रिलायंस रिटेल में जनरल अटलांटिक करेगा निवेश

वैश्विक निवेश फर्म जनरल अटलांटिक 0.84 फीसदी इक्विटी के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) में 3,675 करोड़ रूपए का निवेश करेगी।

रिलायंस रिटेल में केकेआर करेगा 5,550 करोड़ का निवेश

वैश्विक निवेश फर्म केकेआर 1.28 फीसदी इक्विटी के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) में 5,550 करोड़ रूपय का निवेश करेगी।

जियो का जलवा, 4 साल में जोड़े 40 करोड़ उपभोक्ता

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के 2024 तक के पचास करोड़ उपभोक्ताओं के लक्ष्य की दिशा में एक कदम बढ़ाते हुए 2020-21 की पहली तिमाही में वैश्विक महामारी

रिलायंस इंडस्ट्रीज ऋणमुक्त कम्पनी बनी

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रिकॉर्ड कायम करते हुए मात्र 58 दिनों की छोटी सी अवधी में 1,68,818 करोड़ रुपये जुटा लिए। इस अवधि में रिलायंस की सब्सिडियरी जियो प्लेटफॉर्म्स

रिलायंस के राइट्स इश्यू को 159 प्रतिशत अभिदान

धनकुबेर मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के राइट्स इश्यू को लाकडाउन के कारण तरलता की तंगी और शेयर बाजारों की उठापटक के बावजूद निवेशकों का चौतरफा जोरदार समर्थन मिला

स्टार्टअप की सफलता का उभरता सितारा है रिलायंस जियो

चवालीस महीने पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज ने जब देश के दूरसंचार क्षेत्र में कदम रखा था तो शायद किसी ने यह कल्पना भी नहीं की होगी

सेंसेक्स 59 अंक मजबूत, निफ्टी सपाट

एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, एचडीएफसी और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी दिग्गज कंपनियों में लिवाली के दम पर बीएसई का सेंसेक्स आज 59.20 अंक

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एनसीडी से जुटाये 8,500 करोड़ रुपये

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने गैर-परिवर्तनीय डिबेंचरों (एनसीडी) की बिक्री से 8,500 करोड़ रुपये जुटाये हैं। कंपनी ने इस पर 7.20 प्रतिशत का ब्याज देने की पेशकश की है।

शिखर से फिसला शेयर बाजार

ऊर्जा क्षेत्र के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज तथा आईसीआईसीआई बैंक जैसी दिग्गज कंपनियों में बिकवाली के दबाव में घरेलू शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला थम गया

इंडियन ऑयल से ऊपर रिलायंस!

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। उसने भारत सरकार की कंपनी इंडियन ऑयल को पीछे छोड़ कर यह मुकाम हासिल किया है। पिछले दस साल में ऐसा पहली बार हुआ है, जब इंडियन ऑयल नंबर एक की पोजिशन से नीचे गिरी है। दस साल से वह टॉप पोजिशन पर थी। फॉर्च्यून इंडिया-500 कंपनियों की सूची सोमवार को जारी की गई, जिसमें पहले स्थान पर रिलायंस इंडस्ट्रीज, आरआईएल है। पिछले दस साल से शीर्ष पर रही इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, आईओसी दूसरे स्थान पर है। तीसरे स्थान पर ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन, ओएनजीसी और चौथे स्थान पर भारतीय स्टेट बैंक है। यानी पहले चार में तीन स्थान सरकारी कंपनियों के हैं। इनके बाद टाटा और दूसरी कंपनियां। शीर्ष दस में सरकार की एक और कंपनी कोल इंडिया भी शामिल है। बताया गया है कि राजस्व, मुनाफे और एसेट्स जैसे सात पैमानों के आधार पर फॉर्च्यून ने 2010 से 500 भारतीय कंपनियों की रैकिंग शुरू की थी। 2018-19 में रिलायंस का राजस्व 41.50 फीसदी और मुनाफा 9.74 फीसदी बढ़ा। इस दौरान आईओसी का रेवेन्यू 26.26 फीसदी बढ़ा, लेकिन मुनाफा 21.69 फीसदी घट गया। फॉर्च्यून इंडिया लिस्ट में शामिल सभी 500 कंपनियों के कुल रेवेन्यू में 9.53 फीसदी… Continue reading इंडियन ऑयल से ऊपर रिलायंस!

केजी-डी6 के नये फील्ड से उत्पादित गैस के लिये न्यूनतम कीमत घटायी

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने प्राकृतिक गैस के दाम में करीब सात प्रतिशत की कटौती की है। कीमतों में यह कटौती बंगाल की खाड़ी स्थित केजी-डी6 ब्लाक में नये फील्डों से उत्पादित गैस के लिये है।

जियो की सभी सेवाएं हिंदी में भी उपलब्ध

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि जियो की सभी सेवाएं हिंदी में भी उपलब्ध होंगी। इंदौर में शुक्रवार को आयोजित मैग्नीफिसेंट एमपी में मुकेश अंबानी आज अपनी कंपनी के बोर्ड की बैठक होने के कारण नहीं पहुंच सके।

सेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों में से आठ का बाजार पूंजीकरण 80,943 करोड़ रुपये बढ़ा

सेंसेक्स की शीर्ष दस कंपनियों में से आठ का बाजार पूंजीकरण (एम-कैप) शुक्रवार को सामप्त बीते सप्ताह में 80,943.32 करोड़ रुपये बढ़ गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज के एमकैप में सर्वाधिक वृद्धि दर्ज की गई। वहीं दूसरी ओर, शीर्ष दस कंपनियों में सिर्फ टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) और आईटीसी के बाजार पूंजीकरण में गिरावट दर्ज की गई।

और लोड करें