चीन अपनी तैयारी में लगा है

भारत सरकार को सावधान रहना चाहिए। चीन अपनी तैयारी कर रहा है। वह पीछे नहीं हटा है और न उसका इरादा बदला है। भारत में सरकारें जिस समय सबसे ज्यादा भरोसे में और शांति की उम्मीद में रहती हैं उसी समय चीन ने धोखा दिया था। याद करें 2017 के डोकलाम घटनाक्रम को उससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग के साथ अपनी दोस्ती को लेकर कितने भरोसे में थे। लेकिन चीन ने डोकलाम कर दिया। इसी तरह पिछले साल कोरोना की महामारी में देश अपने लोगों को बचाने में लगा था तब चीन ने लद्दाख में घुस कर जमीन कब्जाई और भारतीय सैनिकों के साथ हिंसक झड़प की। उसी तरह कोरोना की दूसरी लहर को भी वह मौका बनाने की तैयारी में है। तभी सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे को कहना पड़ा कि लद्दाख में अब भी भारत के 60 हजार जवान तैनात हैं। उनके कहने को आशय यह था कि भारत सजग है और उसकी अपनी तैयारी कम नहीं की है। पर असल में चीन के साथ चल रही सैन्य स्तर की वार्ता और पैंगोंग झील इलाके में चीन के पीछे हटने के बाद भारत लापरवाह हुआ है। दूसरी ओर चीन इसी इलाके में डटा… Continue reading चीन अपनी तैयारी में लगा है

क्या लद्दाख पर कांग्रेस का कहा काल्पनिक?

जिस दिन से चीन और भारत की सरकार ने लद्दाख में शांति बहाली के समझौते और सैनिकों की चरणबद्ध वापसी का ऐलान किया है उस दिन से कांग्रेस इस बात को लेकर हमलावर है कि सरकार ने ‘भारत माता की जमीन चीन को सौंप दी’।

वीके सिंह ने भारत को मुश्किल में डाला

पूर्व सेना प्रमुख और नरेंद्र मोदी सरकार में सड़क परिवहन राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने भारत को मुश्किल में डाल दिया है। उन्होंने लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हो रही घुसपैठ को लेकर ऐसा बयान दिया है

भारत-चीन के बीच चली 16 घंटे तक मैराथन वार्ता

भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सीमा विवाद सुलझाने और जवानों की संख्या कम करने के मुद्दे पर 16 घंटे लंबी मैराथन सैन्य वार्ता की।

चीन से कब तक लुका-छिपी खेलेंगे?

क्या दुनिया के किसी संप्रभु देश के बारे में ऐसा सोचा जा सकता है कि उसका मालवाहक जहाज दूसरे देश में जाए और वहां की सरकार उस जहाज को समुद्र में खड़ा कर दे

सीमा पर चीन का निर्माण बड़ा खतरा : कांग्रेस

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि विदेश नीति के स्तर पर मोदी सरकार पूरी तरह विफल है और इसी का परिणाम है कि चीन डोकलाम के नजदीक गांव बसा कर देश के लिए गंभीर खतरा बन रहा है।

एलएसी पर क्या होगा?

भारत और चीन के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर संकट हल करने की कोशिश का असली स्वरूप क्या है, इसको लेकर देश में भरोसा पैदा करने की जरूरत है।

भारत-चीनः खुश-खबर

भारत-चीन तनाव खत्म होने के संकेत मिलने लगे हैं। अभी दोनों तरफ की सेनाओं ने पीछे हटना शुरु नहीं किया है लेकिन दोनों इस बात पर सहमत हो गई हैं कि मार्च-अप्रैल में वे जहां थीं, वहीं वापस चली जाएंगी।

इस बार सेना सर्दियों में डटी रहेगी

चीन की सेना के साथ भारत के सैन्य कमांडर की आठवें दौर की वार्ता भी बेनतीजा रही। चीन किसी हाल में अपनी जगह से पीछे हटने को तैयार नहीं है।

चीन की सेना से बात बेनतीजा

पूर्वी लद्दाख के चुशुल में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को सुलझाने और गतिरोध समाप्त करने के लिए सैन्य वार्ता जारी है। दोनों ही देश सीमा पर आगे के हिस्सों पर तैनात सैनिकों

चीन की मंशा ठीक नहीं

ये खबर परेशान करने वाली थी कि हाल में जब अमेरिका के साथ भारत की 2 प्लस 2 वार्ता हुई, तो उसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिकी की तरफ से जारी ब्योरे में अपना बयान बदलवाया।

सर्वत्र अव्यवस्था, मेस!

पता नहीं क्या होगा भारत का, हम हिंदुओं का! सर्वत्र ऐसी अव्यवस्था में जीते हुए कि सबकुछ खोखला, जर्जर और भटका हुआ!  सभी दिशाओं, सभी मामलों में खाली और खोखला। न सरकार में दिशा न विपक्ष में।

उलटे चीन से बढ़ गई भारत की खरीद!

यह हैरान करने वाला आंकड़ा अभी जारी हुआ है। जब समूचा देश चीन से नफरत कर रहा है, चीन के सामानों का बहिष्कार कर रहा है और चाह रहा है कि भारतीय सेना चीन से युद्ध करे तब खबर आई है कि चीन से भारत को होने वाले आयात में बढ़ोतरी हो गई है।

चीन के लिए जासूसी के आरोप में तीन गिरफ्तार

चीन के लिए जासूसी करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस ने शनिवार को बताया कि चीन के लिए जासूसी के आरोप में एक स्वतंत्र पत्रकार, एक चीनी महिला और एक नेपाली नागरिक को गिरफ्तार किया गया है।

निगरानी से बचने का कोई उपाय नहीं

यह कमाल हो गया। भारत सरकार पर आरोप लग रहे थे कि वह अलग अलग ऐप्स या किसी और तरीके से नागरिकों की निगरानी करा रही है।

और लोड करें