असम में दूसरे चरण के लिए गुरुवार को हुए मतदान में भी लोगों में खासा उत्साह दिखा और लोगों ने जम कर वोटिंग की।

West Bengal Assembly Election: दूसरे चरण का मतदान जारी,सुबह नौ बजे तक 13.14 फीसदी मतदान

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण में आज 30 सीटों पर वोटिंग हो रही है। और सुबह से मतदान शुरू हो गया है और नौ बजे तक 13.14 फीसदी voting हो गया है।

West Bengal Election 2021 : लगातार दो बार CM बनीं ममता बनर्जी के पास कितनी सम्पत्ति है?

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में मतदान का पहला चरण शुरू होने में सप्ताहभर का समय बचा है। बंगाल की 294 सीटों के लिए 27 मार्च से लेकर 29 अप्रेल तक वोट डाले जाएंगे। दो मई को मतों की गणना होगी। West Bengal Assembly Elections 2021 के मैदान में ममता बनर्जी ने तीसरी बार सीएम बनने के लिए ताल ठोक रखी है। ममता बनर्जी ने बंगाल की नंदीग्राम ​सीट से नामांकन पत्र दाखिल किया है। नामांकन पत्र दाखिल करते समय ममता दीदी ने चुनाव आयोग को दिए अपने शपथ पत्र में संपत्ति का भी खुलासा किया है। इसे भी पढ़ें-  BJP सांसद ने फिर दिया विवादित बयान कहा- तीसरे बच्चे को जन्म देने के पहले सरकार से लेना होगा NOC ममता बनर्जी के शपथ पत्र के अनुसार उनके पास 69 हजार 255 रुपए कैश हैं। खुद का कोई मकान, कार व खेती या व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए जमीन नहीं है। करीब 18 लाख 82 हजार की अचल संपत्ति है। इसके अलावा 9 ग्राम 750 मिलीग्राम के आभूषण हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के शपथ पत्र में ममता बनर्जी ने साल 2019 व 2018 की इनकम का भी जिक्र किया है। साल 2019—20 में ममता दीदी की कुल आय दस लाख… Continue reading West Bengal Election 2021 : लगातार दो बार CM बनीं ममता बनर्जी के पास कितनी सम्पत्ति है?

Bengal election 2021 : सड़क के खंभे बताएंगे ‘दीदी’ को कैसे लगी चोट, फोरेंसिक विभाग ने की जांच

kolkata: बंगाल चुनाव (Bengal election) को लेकर देशभर में चर्चाएं हो रही हैं. केंद्र में बैठी BJP सरकार बंगाल में किसी भी तरह से सत्ता हासिल करने को आतुर है. दूसरी तरफ बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (MAMTA BANERJEE) भी BJP के हर दाव का करारा जवाब दे रही है. 10 मार्च को बंगाल के नंदीग्राम (NANDIGRAM) में दीदी के घायल होने के बाद से जैसे बंगाल के चुनाव में एक नया मोड़ आ गया है. अभी भी दीदी की चोट को लेकर TMC ओर BJP के कार्यकर्ताओं के बीच जबानी जंग जारी है. हालांकि चुनाव आयोग ने ममता ‘दीदी’ के चोटिल होने को एक दुर्घटना (ACCIDENT) करार दे दिया था. इसके बाद भी दोनों ही पार्टियां एक दूसरे पर हमलावर है. इसा कड़ी में आज राज्य के फोरेंसिक विभाग (Forensic Department ) ने नंदीग्राम में उन इलाकों के खंभों का निरीक्षण किया है जहां ममता बनर्जी चुनाव प्रचार के दौरान घायल हुई थीं. राज्य सरकार खंभों की जांच कर ये जानने का प्रयास कर रही है कि आखिर ऐसा भी क्या हुआ जिससे ममता बनर्जी घायल हो गयी. इसे भी पढ़ें- Bengal election 2021 : ओवैसी की बारात छोड़कर दुल्हा हुआ फरार ! नंदीग्राम में सड़क किनारे खंभों का किया… Continue reading Bengal election 2021 : सड़क के खंभे बताएंगे ‘दीदी’ को कैसे लगी चोट, फोरेंसिक विभाग ने की जांच

भाजपा विधायक ने कहा, ममता ‘दानव संस्कृति’ से पीड़ित हैं

उत्तर प्रदेश के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा है और कहा है कि वह ‘दानव संस्कृति’ से पीड़ित हैं और उनका डीएनए ‘खराब’ है।

और लोड करें