• डाउनलोड ऐप
Friday, May 7, 2021
No menu items!
spot_img

हाईकोर्ट

सुप्रीम कोर्ट में पिछले साल की कहानी

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबडे रिटायर हो गए हैं। शुक्रवार को उनके कार्यकाल का आखिरी दिन था। उन्होंने आखिरी दिन एक बार फिर वह काम किया, जो पिछले साल मई में किया था। पिछले साल प्रवासी मजदूरों...

Oxygen supply : हाईकोर्ट की सलाह पर गृह मंत्रालय ने रोकी इंडस्ट्री की ऑक्सीजन सप्लाई

कोरोना ने देश में अपना आतंक फैला रखा है। भारत में एक दिन में 3,15 हजार मामले दर्ज हो रहे है। और 2 हजार मौतें हो रही है। जो अपने आप में एक वैश्विक रिकॉर्ड है और बेहद चिंताजनक...

गोवा नगरपालिका चुनाव पर हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

गोवा में भाजपा ने आज सर्वोच्च न्यायालय के उस आदेश का स्वागत किया, जिसमें पणजी में बॉम्बे हाईकोर्ट की पीठ के 2 मार्च के आदेश पर रोक लगा दी गई है।

दिशा की मीडिया ट्रायल खिलाफ याचिका

टूलकिट मामले में गिरफ्तार पर्यावरणविद दिशा रवि ने हाईकोर्ट का रूख किया है। उन्होंने एक याचिका दायर कर निजी चैट को सार्वजनिक न किए जाने या मीडिया को उपलब्ध न कराए जाने को लेकर कोर्ट से दिल्ली पुलिस को निर्देश देने की मांग की है।

उच्च अदालतों में जजों की नियुक्ति की मंजूरी

सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम ने कई उच्च अदालतों में जजों की नियुक्ति और प्रमोशन को मंजूरी दी है। गौरतलब है कि देश की ज्यादातर उच्च अदालतों में बड़ी संख्या में जजों के पद खाली हैं।

हाईकोर्ट के पास केंद्रीय अधिनियमों को रद्द करने की शक्ति : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने आज महामारी अधिनियम की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया और याचिकाकर्ता को सुझाव दिया कि इस मुद्दे पर हाईकोर्ट का रुख किया जा सकता है

दुर्गापूजा पंडाल ‘नो एंट्री जोन’

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के सबसे लोकप्रिय त्योहार दुर्गापूजा के लिए पंडाल तो सजाए गए हैं पर कलकत्ता हाई कोर्ट ने पंडालों को नो एंट्री जोन बना दिया है। कोई भी दर्शक पूजा पंडाल में नहीं जा सकेगा। आयोजकों को भी सीमित संख्या में पंडाल में एंट्री मिलेगी। कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की चिंता में यह कदम उठाया गया है। सोमवार को हाई कोर्ट ने कहा कि पूजा पंडाल दर्शनार्थियों के लिए नो एंट्री जोन होंगे। अदालत ने यह भी कहा कि पंडाल के अंदर सिर्फ आयोजकों को ही रहने की इजाजत होगी। कोरोना महामारी को देखते हुए बड़े पंडालों के लिए आयोजकों की संख्‍या 25 और छोटे पंडालों के लिए यह संख्‍या 15 सीमित की गई है। कलकत्‍ता हाई कोर्ट की खंडपीठ की ओर से कहा गया है कि सभी बड़े पंडाल को 10 मीटर की दूरी पर बैरिकेड लगाने होंगे जबकि छोटे पंडाल के लिए पांच मीटर की दूरी पर बैरिकेड लगाने होंगे। लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य को अहम बताते हुए अदालत ने कहा कि कोलकाता में इतनी पुलिस नहीं है कि तीन हजार पंडालों में श्रद्धालुओं को नियंत्रित कर सके।

एक और मामले में लालू को जमानत

चारा घोटाले से जुड़ी तीन मामलों में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद को एक और मामले में जमानत मिल गई है। झारखंड हाई कोर्ट में चाईबासा कोषागार से पैसे की निकासी के मामले में लालू प्रसाद को जमानत दे दी।

हाईकोर्ट ने पायलट खेमे को राहत दे दी

सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के एक दिन बाद राजस्थान हाई कोर्ट ने सचिन पायलट खेमे के विधायकों को बड़ी राहत दे दी।

कोर्ट का फैसला राजनीति में पायलट की किस्मत तय करेगा

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच राजनीतिक लड़ाई के बीच, सभी निगाहें अब राजस्थान हाईकोर्ट पर टिकी हैं।
- Advertisement -spot_img

Latest News

यमराज

मृत्यु का देवता!... पर देवता?..कैसे देवता मानूं? वह नाम, वह सत्ता भला कैसे देवतुल्य, जो नारायण के नर की...
- Advertisement -spot_img