व्हाइट हाउस

देश, कौम का जिंदा होना क्या?

इसे जानना हो तो दुनिया पर गौर करें। एक अमेरिका है और दूसरा भारत! एक अमेरिका है और उसके आगे रूस या चीन हैं। क्या फर्क बूझ पड़ता है? फर्क यह कि अकेले अमेरिका जिंदा और जिंदादिल देश है।

नई मुसीबत में फंस गए ट्रंप

अजीब मुसीबत में फंस गए हैं, डोनाल्ड ट्रंप ! अमेरिका के लगभग सभी बड़े शहरों में उनके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं।

शट यूअर माउथ ट्रंप!

अमेरिका में पुलिस की बर्बरता से एक अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लोएड की मौत के बाद होने वाले प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहे।

कोविड-19 टास्क फोर्स अनिश्चितकाल तक करती रहेगी काम : ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि व्हाइट हाउस कोरोना वायरस टास्क फोर्स को 'अनिश्चितकाल' तक सक्रिय रखेगा।

अमेरिका आखिर भारत से चाहता क्या है?

व्हाइट हाउस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्विटर पर अनफॉलो कर दिया। इसी महीने उसने मोदी को फॉलो करना शुरू किया था। वे दुनिया के पहले नेता था, जिसे व्हाइट हाउस ने फॉलो किया था।

व्हाइट हाउस ने मोदी को अनफॉलो किया

व्हाइट हाउस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्विटर अकाउंट अनफॉलो कर दिया है। 19 दिन पहले जब भारत ने अमेरिका को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा निर्यात की थी,

ट्रंप ने बुरा दौर खत्म होने का किया दावा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि अमेरिका कोरोना वायरस महामारी के सबसे बुरे दौर से निकल चुका है और इसने सामाजिक दूरी पर नए दिशा निर्देशों को अंतिम रूप देने के लिए देश को बहुत मजबूत स्थिति में ला दिया है।

चीन के खिलाफ ट्रम्प के आरोप सच नहीं

अमेरिकी राष्ट्रीय एलर्जी और संक्रामक रोग संस्थान के निदेशक और व्हाइट हाउस को महामारी के बारे में वैज्ञानिक सलाह देने वाले विशेषज्ञ एंथोनी फौसी ने हाल ही में अमेरिकी

ट्रम्प ने की व्हाइट हाउस के नए चीफ ऑफ स्टॉफ की घोषणा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने घोषणा की है कि उत्तरी कैरोलिना के कांग्रेस सदस्य मार्क मीडोज व्हाइट हाउस के नए चीफ ऑफ स्टॉफ होंगे।

अमेरिका 6 और देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगाएगा

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस ने घोषणा की है कि अमेरिका छह और देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगाएगा, जिनमें से चार अफ्रीकी देश हैं। यात्रा प्रतिबंध जैसे विवादास्पद कदम की पहले से ही आलोचना हो रही है। व्हाइट हाउस ने शुक्रवार...
- Advertisement -spot_img

Latest News

आखिरकार हमने समझी पेड़-पौधों की कीमत, शुरुआत हुई बागेश्वर धाम से

बागेश्वर| कोरोना काल हमारे लिए सबसे बुरा दौर रहा है। लेकिन इसने हमें बहुत कुछ सिखा दिया है। कोरोना...
- Advertisement -spot_img