मुरादाबाद में हाई अलर्ट, जुम्मे की नमाज के बाद शांति

दिल्ली में फैली हिंसा और उत्तराखंड के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी के उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में दिये विवादित बयान के बाद आज जुम्मे की नमाज को लेकर जारी हाई अलर्ट के कारण नमाज शान्ति पूर्वक संपन्न हो गयी।

दिल्ली हिंसा: हालात बेकाबू, यमुनापार के तीनों जिलों में हाई-अलर्ट

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरी-पूर्वी जिले में रविवार-सोमवार से ही बेकाबू हुए जा रहे हालात के मद्देनजर तीन जिलों में हाई-अलर्ट जारी कर दिया गया है। जिन जिलों में हाई-अलर्ट जारी किया गया है उनमें यमुनापार के तीन जिले उत्तर-पूर्वी (जहां से हिंसा शुरू हुई, पूर्वी और शाहदरा जिला) शामिल हैं। हाई-अलर्ट मंगलवार को दोपहर बाद बिगड़े हालात के बाद जारी किया गया है। दिल्ली पुलिस मुख्यालय में विशेष आयुक्त स्तर के एक अधिकारी ने कहा, उत्तर पूर्वी जिले में हालात काबू करने के लिए सोमवार को धारा 144 लागू की गई थी। उम्मीद थी कि धारा 144 के डर से उपद्रवी सड़कों पर निकल हिंसा नहीं फैलाएंगे। मगर मंगलवार दोपहर तक धारा 144 भी निष्प्रभावी साबित हो गई। लिहाजा, हिंसाग्रस्त उत्तर पूर्वी जिले सहित पड़ोस के जिले पूर्वी दिल्ली और शाहदरा जिले में भी सुरक्षा के एहतियाती इंतजाम किए गए। तीनों जिलों में हाई-अलर्ट घोषित कर दिया गया है। मौजपुर और फिर ब्रहमपुरी इलाके में मंगलवार सुबह करीब 10 बजे से बलवाइयों से जूझ रहे एक डीसीपी के मुताबिक, फोर्स पर्याप्त है। यह खबर बी पढ़ें:- शाह ने दिल्ली हिंसा पर उच्चस्तरीय बैठक की इसके बाद भी हाई-अलर्ट लगाने से यह फायदा रहा कि थानों में मौजूद पुलिस… Continue reading दिल्ली हिंसा: हालात बेकाबू, यमुनापार के तीनों जिलों में हाई-अलर्ट

ट्रंप की भारत यात्रा पर कश्मीर में हाई अलर्ट

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की आज दो दिवसीय भारत यात्रा के मद्देनजर श्रीनगर और कश्मीर घाटी के अन्य हिस्सों में आतंकवादियों की किसी भी हरकत को विफल करने और हमलों को नाकाम करने के लिए सुरक्षा बलों को सतर्क कर दिया गया है।

जेएनयू हमले के बाद उप्र हाई अलर्ट पर

लखनऊ। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रात में हुई हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश को हाई अलर्ट पर रखा गया है। ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या और पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हमले को लेकर राज्य में पहले से ही विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर लोगों की नाराजगी अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुई है। शीर्ष अधिकारियों ने पहले ही जिले के पुलिस प्रमुखों को सतर्क रहने और राज्य में शैक्षणिक संस्थानों के परिसरों पर गतिविधियों की बारीकी से निगरानी करने के लिए कहा है। अधिकांश विश्वविद्यालयों और संस्थानों को, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) को छोड़कर, जो अनिश्चितकाल के लिए बंद है, सोमवार को खोलना निर्धारित किया गया है। इसे भी पढ़ें : जेएनयू हिंसा: केजरीवाल के आवास पर बैठक जारी ये वे संस्थान हैं, जिन्होंने पिछले महीने दिल्ली में जामिया मिलिया विश्वविद्यालय के छात्रों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। जामिया के छात्रों के समर्थन में छात्रों के प्रदर्शन के बाद एएमयू पर खासकर नजर रखी जा रही है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में भी छात्रों का विरोध प्रदर्शन जारी है, जहां कुलपति प्रोफेसर रतन लाल हंगलू को चार दिन पहले इस्तीफा देना पड़ा।… Continue reading जेएनयू हमले के बाद उप्र हाई अलर्ट पर

और लोड करें