दिवाली बाद शुरू हो सकता है संसद का शीतकालीन सत्र, पिछले साल कोरोना ने लगाया था ब्रेक

इस बार का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू हो सकता है जो 23 दिसंबर तक चलने की संभावना है। हालांकि, अभी तक इसके संबंध में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

बजट सत्र 29 जनवरी से

संसद का शीतकालीन सत्र टलने के बाद बजट सत्र की तारीखों का इंतजार हो रहा था। सरकार ने 29 जनवरी से बजट सत्र बुलाने का फैसला किया है। एक फरवरी को आम बजट पेश किया जाएगा।

संसद के सत्र से क्यों डरें ?

संसद का शीतकालीन सत्र स्थगित हो गया। अब बजट सत्र ही होगा। वैसे सरकार ने यह फैसला लगभग सभी विरोधी दलों के नेताओं की सहमति के बाद किया है।

संसद का शीतकालीन सत्र नहीं चलाने पर भड़की प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने संसद का शीतकालीन सत्र आयोजित नहीं करने पर सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए आज कहा कि वह पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए संसद सत्र आयोजित करती है

कोरोना पीक पर था तब सत्र हुआ था

केंद्र सरकार कोरोना वायरस के खतरे की वजह से संसद का शीतकालीन सत्र नहीं करा रही है।

कृषि कानूनों की चिंता में सत्र टला?

कोरोना वायरस के आंकड़ों से साफ हो जाता है कि कोरोना वायरस का खतरा शीतकालीन सत्र टालने का असली कारण नहीं है। असली कारण कुछ और है। सत्र टालने का असली कारण यह है कि पूरा विपक्ष कृषि कानूनों पर चर्चा की मांग कर रहा है

संसद का शीतकालीन सत्र टालना लोकतंत्र की हत्या: कांग्रेस

कांग्रेस ने सरकार के संसद का शीतकालीन सत्र नहीं बुलाने को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए इसे लोकतंत्र की हत्या बताया है और कहा है कि जनता से जुड़े विपक्ष के सवालों से बचने के लिए उसने सोचसमझ कर यह निर्णय लिया है।

इस साल नहीं होगा शीतकालीन सत्र

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी को लिखे अपने पत्र में स्पष्ट किया कि कोरनावायरस महामारी के कारण संसद का कोई शीतकालीन सत्र नहीं बुलाया जाएगा

कांग्रेस ने किसानों के विरोध के बीच संसद बुलाने की मांग की

किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच कांग्रेस ने बुधवार को केंद्र से संसद का शीतकालीन सत्र बुलाने के लिए कहा। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने सरकार से बिना किसी देरी के

मप्र विधानसभा का तीन दिवसीय सत्र 28 दिसंबर से

मध्य प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र दिसंबर में होगा। यह सत्र तीन दिवसीय होगा और 28 से 30 दिसंबर तक चलेगा। इस सत्र के दौरान विधानसभाध्यक्ष के निर्वाचन के साथ

अगला सत्र कौन सा होगा?

लोकसभा का अगला सत्र कौन सा होगा? क्या सरकार अगले महीने शीतकालीन सत्र बुलाएगी? जानकार सूत्रों के मुताबिक शीतकालीन सत्र को लेकर संदेह की स्थिति है क्योंकि कोरोना वायरस की वजह से पिछले दो सत्र प्रभावित हुए हैं।

पूर्व मंत्री की गिरफ्तारी के विरोध में त्रिपुरा विधानसभा में हंगामा

अगरतला। मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री बादल चौधरी की गिरफ्तारी को लेकर विपक्षी वाम विधायकों के हंगामे के बीच शुक्रवार को त्रिपुरा विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू हुआ। सत्र के पहले दिन राज्यपाल रमेश बैस के भाषण में कुछ मिनट बीतने के बाद ही तपन चक्रवर्ती की अगुवाई में विपक्षी सदस्य झूठे मामले में चौधरी की गिरफ्तारी के विरोध में सदन के वेल में आ गए। इसकी वजह से लगभग आधा घंटे तक सदन की कार्यवाही बाधित रही। माकपा की युवा शाखा डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी विधानसभा के बाहर इस मुद्दे पर विरोध जताते हुए एक रैली का आयोजन किया। त्रिपुरा पुलिस ने अक्टूबर 2019 में दिग्गज माकपा नेता एवं पूर्व पीडब्ल्यूडी व वित्तमंत्री बादल चौधरी और पीडब्ल्यूडी के पूर्व मुख्य अभियंता सुनील भौमिक को 6,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के कार्यान्वयन में भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया था। भौमिक को हाल ही में त्रिपुरा हाईकोर्ट से जमानत मिली थी, जबकि राज्य विधानसभा में वाम दल के उप नेता चौधरी 21 अक्टूबर से हिरासत में हैं। कानून एवं शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ के अनुसार, 2008-09 में वाम मोर्चा सरकार के नेतृत्व में लोक निर्माण विभाग ने 13 परियोजनाओं, जिनमें पांच… Continue reading पूर्व मंत्री की गिरफ्तारी के विरोध में त्रिपुरा विधानसभा में हंगामा

विधानसभा में हंगामे के बीच ही कार्यसूची में शामिल विषय पूर्ण

मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के चौथे दिन आज मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने अलग अलग मुद्दों को लेकर जमकर

हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा की शीतकालीन सत्र

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस के जोरदार हंगामे के चलते गुरूवार को राज्य विधानसभा के

युवाओं के साथ छलावा कर रही है सरकार: भाजपा

मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन आज मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य युवाओं और बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर पैदल मार्च करते हुए विधानसभा पहुंचे।

और लोड करें