नव-जाग्रत चेतना की मिसाल

संयुक्त राष्ट्र में घटी एक घटना बताती है कि भले ये दुनिया की राजनीति में धुर दक्षिणपंथ का दौर हो, लेकिन जो मानवीय चेतना लोगों के मानस में उतर चुकी है, वह अब एक स्थायित्व प्राप्त कर चुकी है। इस घटना में नस्लवाद को लेकर संयुक्त राष्ट्र ही घिर गया।

यूएन की सीट के लिए भारत का अभियान

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, यूएनएससी के अस्थायी सदस्यों में अपनी एक सीट सुनिश्चित करने के लिए भारत ने शुक्रवार को अपने अभियान की शुरुआत की।

क्या यूएन में कोविड-19 पर बात होगी?

संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में आए दिन ऐसी-वैसी बातों पर चर्चा होती रहती है। पर हैरान करने वाली बात यह है कि अभी तक कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी पर अभी तक कोई चर्चा नहीं हुई है।

ममता का यूएन सुझाव था आत्मघाती

ममता बनर्जी ने बहुत बड़ी गलती की। उन्होंने पश्चिम बंगाल में संयुक्त राष्ट्र संघ की देख रेख में जनमत संग्रह कराने की बात कही। हालांकि उन्होंने साथ ही यह भी जोड़ा कि संयुक्त राष्ट्र के अलावा न्यायालय या किसी और स्वतंत्र एजेंसी के जरिए जनमत संग्रह कराया जा सकता है कि लोग नागरिकता कानून के समर्थन में हैं या विरोध में।

और लोड करें