ट्रैक्टर रैली : पुलिस और किसान नेताओं के बीच बैठक बेनतीजा

केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ 26 जनवरी को किसानों की ओर से प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के संदर्भ में दिल्ली पुलिस और किसान नेताओं के बीच हुई बातचीत बेनतीजा रही।

चेन्नई में 26 जनवरी तक जुटेंगे भारतीय खिलाड़ी, अभ्यास 2 फरवरी से

आस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतकर भारतीय क्रिकेट टीम स्वदेश लौट आई है। टीम के सदस्य स्वदेश वापसी के साथ अपने-अपने घरों को चले गए।

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली को लेकर किसानों की दिल्ली पुलिस के साथ बैठक

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान ट्रैक्टर मार्च निकालने की तैयारी में लगे हुए हैं। वहीं दिल्ली पुलिस किसानों को ट्रैक्टर मार्च न निकालने पर मनाने में जुटी है।

गणतंत्र दिवस पर कोई विदेशी मेहमान नहीं

इस साल गणतंत्र दिवस की परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर कोई विदेशी मेहमान नहीं शामिल होगा।

राहुल ने प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली को लेकर सरकार पर निशाना साधा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 26 जनवरी को किसानों की ओर से प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता ने कहा, जब 60 किसान शहीद हुए हैं तो मोदी सरकार शर्मिदा नहीं हुई, लेकिन ट्रैक्टर रैली पर वह शर्मिदा है।

बिना अतिथि के गणतंत्र दिवस परेड!

तो क्या इस बार बिना अतिथि के ही गणतंत्र दिवस की परेड होगी? भारत के गणतंत्र बनने के बाद से इतिहास में आज तक ऐसा नहीं हुआ है कि बिना किसी विदेशी मेहमान के परेड का आयोजन हुआ है।

मांगें नहीं माने जाने पर 26 जनवरी को निकालेंगे ‘किसान गणतंत्र परेड’ : किसान

किसान आंदोलन का समन्वय कर रही 7 सदस्यीय समन्वय समिति ने आज राष्ट्रीय राजधानी में अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र सरकार से कहा कि अगर किसानों की मांगें नहीं मानी गई

गणतंत्र दिवस देश के लिए उत्सव मनाने का दिन है : शमा सिकंदर

अभिनेत्री शमा सिकंदर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाने के लिए उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि विविधता में एकता हमारी सबसे बड़ी ताकत है और इसे किसी भी कीमत पर बचानी होगी।

इस बार वॉर मेमोरियल पर श्रद्धांजलि देंगे मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक और परंपरा तोड़ने जा रहे हैं। मोदी इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर इंडिया गेट पर मौजूद अमर जवान ज्योति की जगह नए बने वॉर मेमोरियल पर सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगे। नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 25 फरवरी को वॉर मेमोरियल देश को समर्पित किया था। गौरतलब है कि 1971 के भारत-पाक युद्ध के शहीदों की याद में अमर जवान ज्योति को इंडिया गेट पर 1972 में तैयार किया गया था। तीनों सेनाओं के प्रमुख राष्ट्रीय महत्व के प्रमुख अवसरों- स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस पर अमर जवान ज्योति पर श्रद्धांजलि देते हैं। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी राजपथ पर परेड शुरू होने से पहले 26 जनवरी की सुबह वॉर मेमोरियल जाएंगे। इस दौरान वे तीनों सेना के प्रमुखों और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, सीडीएस की मौजूदगी में वॉर मेमोरियल पर फूल चढ़ाएंगे। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे, वायु सेना प्रमुख आरके भदौरिया और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने पिछले साल ही सेना के शीर्ष पदों की जिम्मेदारी संभाली है। अधिकारी ने कहा- सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी वॉर मेमोरियल पर पुष्प चक्र अर्पित करेंगे।ऐसा पहली बार होगा जब सीडीएस भी गणतंत्र दिवस समारोह में हिस्सा लेंगे। गौरतलब है कि पूर्व… Continue reading इस बार वॉर मेमोरियल पर श्रद्धांजलि देंगे मोदी

संविधान की हस्तलिखित प्रति की दास्तां

आज हम और हमारे नेता संविधान को लेकर चाहे कितना हल्ला मचाते हो पर सत्य यह है कि हमे भी नहीं पता कि हमारा मूल संविधान कैसा है। संविधान बनाने वाली संविधान सभा के अध्यक्ष जहां डा राजेंद्र प्रसाद थे तो सभा की संविधान ड्राफ्टींग कमेटी के अध्यक्ष डा. बीआर अंबेडकर। जब संविधान तैयार हो गया तो जवाहर लाल नेहरू इसे छपवाना नहीं चाहते थे। वे चाहते थे कि हमारा संविधान एक उत्कृष्ट लेखनी में लिखा दस्तावेज रहे। अतः उन्होंने प्रेम बिहारी नारायण रायजादा से संपर्क किया जोकि जाने-माने कैलीग्राफर व सुलेख लिखने वाले थे। प्रेम बिहारी नारायण 17 दिसंबर 1901 में पैदा हुए थे व एक खानदानी कैलीग्राफर परिवार से थे। जब वे छोटे थे तभी उनके मां-बाप का स्वर्गवास हो गया था व उन्हें उनके दादा मास्टर राम प्रसादजी सक्सेना व चाचा महाशय चतुर बिहारी सक्सेना ने पाला था। उनके दादा फारसी व अंग्रेजी के विद्वान थे व अंग्रेज अफसरों को फारसी पढ़ाते थे। प्रेम बिहारी ने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से स्नातक किया और कैलीग्राफी में एमए किया। जब संविधान तैयार हो गया और प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने प्रेम बिहारी से संपर्क कर उनसे इन्हें अपनी हस्तरेखा में इटैलिक में लिखने के लिए कहा व पूछा कि उन्हें… Continue reading संविधान की हस्तलिखित प्रति की दास्तां

और लोड करें