• डाउनलोड ऐप
Wednesday, April 14, 2021
No menu items!
spot_img

लालकृष्ण आडवाणी

अदालत के कंधे पर आस्था का भार!

अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर का आंदोलन जब चरम पर था तब भाजपा के सर्वोच्च नेता लालकृष्ण आडवाणी और विश्व हिंदू परिषद के प्रमुख अशोक सिंघल कहा करते थे कि यह आस्था का मामला है, इसमें अदालत की कोई...

विपक्ष न तब था न अब है!

इन दिनों जनता में नंबर एक चर्चा, नंबर एक सवाल है विपक्ष कहां है? पेट्रोल-डीजल के दाम रिकार्ड तोड़ ऊंचाई पर है, महंगाई बढ़ रही है और लोगों का रोना है कि विपक्ष नहीं है।

विपक्ष मजबूत होता तो क्या कर लेता?

विपक्ष के मजबूत होने के क्या-क्या लक्षण होते हैं? किस तरह के विपक्ष को मजबूत विपक्ष माना जाना चाहिए? अगर सदन में विपक्षी पार्टियों के ज्यादा सदस्य होंगे तब विपक्ष मजबूत माना जाएगा

कमजोर विपक्ष की बात में राजनीतिक फायदा

देश में राजनीतिक विकल्प नहीं होने का विमर्श कोई नया नहीं है। देयर इज नो ऑल्टरनेटिव यानी टीना फैक्टर की पहले भी चर्चा होती थी

मोदी ने आडवाणी को दी जन्मदिन की बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठतम नेता लाल कृष्ण आडवाणी को जन्मदिन की बधाई देते हुए रविवार को कहा कि वह पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं के

बाबरी विध्वंस पर फैसला आज

अयोध्या में बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचे को गिराए जाने के 28 साल बाद फैसले की घड़ी आ गई है। ढांचा गिराए जाने के मामला में दर्ज किए गए आपराधिक मुकदमे में सीबीआई की विशेष अदालत बुधवार को फैसला सुनाएगी।

आडवाणी की किस्मत सीता जैसी है!

लालकृष्ण आडवाणी की किस्मत कुछ कुछ सीता जैसी लगती है। जिस तरह सीता को भगवान सबसे प्रिय था, लेकिन वे कभी भी पूरी तरह से राम को हासिल नहीं कर पाईं।

तीन दिन में ये हुआ!

छह दिसंबर को अयोध्या में जब ढांचा गिराया जा रहा था, क्या उस वक्त प्रधानमंत्री और उनका दफ्तर सो रहा था? कई मंत्रियों का ऐसा मानना है। हिसाब से ग्यारह बजे तक प्रधानमंत्री को कारसेवकों के उन्माद की खबर पहुंचनी चाहिए थी।

मैं तब भी बेबाक व अकेला था!

बाबरी मस्जिद ढांचे के ध्वंस का वक्त सेकुलर राजनीति का था। उन दिनों मीडिया में कोई हिंदू होने की समझ में हिंदू जन भावना पर बेबाकी मे कलम घसीटे, रिपोर्टिंग करे या कराए, यह असंभव था।

मंदिर बनवा दीजिए

बुधवार यानी नौ दिसंबर की शाम को राजेश पायलट के घर मुसलमान प्रतिनिधियों का जमावड़ा लगा हुआ था। जाफर शरीफ, सलमान खुर्शीद, अहमद पटेल को साथ बैठा कर पायलट ने डेढ़ घंटे मुसलमानों के विचार सुने। किसी ने कहा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

किसान आंदोलन : राकेश टिकैत को जान से मारने की धमकी , मामला दर्ज

New Delhi: तीनों कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन का नेतृत्व करने वाले भारतीय किसान यूनियन के...
- Advertisement -spot_img