बिहार में कोई खिचड़ी पक रही है क्या?

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के जेल के छूटने के बाद बिहार के राजनीतिक हलके में इस बात की चर्चा है कि अंदरखाने कोई खिचड़ी पक रही है। वैसे भी लालू प्रसाद जेल से रिहा होने के बाद से दिल्ली में ही है लेकिन भाजपा नेताओं की बेचैनी बढ़ी हुई है और दूसरी ओर उसकी सहयोगी जनता दल के नेताओं की तल्खी बढ़ी है। जनता दल के प्रवक्ता ने टेलीविजन की बहसों में परोक्ष रूप से भाजपा पर जिम्मेदारी डालने लगे हैं। उनको अपने मुख्यमंत्री का बचाव करना होता है लेकिन अब वे भाजपा को निशाना बनाने लगे हैं। ध्यान रहे भाजपा ने मंगल पांडेय को ही स्वास्थ्य मंत्री बनाया है, जो कोरोना की पहली लहर में भी आलोचना का शिकार हुए थे और मुख्यमंत्री को तीन बार स्वास्थ्य सचिव बदलना पड़ा था। ये भी पढ़ें: भाजपा में चले गए तो डर काहे का! बहरहाल, बिहार की राजनीति में कुछ बड़ा होने की संभावना जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि हाल ही जनता दल यू में शामिल हुए एक बड़े नेता ने राजद से तार जोड़े हैं। दिल्ली में कुछ मुलाकातें होने की खबर है और जानकार सूत्रों का कहना है कि जल्दी ही मुख्यमंत्री के सबसे भरोसेमंद… Continue reading बिहार में कोई खिचड़ी पक रही है क्या?

लालू ने पार्टी नेताओं को दी नसीहत

पटना। हाल ही में जेल से छूटे लालू प्रसाद अब दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी एम्स से डिस्चार्ज हो गए हैं और रविवार को करीब साढ़े तीन साल के बाद उन्होंने पार्टी नेताओं को संबोधित किया। हालांकि यह संबोधन वर्चुअल था पर इसे लेकर राजद नेताओं में खासा उत्साह था। लालू प्रसाद करीब साढ़े तीन साल बाद अपनी पार्टी के नेताओं से रूबरू हुए। हालांकि वे खराब तबियत की वजह से तीन-चार मिनट से ज्यादा नहीं बोल पाए। उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं को जनता के बीच जाने और उनकी मदद करने को कहा। लालू प्रसाद ने पार्टी के करीब डेढ़ सौ नेताओं के साथ वर्चुअल मीटिंग में कोरोना से परेशान बिहार के लोगों के प्रति चिंता जताई। उन्होंने कहा कि स्वस्थ होते ही वे पार्टी के लोगों के बीच में आएंगे। लालू प्रसाद ने कहा- आप सभी पूरी तरह से अपने गरीब लोगों की सेवा करिए। लाखों लाख लोगों की मौत हुई है। चारों तरफ तबाही है। ऐसे समय में आपका फर्ज होता है कि जितना हो सके, जनता के बीच जाकर उनकी सेवा करिए। हम बीमार हैं, इस स्थिति में कहीं नहीं जा रहे हैं। जैसे ही ठीक होंगे, आप सबके बीच आएंगे। इससे पहले बिहार… Continue reading लालू ने पार्टी नेताओं को दी नसीहत

लालू के पटना में होने से कौन ज्यादा परेशान

लालू प्रसाद को जमानत मिल गई है। वे चारा घोटाले से जुड़े तीन मामलों में सजायाफ्ता हैं और जेल काट रहे थे। उनको इन तीनों मामलों में जमानत मिल गई है। इसलिए वे जेल से रिहा हो गए हैं। हालांकि अभी उनका इलाज चल रहा है इसलिए अस्पताल से छुट्टी नहीं मिली है। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद वे पटना पहुंचेंगे। तभी सवाल है कि उनके पटना में रहने से किसको ज्यादा परेशानी होगी- भाजपा को या जदयू को? इसका पता तब चलेगा, जब वे पटना पहुंचेंगे। लेकिन उससे पहले भाजपा के नेता सुशील कुमार मोदी जिस तरह के ट्विट कर रहे हैं उससे भाजपा की परेशानी जाहिर हो रही है। उन्होंने लालू प्रसाद को जमानत मिलते ही ऐसी भद्दी भाषा में और ऐसे अहंकार से भरे ट्विट किए, जिससे लगा कि वे काफी परेशान हैं। राजद के नेता शिवानंद तिवारी ने उनके ट्विट के लिए उनकी खूब लानत-मलानत भी की। एक तरफ भाजपा परेशान है तो दूसरी ओर नीतीश कुमार चैन में दिख रहे हैं। उनको अपनी अनोखी स्थिति का पता है। उनके पास सिर्फ 44 विधायक हैं पर वे जानते हैं कि उनके बगैर न तो राजद की सरकार बन सकती है और न भाजपा की चल… Continue reading लालू के पटना में होने से कौन ज्यादा परेशान

सहयोगी पार्टियों का सद्भाव राहुल के साथ

राहुल गांधी मई-जून में या उसके एक-दो महीने बाद कांग्रेस अध्यक्ष बनें इसके लिए पार्टी के अंदरूनी समर्थन के साथ साथ यूपीए में शामिल पार्टियों के सद्भाव की भी जरूरत होगी। अगर कांग्रेस के सहयोगी सोनिया-राहुल के नेतृत्व में आस्था जताते हैं तो बागी नेताओं के लिए उनकी अनदेखी मुश्किल होगी। फिर हो सकता है बागी नेता पाल बदलने का प्रयास करें। अलग पार्टी बनाएं, लेकिन पार्टी के अंदर रह कर वे राहुल का ज्यादा विरोध नहीं कर पाएंगे। उनके लिए अच्छी बात यह भी है कि लालू प्रसाद की जेल से रिहाई हो गई है। वे जिन तीन मामलों में सजा काट रहे थे उसमें से आखिरी मामले में भी उनको जमानत मिल गई है। ध्यान रहे सोनिया गांधी परिवार के प्रति उनका हमेशा पूरा समर्थन रहा है। अगर राहुल को अध्यक्ष बनवाने में सहयोगी पार्टियों की कोई भूमिका बनती है तो इस बार भी वे अहम रोल निभा सकते हैं। लालू प्रसाद के अलावा दूसरे नेता, जिनका बिना शर्त समर्थन राहुल को मिलेगा वे एमके स्टालिन हैं। चुनाव से पहले और बाद की खबरों के आधार पर यह पक्का माना जा रहा है कि वे तमिलनाडु के अगले मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान ही कहा था… Continue reading सहयोगी पार्टियों का सद्भाव राहुल के साथ

आलोचना कैसे हो बर्दाश्त!

नीतीश कुमार पिछले चुनाव अभियान के समय से आपा खोते रहे हैं। विधानसभा के पिछले सत्र के दौरान वे विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव से तू तू- मैं मैं पर उतर आए थे।

लालू की रिहाई के लिए तेजप्रताप, रोहिणी ने लिखा ‘आजादी पत्र’

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद की रिहाई के लिए सोशल मीडिया पर राजद के नेता और कार्यकर्ता अब आवाज उठा रहे हैं।

बिहार : राबड़ी के नीतीश पर दिए गए बयान पर भाजपा, जदयू भड़के

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के नीतीश कुमार के फिर से महागठबंधन में आने को लेकर राजद नेताओं द्वारा विचार किए जाने के बयान के बाद भाजपा और जदयू भड़के हुए हैं।

बिहार : राजद का दावा, जदयू के 17 विधायक हैं संपर्क में

बिहार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता दल (युनाइटेड) के नेताओं के बयानबाजी के बीच राष्ट्रीय जनता दल (राजद) का दावा है कि जदयू के 17 विधायक उनके संपर्क में हैं

नीतीश ने क्या दांव चला है?

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने करीबी नेता, राज्यसभा सांसद और पूर्व आईएएस अधिकारी रामचंद्र प्रसाद सिंह यानी आरसीपी सिंह को अपनी पार्टी जनता दल यू का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया है।

नीतीश समय का इंतजार करेंगे

बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा के रवैए से आहत हैं। भाजपा ने बिहार में बहुत गहरा घाव देने के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में नीतीश को बड़ा झटका दिया है।

बिहार की राजनीति से ‘गायब’ हुए तेजस्वी, विरोधियों ने साधा निशाना

बिहार की सियासत से कुछ दिनों से अनुपस्थित रहने के कारण राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव एक बार फिर से विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं।

बिहार के किसानों को धोखा दे रही भाजपा : राजद

किसान आंदोलन के बीच, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने दावा किया है कि भाजपा नेताओं ने किसानों को ‘आतंकवादी’ घोषित किया है और अब वे बिहार में ‘चौपाल’ या किसान सभा आयोजित करके किसानों को धोखा दे रहे हैं।

लालू को जमानत नहीं मिलने से नीतीश को राहत

राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद को जमानत नहीं मिली। पिछले एक महीने से ज्यादा समय से उनकी जमानत का इंतजार हो रहा है। उनकी जमानत पर नौ नवंबर को सुनवाई होनी थी

कृषि कानून किसान विरोधी, राजद गांधी मैदान में देगी धरना : तेजस्वी

बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने नए कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताते हुए बिहार के किसानों को भी आंदोलन में शामिल होने की अपील की है।

भाजपा का नीतिश गुस्सा राजद पर!

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को इन दिनों बहुत गुस्सा आ रहा है। विधानसभा चुनाव प्रचार में जो सिलसिला शुरू हुआ वह विधानसभा के पहले सत्र तक में जारी रहा

और लोड करें