• डाउनलोड ऐप
Monday, May 10, 2021
No menu items!
spot_img

संयुक्त राष्ट्र

श्रीलंका पर भारत की तटस्थता

श्रीलंका के मामले में भारत अजीब-सी दुविधा में फंस गया है। पिछले एक-डेढ़ दशक में जब भी श्रीलंका के तमिलों पर वहां की सरकार ने जुल्म ढाए, भारत ने द्विपक्षीय स्तर पर ही खुली आपत्ति नहीं की बल्कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी तमिलों के सवाल को उठाया

आपदाओं से त्रस्त दुनिया

संयुक्त राष्ट्र एक वैश्विक संस्था के रूप में दुनिया पर मंडरा रहे खतरों के बारे में समय-समय पर चेतावनी देता है। मगर क्या उनका कोई असर होता है? ये सवाल इसलिए उठता है क्योंकि जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे पर पिछले तीस साल संयुक्त राष्ट्र की लगातार सक्रियता के बावजूद दुनिया में इसे रोकने के प्रभावी कदम आज तक नहीं उठाए गए।

भारत को मिले ‘वीटो’ का अधिकार

संयुक्त राष्ट्र संघ के 75 वें अधिवेशन के उद्घाटन पर दुनिया के कई नेताओं के भाषण हुए लेकिन उन भाषणों में इन नेताओं ने अपने-अपने राष्ट्रीय स्वार्थों को परिपुष्ट किया, जैसा कि वे हर साल करते हैं लेकिन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ ऐसे बुनियादी सवाल उठाए, जो विश्व राजनीति के वर्तमान नक्शे को ही बदल सकते हैं।

बेलगाम है ग्लोबल वॉर्मिंग

कोरोना महामारी के बीच भले जलवायु परिवर्तन की चर्चा दब गई हो, लेकिन ये खतरा टला नहीं है। बल्कि बढ़ता जा रहा है।

आज की चुनौतियों को पुरानी संरचनाओं से नहीं लड़ा जा सकता: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज तड़के संयुक्त राष्ट्र के 75वें अधिवेशन को संबाेधित करते हुए कहा कि चुनौतियों को पुरानी संरचनाओं से नहीं लड़ा जा सकता है

जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने में भारत बन सकता है ग्लोबल सुपरपावर: गुटेरेस

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने आज कहा कि भारत संसाधनों की स्वच्छता और जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने की दिशा में एक 'ग्लोबल सुपरपावर' के रूप में उभर सकता है।

पर्यटन को स्थायी तरीके से उबारने की जरूरत: गुटेरेस

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियों गुटेरेस ने कोरोना महामारी के बाद पर्यटन क्षेत्र को स्थायी तरीके से उबारने की जरूरत पर बल दिया है।

मगर चिंता आखिर किसे है?

संयुक्त राष्ट्र की सूचनाएं आधिकारिक होती हैं। संयुक्त राष्ट्र ये सूचनाएं इसलिए जारी करता है, ताकि दुनिया भर की सरकारें मौजूद चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए कमर कस सकें।

ये तो अच्छी खबर है

अगर सच है, तो बेशक यह अच्छी खबर है। ब्रिटिश पत्रिका लासेंट में छपे एक अध्ययन में लगाए गए पूर्वानुमान पर्यावरण के लिए अच्छी खबर हैं। अगर ऐसा हुआ तो खाद्य उत्पादन प्रणालियों पर दबाव कम होगा। कार्बन उत्सर्जन भी कम होगा।

मोदी ने संयुक्त राष्ट्र को किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र संघ, यूएनओ की स्थापना के 75 साल पूरे होने के मौके पर चल रहे कार्यक्रमों में शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए एक सत्र को संबोधित किया।
- Advertisement -spot_img

Latest News

अमेरिका-यूरोप के बनो शुक्रगुजार!

अच्छी खबर जो पुर्तगाल के पोर्तो में यूरोपीय संघ के नेताओं ने भारत की चिंता की। भारत के साथ...
- Advertisement -spot_img