स्कॉटलैंड-आयरलैंड की महिला टीमों की सीरीज कोविड के चलते रद्द

स्कॉटलैंड और आयरलैंड की महिला क्रिकेट टीमों के बीच अगले सप्ताह स्पेन में होने वाली सीमित ओवरों की सीरीज कोविड-19 के कारण रद्द कर दी गई है।

स्कॉटलैंड में रेंजर्स एफसी के साथ मैदान पर लौटीं बाला देवी

भारतीय महिला फुटबाल टीम की खिलाड़ी बाला देवी जिनका कि स्कॉटलैंड के फुटबाल क्लब रेंजर्स के साथ करार हैं, ने विश्वव्यापी लॉकडाउन के दौरान ग्लास्गो में ही रहने का फैसला किया था।

शूटिंग के लिए वाणी कपूर स्कॉटलैंड रवाना

अभिनेत्री वाणी कपूर अक्षय कुमार अभिनीत अपनी आगामी फिल्म ‘बेलबॉटम’ की शूटिंग के लिए स्कॉटलैंड रवाना हो गई हैं। वह बेहद रोमांचित हैं और बेसब्री से सेट पर वापसी का इंतजार कर रही हैं।

स्कॉटलैंड के पूर्व क्रिकेटर माजिद हक कोरोना वायरस से पीड़ित

लंदन। स्कॉटलैंड के पूर्व क्रिकेटर माजिद हक ने बताया है कि उनकी कोरोना वायरस की जांच पॉजिटिव आई है और इस समय वह अपना ईलाज करा रहे हैं। पाकिस्तानी मूल के ऑफ स्पिनर हक ने स्कॉटलैंड के लिए 54 वनडे, 24 टी-20 खेले हैं। उन्होंने बताया कि उनका इलाज ग्लास्गो के एलेक्जेंडर अस्पताल में चल रहा है। उन्होंने कहा कोरोना वायरस की जांच सकारात्मक आने के बाद आज संभवत: मैं घर लौट रहा हूं। आरएएच अस्पताल के स्टाफ का व्यवहार मेरे साथ अच्छा रहा था और जिन्होंने मेरे समर्थन में मुझे संदेश भेजे उनका शुक्रिया। इंशाअल्लाह शेर जल्दी पूरे स्वास्थ में वापसी करेगा। 37 साल के इस खिलाड़ी ने 2015 विश्व कप में स्कॉटलैंड की जर्सी पहनी थी।

बाला देवी ग्लास्गो में ही रहेंगी, रेंजर्स करेगी देखभाल

भारतीय महिला फुटबाल टीम की खिलाड़ी बाला देवी जो स्कॉटलैंड के फुटबाल क्लब रेंजर्स के साथ हैं, ने ग्लास्गो में ही रहने का फैसला किया है। बाला देवी ने यह फैसला भारतीय सरकार द्वारा गुरुवार को सभी अंतर्राष्ट्रीय विमानों को 22 मार्च तक भारत में न उतरने देने के फैसले के बाद लिया है।

यूरोपीय संघ का लड़खड़ाना

यूरोपीय संघ और ग्रेट ब्रिटेन का 31 जनवरी को औपचारिक संबंध-विच्छेद हो गया है। इस संबंध-विच्छेद की प्रक्रिया में दो ब्रिटिश प्रधानमंत्रियों-डेविड केमरन और थेरेसा मे को इस्तीफा देना पड़ाथा लेकिन प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को इस एतिहासिक कदम का श्रेय मिलेगा कि उन्होंने ब्रिटेन को यूरोप की गुलामी से ‘आजाद’ करवा दिया। इसे लाखों अंग्रेजों ने कल लंदन में प्रदर्शन करके ‘आजादी’ क्यों कहा? क्योंकि वे मानने लगे थे कि ब्रिटेन पिछले 47 साल से यूरोप का आनाथालय बनता जा रहा था। यूरोपीय संघ के 28 देशों में से किसी भी देश के नागरिक ब्रिटेन में बे-रोक टोक आ जा सकते थे, वहां रह सकते थे, नौकरी और व्यापार कर सकते थे। उन देशों और ब्रिटेन के बीच बिना किसी तटकर के खुला व्यापार हो सकता था। ब्रिटेन क्योंकि यूरोप के सभी देशों में सबसे मालदार और ताकतवर देश है, इसलिए उसकी नौकरियों पर अन्य यूरोपीय संघ के लोग आकर कब्जा करने लगे थे। सस्ते वेतन पर काम करनेवाले ये लोग अंग्रेजों को अपदस्थ करते जा रहे थे। इसी तरह अन्य देशों के सस्ती मजदूरी पर बनी वस्तुएं ब्रिटिश बाजारों को पाटती चली जा रही थीं। इसीलिए ‘ब्रेक्जिट’ को आज ब्रिटेन की जनता उत्सव की तरह मना रही है। लेकिन… Continue reading यूरोपीय संघ का लड़खड़ाना

ब्रेग्जिट के बाद की चुनौतियां

आखिरकार ब्रेग्जिट हो गया। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से बाहर निकालने का वादा कर पिछला चुनाव जीते थे। तब उन्होंने 31 जनवरी तक ब्रेग्जिट करने का वादा किया था।। बहरहाल, साढ़े तीन साल तक खिंचे यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलगाव की खुशी मनाने का उनकी सरकार पास शायद ज्यादा वक्त या अवसर नहीं है। इस पूरे घटनाक्रम ने ब्रिटिश जनता का भरपूर ध्रुवीकरण कर दिया है। इसने ब्रिटिश राजनीति को गहराई तक बदल दिया है। अब ब्रिटेन को ईयू के साथ अपने संबंधों को फिर से तय करना होगा। अब ब्रिटेन और ब्रसेल्स के बीच नए सिरे से वार्ताओं का दौर शुरू होगा, ताकि भविष्य के संबंधों की रूपरेखा तैयार की जा सके। ब्रिटेन के पास 2020 के अंत तक का समय है। इस संक्रमण काल में वह ईयू के साझा बाजार का हिस्सा बना रहेगा। इस समय सीमा तक ब्रिटेन को कारोबारी, रक्षा, ऊर्जा, यातायात और डाटा समेत तमाम अहम मामलों पर समझौते करने होंगे। प्रधानमंत्री जॉनसन इरादा जता चुके हैं कि उनके लिए 11 महीने का समय काफी है, जिसमें वह जीरो टैरिफ, जीरो कोटा सिद्धांत पर आधारित ट्रेड डील कर लेंगे। बरहाल, अगर नया समझौता नहीं हो पाता है, तो… Continue reading ब्रेग्जिट के बाद की चुनौतियां

ब्रिटेन में अनंत अनिश्चितताएं

ब्रिटेन के ताजा आम चुनाव बेशक ब्रेग्जिट को लेकर जारी अनिश्चितता का अंत हो गया है। लेकिन इससे यह समझ लेना कि ब्रिटेन अब निश्चिंत हो गया है, बड़ी भूल होगी। दरअसल, अब अनिश्चिय खुद ब्रिटेन के भविष्य को लेकर पैदा हो गया है।

भारतीय स्ट्राइकर बाला देवी ने रेंजर्स एफसी के साथ ट्रायल शुरू किया

भारतीय महिला फुटबाल टीम की स्ट्राइकर नांगोम बाला देवी ने स्कॉटलैंड के फुटबाल क्लब रेंजर्स एफसी के साथ अपना ट्रायल शुरू कर दिया है।

और लोड करें