मोदी सरकार

सरकर समर्थकों की नाराजगी

कोरोना वायरस की महामारी की दूसरी लहर के पीक के समय ‘आएगा तो मोदी ही’ कहने वाले फिल्म अभिनेता अनुपम खेर ने सरकार की जिम्मेदारी तय करने की बात कही है। एक दूसरे फिल्म अभिनेता मुकेश खन्ना, जो सोशल...

सरकार से सवाल पूछने पर 25 को जेल!

क्या किसी लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था में सरकार से सवाल पूछने पर किसी को जेल हो सकती है? सवाल चाहे कितना भी कठिन हो, इसके लिए किसी को सजा नहीं दी जा सकती है। और भारत के प्रधानमंत्री ने तो...

हिसार में लाठीचार्ज से भड़के किसान

नई दिल्ली/हिसार। हरियाणा के हिसार में किसानों के ऊपर लाठी चलाए जाने की घटना से किसान संगठन भड़के हैं और रविवार की शाम को कई जगह प्रदर्शन किया। संयुक्त किसान मोर्चे के नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने किसानों से...

विपक्ष सिर्फ एक बात करे

कोरोना वायरस की महामारी के बीच विपक्षी पार्टियां एक साथ आईं और सरकार को चिट्ठी लिख कर कई सुझाव दिए। विपक्ष का साथ आना और सरकार को सुझाव दोनों अच्छी बातें हैं। पर विपक्ष अपने सुझावों में विवादित राजनीतिक...

संकट के समय पीआर बंद करे सरकार

कोरोना वायरस की महामारी के बीच सरकार संकट प्रबंधन की बजाय जनसंपर्क के प्रबंधन यानी पीआर एक्सरसाइज में जुटी हुई है। सरकार से सारे मंत्री और उनके विभाग इस प्रचार में लगे हैं कि सरकार ने क्या क्या कर...

संघ में भी उठने लगे सवाल

कोरोना वायरस के प्रबंधन को लेकर केंद्र सरकार चौतरफा घिर रही है। विपक्षी पार्टियों के साथ साथ मीडिया का एक बड़ा हिस्सा अब सवाल उठाने लगा है और आम लोग भी सवाल पूछने लगे हैं। लेकिन सरकार के लिए...

सुशील मोदी की मंत्री बनने की बेचैनी

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को जब इस बार राज्य सरकार में जगह नहीं मिली और पार्टी आलाकमान ने उनको राज्यसभा में भेजा तो वे इस तैयारी के साथ दिल्ली आए थे कि आते ही केंद्र में...

ये बादशाहत जरुरी नहीं

कुछ लोगों ने दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका लगाई है कि माहमारी के इस दौर में ‘सेंट्रल विस्टा’ के काम को रोक दिया जाए। क्या है, यह सेंट्रल विस्टा ? इसके नाम से ही आप समझ लीजिए कि इसके...

दुस्साहस भरी दलीलें

केंद्र सुप्रीम कोर्ट में कहा कि उसकी वैक्सीन नीति उपलब्धता और जोखिम के मूल्यांकन पर आधारित है। यह नीति न्यायसंगत, भेदभाव से मुक्त और दो आयु वर्ग समूहों (45 से अधिक और नीचे वाले) के बीच एक समझदारी भरे...

जो कुछ नहीं करते कमाल करते हैं!

भारत सरकार इन दिनों सिर्फ कमाल ही कर रही है। चाहे देश की वैक्सीनेशन नीति बनाने वाले हों या सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार हों, देश की वित्त मंत्री हों या देश के कानूनी अधिकारी हों, सब अपने अपने...
- Advertisement -spot_img

Latest News

आखिरकार हमने समझी पेड़-पौधों की कीमत, शुरुआत हुई बागेश्वर धाम से

बागेश्वर| कोरोना काल हमारे लिए सबसे बुरा दौर रहा है। लेकिन इसने हमें बहुत कुछ सिखा दिया है। कोरोना...
- Advertisement -spot_img