शपथ पर होगा अमल?

पिछले हफ्ते 64 देशों ने एक महत्त्वपूर्ण शपथ ली। उन्होंने बीते दशकों में प्रकृति को हुए नुकसान को 2030 तक पलटने की कसम खाई। शपथ पत्र में इन नेताओं ने लिखा कि वो इस भूमंडलीय आपातकाल का सामना करने के लिए सार्थक कार्रवाई करेंगे।