‘2010 में मैं 15 साल की थी’ कहने के बाद ट्रोल हुईं स्वरा भास्कर

एक कार्यक्रम के दौरान अपनी उम्र गलत बताने के बाद अभिनेत्री स्वरा भास्कर एक बार फिर से ट्रोल हो गई हैं। अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने फिल्मकार तिग्मांशु धूलिया और अभिनेता जीशान अयूब के साथ ‘हिंदूस्तान शिखर समागम’ में रविवार को भाग लिया था, जहां उन्होंने सामाजिक एवं राजनीतिक मुद्दों पर अपने विचार सामने रखे।

फिल्मी कलाकारों कैसे ऐसे-ऐसे?

आपको अनुराग कश्यप, विशाल भारद्वाज, नंदिता दास, अपर्णा सेन, सिद्धार्थ मल्होत्रा, परिणिति चोपड़ा, स्वरा भास्कर, राकेश ओम प्रकाश मेहरा, सुशांत सिंह जैसे अनेक हिन्दू फ़िल्मी कलाकार मिल जाएंगे जो नागरिकता संशोधन क़ानून का विरोध कर रहे हों। इन सब को इस से कोई फर्क नहीं पड़ता कि पाकिस्तान, बांग्लादेश या अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों की जिंदगी नर्क बनी हुई है या नहीं। इन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि पाकिस्तान में आए दिन दलित हिन्दू, सिख, ईसाई नाबालिग बच्चियों का अपहरण और बलात्कार हो रहा है। इन्हें फर्क इस बात का पड़ता है कि पाकिस्तान , बांग्लादेश और अफगानिस्तान के मुस्लिम दर्शक रूठ गए तो उन का फ़िल्मी बिजनेस चोपट हो जाएगा। यह तो है स्वार्थी हिन्दू कलाकारों की बात जो खुद को धर्म से ऊपर उठा हुआ बता कर इंसानियत का ढोंग रचते हैं। वे बता नहीं पाते कि हिन्दू , सिख , ईसाई बच्चियों को अपहरण और बलात्कार से बचा कर सम्मानपूर्वक जिंदगी जीने का हक दिलाना इंसानियत के दायरे में कैसे नहीं आता। दूसरी ओर क्या आप कोई ऐसा भारतीय मुस्लिम फ़िल्मी कलाकार बता सकते हो , जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अल्पसंख्यकों के सम्मान से जीने के हक के नाम पर न सही ,… Continue reading फिल्मी कलाकारों कैसे ऐसे-ऐसे?

बॉलीवुड अभिनेत्रियों ने दिखाया दम

हिंदी फिल्म उद्योग के सामाजिक या राजनीतिक सरोकारों का इतिहास कोई बहुत उत्साहजनक नहीं रहा है। आमतौर पर फिल्मी अभिनेता-अभिनेत्री या तो चुप रहते हैं या सरकार का साथ देते हैं। पर देश के मौजूदा माहौल ने उनको भी आंदोलित किया है और वे खुल कर सरकार के समर्थन या विरोध में उतरे हैं।

और लोड करें