UP Election 2021 Congress : जुम्मे की नमाज के बाद मस्जिदों के बाहर कांग्रेस बांटेगी 16 सूत्रीय संकल्प पत्र, सपा पर होगा निशाना…

भाजपा, सपा ,बसपा और यहां तक की उत्तर प्रदेश में पहली बार चुनाव लड़ने जा रहे हो ओवैसी भी हरकत में आ गए हैं. ऐसे में तीन दशकों से यूपी की सत्ता से दूर होने वाली कांग्रेस…

UP Election 2022: सपा ने कहा हम है प्रबुद्ध सम्मेलन शुरु करने वाले,  भाजपा ब्राह्मण विरोधी

रायबरेली में प्रबुद्ध सम्मेलन 1997 को जनेश्वर मिश्र और तत्कालीन रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने संबोधित किया था

अल्पसंख्यक समुदाय का विकास नहीं, सिर्फ वोट बैंक के लिए SP और BSP ने किया इस्तेमाल-ओवैसी

AIMIMI प्रमुख असदुदीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने यूपी में दबदबा रखने वाली सपा और बसपा (SP And BSP) पर निशाना साधा है. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की आलोचना…

यूपी की जातिय प्रयोगशाला में नए प्रयोग?

केन्द्र सरकार द्वारा बनाये नये कृषि कानूनों और बढ़ती मंहगाई के बीच उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में पिछड़ी और अति पिछड़ी जातियों की अहम भूमिका होने वाली है।

पूर्वाचंल नहीं पश्चिम यूपी होगा निर्णायक

उत्तर प्रदेश में माना जाता है कि पूर्वांचल में जीत या हार किसी भी पार्टी का मुस्तकबिल तय करती है।

माया का अंसारी पर फैसला, दूसरे दलों की समस्या!

उत्तर प्रदेश में चुनावी रणभेरी बज चुकी हैं। रण में ताल ठोकने के लिए योद्धाओं के चयन पर राजनीतिक दलों में मंथन शुरू हो गया है।

सबके राम : AAP ने तिरंगा यात्रा निकाल कर की चुनावी तैयारियों की घोषणा…

UP Election 2022 Latest : आम आदमी पार्टी भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अपना भाग्य आजमाने के लिए तैयार है. दिल्ली में भाजपा को पटखनी देने के बाद आप नेताओं के हौसले बुलंद हैं.

सपा से तालमेल में ही कांग्रेस की मुक्ति!

कांग्रेस पार्टी के नेता उत्तर प्रदेश को लेकर परेशान हैं। हाल में हुए सर्वेक्षण में कांग्रेस को तीन से पांच सीट मिलने की संभावना जताई गई है।

UP Elecetion : ओवैसी के पोस्टरों में अयोध्या को फैजाबाद लिखने पर बवाल, संतों ने कहा नहीं होने देंगे रैली

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अयोध्या केंद्र बिंदू बनता दिख रहा है. AIMIM प्रमुख असदद्दूदीन ओवैसी एक बार फिर से चर्चाओं में आ गये हैं. आगामी 7 सितंबर को ओवैसी अयोध्या में एक रैली आय

सांसद शफीकुर्रहमान ने Indian Freedom fighter’s से की Taliban की तुलना, हुआ राजद्रोह का केस…

सांसद ने तालिबान के लड़ाकों की तुलना भारत के स्वतंत्रता सेनानियों से कर दी है. तालिबान के समर्थन पर ऐसा बयान देने के बाद उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज की गई है.

कांग्रेस को यूपी में कोई नहीं पूछ रहा

congress Ajay Lallu in UP : कांग्रेस पार्टी के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ने में सक्षम है। उन्होंने और भी कई बातें कही हैं, लेकिन मुख्य बात यह है कि कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ेगी। असल में अकेले चुनाव लड़ना कांग्रेस की मजबूरी हुई है। प्रदेश की कोई भी पार्टी कांग्रेस को नहीं पूछ रही है। मंत्रीजी का रुतबा.. रेलमंत्री ने आते ही इंजीनियर से कहा कि आप मुझे सर नहीं बॉस बोलोगे बड़ी पार्टियों जैसे सपा, बसपा आदि की बात छोड़ें, कोई छोटी पार्टी भी कांग्रेस के साथ तालमेल को इच्छुक नहीं है। लगभग यही स्थिति बहुजन समाज पार्टी की भी है लेकिन उसकी प्रमुख मायावती चाहें तो कोई छोटी-मोटी पार्टी उनके साथ तालमेल कर सकती है। जैसे असदुद्दीन ओवैसी पहले बसपा से तालमेल के लिए प्रयास कर रहे थे। ऐसी छोटी पार्टियों से बसपा का तालमेल हो सकता है पर कांग्रेस के साथ तालमेल के लिए कोई छोटी पार्टी भी तैयार नहीं है। यह भी पढ़ें: सपा का छोटी पार्टियों का कुनबा ध्यान रहे उत्तर प्रदेश में एक दर्जन से ज्यादा ऐसी छोटी पार्टियां हैं, जिनका किसी न किसी खास इलाके में अच्छा असर है और मतदाताओं के बीच… Continue reading कांग्रेस को यूपी में कोई नहीं पूछ रहा

सपा का छोटी पार्टियों का कुनबा

UP Election samajwadi party : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव छोटी पार्टियों का एक कुनबा जोड़ रहे हैं। उन्होंने किसी बड़ी पार्टी के साथ तालमेल करने की बजाय छोटी-छोटी और अलग अलग इलाकों में असर रखने वाली पार्टियों से तालमेल करने की रणनीति बनाई है। इस रणनीति के तहत उन्होंने सबसे पहले जयंत चौधरी की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल को अपने साथ जोड़ा है। पिछली बार भी रालोद को उन्होंने अपने गठबंधन में रखा था। दूध पीना और महंगा! Mother Dairy ने भी बढ़ाए दूध के दाम, कल से 2 रुपए देने होंगे ज्यादा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रालोद का अच्छा असर है और उनके साथ होने से किसान आंदोलन की वजह से जाट मतदाताओं की नाराजगी का फायदा सपा को भी मिल सकता है। अभी दोनों पार्टियों के बीच सीटों का बंटवारा तय नहीं हुआ है लेकिन पार्टी के जानकार नेताओं का कहना है कि उसमें मुश्किल नहीं आएगी। UP Election samajwadi party पहाडों पर लगी भीड़ ने दी बढ़ाई तीसरी लहर की चिंता, हिमाचल सरकार ने फिर लागू किया ई-पास..जाने से पहले करें चेक रालोद के अलावा अखिलेश यादव गैर यादव अन्य पिछड़ी जातियों का प्रतिनिधित्व करने वाली पार्टियों से तालमेल कर रहे हैं। उनके लिए असली चुनौती… Continue reading सपा का छोटी पार्टियों का कुनबा

यूपी में किसकी पालकी ढोएंगे ओवैसी?

benefits from asaduddin owaisiin UP : ओवैसी के तेवरों से लगता है कि बीजेपी के बजाय सपा-बसपा ही उनके निशाने पर होंगी। दरअसल उनका मक़सद इन दोनों पार्टियों को मिलने वाले मुस्लिम वोटों को झटकना है। ….वे उन्हीं तौर-तरीक़ों के साथ उतर रहे हैं जैसा कि उनसे पहले डॉक्टर जलील फ़रीदी, डॉक्टर मसूद और डॉक्टर अयूब उतरे थे। लिहाज़ा ओवैसी का भी वही हश्र होना तय है जो इन लोगों का हुआ है। 2012 के चुनाव में पीस पार्टी का कुर्मीयों के नेतृत्व में पिछड़ों की बात करने वाले अपना दल के साथ गठबंधन था। लेखक: यूसुफ़ अंसारी benefits from asaduddin owaisiin UP  : ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को उत्तर प्रदेश में 100 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। ओवैसी का उत्तर प्रदेश में ओमप्रकाश राजभर की भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के साथ गठबंधन है। इसके अलावा किसी और पार्टी से गठबंधन की बात नहीं हुई है। कुछ दिनों से चर्चा थी कि ओवैसी की पार्टी का बीएसपी के साथ गठबंधन हो सकता है लेकिन मायावती ने अकेले ही चुनाव लड़ने का ऐलान करके इन अटकलों को विराम दे दिया है। असदुद्दीन ओवैसी के इस ऐलान के बाद यह… Continue reading यूपी में किसकी पालकी ढोएंगे ओवैसी?

औवेसी से यूपी में फायदा किसको?

भाजपा एआईएमआईएम के मुस्लिम कयादत के सवाल को हवा दे रही है। मुसलमानों में जितनी तेज अपने नेतृत्व की मांग होगी भाजपा को हिन्दु ध्रुविकरण करने में उतनी आसानी होगी।.. औवेसी के चुनाव लड़ने की घोषणा से उसे थोड़ी राहत मिली है। औवेसी की मुस्लिम कयादत के जवाब में हिन्दु नेतृत्व का माहौल अपने आप बनना शुरु हो गया है। और हिन्दु नेतृत्व की बात होते ही यूपी में मुख्यमंत्री योगी का प्रोफाइल अपने आप बढ़ जाता है। up assembly election owaisi : यह बहुत मजेदार है, दिलचस्प है कि पहली बार उत्तर प्रदेश में मुसलमान वोटरों पर इतना फोकस हो रहा है। मुसलमान उत्तर प्रदेश में या देश में कहीं भी इतना नहीं है कि किसी भी पार्टी को जीता या हरा सके। यह काम हमेशा से देश के बहुसंख्यक हिन्दु ही करते रहे हैं। हर चुनाव में जातीय समीकरण ही सबसे ज्यादा चर्चा का विषय होते हैं। ब्राह्मण क्या करेंगे? दलित कहां जाएंगे? ओबीसी में गैर यादवों का क्या रुख रहेगा ? जैसे सवालों से ही राजनीतिक विश्लेषणकर्ता जूझते रहते हैं। मगर इस बार औवेसी की यूपी में सौ सीट लड़ने की घोषणा ने चुनाव का नक्शा ही बदल दिया। यह भी पढ़ें: परिवार है तो कांग्रेस की… Continue reading औवेसी से यूपी में फायदा किसको?

मायावती ने सपा पर निशाना साधा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने अपनी पुरानी सहयोगी समाजवादी पार्टी पर तीखा हमला किया है। उन्होंने सपा के चाल और चरित्र का मुद्दा उठाया है और आरोप लगाया है कि उसका रवैया हमेशा दलित विरोधी रहा है। बहुजन समाज पार्टी के छह विधायकों के सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मिलने के बाद नाराज मायावती ने बुधवार को सपा को निशाना बनाया। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में अगले साल के शुरू में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। मंगलवार को बसपा के छह विधायक अखिलेश यादव से मिलने गए थे। उसके एक दिन बाद बुधवार को मायावती ने सोशल मीडिया के जरिए सपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सपा का चाल, चरित्र और चेहरा हमेशा से ही दलित विरोधी रहा है। उन्होंने कहा- बसपा के निलंबित विधायकों से मिलने का मीडिया में प्रचार करना एक नाटक है। यह उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के लिए की गई पैंतरेबाजी से ज्यादा कुछ भी नहीं है। सपा को निशाना बनाते हुए मायावती ने कहा- घृणित जोड़-तोड़, द्वेष और जातिवाद आदि की संकीर्ण राजनीति में माहिर समाजवादी पार्टी मीडिया के सहारे यह प्रचारित करना चाहती है कि… Continue reading मायावती ने सपा पर निशाना साधा

और लोड करें