kishori-yojna
कश्मीर फिर बने पूर्ण राज्य

jammu and kashmir statehood : कश्मीर के गुपकार-गठबंधन ने अपना जो संयुक्त बयान जारी किया है, उसमें मुझे कोई बुराई नहीं दिखती। प्रधानमंत्री के साथ 24 जून को हुई बैठक के बाद यह उसका पहला बयान है। इस बयान में  कहा गया है कि 24 जून की बैठक ‘निराशाजनक’ रही लेकिन उनका अब यह कहना ज़रा विचित्र-सा लग रहा है, क्योंकि उस बैठक से निकलने के बाद सभी नेता उसकी तारीफ कर रहे थे। उस बैठक की सबसे बड़ी खूबी यह रही कि उसमें जरा भी गर्मागर्मी नहीं हुई। दोनों पक्षों ने अपनी-अपनी बात बहुत ही संतुलित ढंग से रखी। उस समय ऐसा लग रहा था कि कश्मीर का मामला सही पटरी पर चल रहा है। बात तो अभी भी वही है लेकिन गुपकार का यह नया तेवर बड़ा मजेदार है। उसका यह तेवर सिद्ध कर रहा है कि 24 जून की बैठक पूरी तरह सफल रही। वह अब जो मांग कर रहा है, उसे तो सरकार पहले ही खुद स्वीकृति दे चुकी है। यह भी पढ़ें: भारत में भी राफेल की जांच जरूरी सरकार ने उस बैठक में साफ़-साफ़ कहा था कि वह जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा फिर से बरकरार करेगी। अब गुपकार गठबंधन यही कह रहा है… Continue reading कश्मीर फिर बने पूर्ण राज्य

गुपकर एलायंस के नेता निराश

gupkar leaders meeting : श्रीनगर। जम्मू कश्मीर की पार्टियों के गठबंधन पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकर डिक्लेरेशन यानी गुपकर एलायंस के नेताओं ने सोमवार को एक बैठक की और यह मांग दोहराई कि चुनाव कराने से पहले जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल किया जाए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 24 जून को सर्वदलीय बैठक करने के 11 दिन बाद सोमवार को गुपकर एलायंस के नेताओं ने इस बैठक को लेकर निराशा जाहिर की। मोदी की नई कैबिनेट के 90 प्रतिशत मंत्री करोड़पति हैं, 42% पर आपराधिक मामले : ADR की रिपोर्ट गुपकर एलायंस का कहना है कि बैठक में राजनीतिक कैदियों की रिहाई सहित भरोसा कायम करने वाले कदम उठाने के बारे में कुछ नहीं कहा गया। एलायंस की बैठक में कहा गया कि जहां तक जम्मू कश्मीर को वापस राज्य का दर्जा देने का सवाल है, तो भाजपा खुद संसद में इसका ऐलान कर चुकी है। ऐसे में उन्हें अपने वादे का सम्मान करना चाहिए। गुपकार का संघर्ष अपना लक्ष्य हासिल करने तक चलता रहेगा। पहाडों पर लगी भीड़ ने दी बढ़ाई तीसरी लहर की चिंता, हिमाचल सरकार ने फिर लागू किया ई-पास..जाने से पहले करें चेक गुपकर नेताओं की यह मुलाकात परिसीमन आयोग के जम्मू कश्मीर के… Continue reading गुपकर एलायंस के नेता निराश

कौन है कश्मीरी हिंदुओं के पलायन का दोषी?

पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आज़ाद ने अन्य विषयों के साथ, घाटी में कश्मीरी पंडितों के पुर्नवास की मांग भी रखी। क्या यह सत्य नहीं कि तीन दशक पहले जिस कुत्सित मानसिकता ने लगभग पांच लाख कश्मीरी पंडितों को पलायन हेतु विवश किया, वह मजहबी घृणा से प्रेरित जिहाद था और घाटी में व्याप्त इको-सिस्टम दशकों से उसी चिंतन से जनित है? क्या उसी दर्शन को घाटी में पुष्ट करने या फिर उसपर अपनी आंख मूंदे रहने के लिए यही 14 नेता किसी न किसी रूप में जिम्मेदार नहीं? जम्मू-कश्मीर को लेकर 23 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश के 14 नेताओं के साथ बैठक हुई। तब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आज़ाद ने अन्य विषयों के साथ, घाटी में कश्मीरी पंडितों के पुर्नवास की मांग भी रखी। क्या यह सत्य नहीं कि तीन दशक पहले जिस कुत्सित मानसिकता ने लगभग पांच लाख कश्मीरी पंडितों को पलायन हेतु विवश किया, वह मजहबी घृणा से प्रेरित जिहाद था और घाटी में व्याप्त इको-सिस्टम दशकों से उसी चिंतन से जनित है? क्या उसी दर्शन को घाटी में पुष्ट करने या फिर उसपर अपनी आंख मूंदे रहने के लिए यही 14 नेता किसी न किसी रूप में जिम्मेदार नहीं?… Continue reading कौन है कश्मीरी हिंदुओं के पलायन का दोषी?

कश्मीर का ‘नया’ होना क्या?

kashmir after article 370 remove : कश्मीर को ‘नया कश्मीर’ क्यों कहा जा रहा है जब भावना, उसका होने का एक हिन्दू का अहसास अब भी ‘दूसरों’ का ही है। अनुच्छेद 370 खत्म करने से आत्मविश्वास या शांति की कौन सी भावना जगी है जिसका प्रचार देश के बाकी हिस्से और दुनिया भर में ‘नया कश्मीर’ के रूप में किया जा सकता है?… गुजरे इन तीन वर्षों के बाद भी कश्मीर को जैसा मैं जानती थी, कश्मीर वैसा ही है।  अलग-थलग कड़वाहट के साथ। पहले के मुकाबले ज्यादा। यह भी पढ़ें: जितिन प्रसाद प्रसंग : ‘राजनीति आज’ का सत्य kashmir after article 370 remove : कश्मीर में होना हमेशा एक अनुभव होता है। जबरदस्त सौंदर्य में भरे क्षेत्र में घर पर होना, वहां का होना अलग अहसास कराता है। घर के सुरक्षित परिवेश से बाहर कदम रखना और कॉलोनी के बड़े काले गेट की सीमा बोध कराती है कि आप यहां के होकर भी यहां के नहीं हैं! यह अहसास यहां के होने पर हावी होता है, ज्यादा बोझ लिए हुए। शरीर में अजीब सी सनसनी महसूस होती है। हड्डियों तक को महसूस होता है कि लोग आपको संदिग्ध नजरिए से देख रहे हैं, आपसे नाराज हैं; तब भी जब… Continue reading कश्मीर का ‘नया’ होना क्या?

पहले राज्य का दर्जा बहाल हो या चुनाव हो!

jammu and kashmir Congress PDP : यह कुछ कुछ इस तरह का सवाल है कि पहले अंडा आया या मुर्गी आई। जम्मू कश्मीर में पार्टियों के बीच इस बात पर बहस छिड़ी है कि पहले राज्य का दर्जा बहाल किया जाए या पहले विधानसभा के चुनाव कराए जाएं। केंद्र सरकार चाहती है कि परिसीमन के बाद विधानसभा चुनाव हो जाए और तब राज्य का दर्जा बहाल किया जाए। दूसरी ओर कांग्रेस, पीडीपी, नेशनल कांफ्रेंस सहित सभी पार्टियों का कहना है कि पहले राज्य का दर्जा बहाल हो। अब सवाल है कि चुनाव से पहले राज्य का दर्जा बहाल होने से जमीनी स्तर पर क्या बदलाव होगा? इससे असल में कुछ नहीं बदलेगा। राज्य में विधानसभा भंग है और अभी राज्य का दर्जा बहाल कर देने के बाद भी राज्यपाल शासन ही लगा रहेगा। पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल होने का फायदा तब है, जब चुनाव हो जा जाए। यह भी पढ़ें: मुकुल रॉय क्यों नहीं इस्तीफा दे रहे! jammu and kashmir Congress PDP तभी सवाल है कि जब राज्यपाल शासन ही लगा रहना है तब राज्य का दर्जा बहाल कराने के लिए दबाव बनाने का क्या मतलब है? इस दबाव के दो-तीन कारण हैं। पहला कारण तो यह है कि… Continue reading पहले राज्य का दर्जा बहाल हो या चुनाव हो!

370 के बिना चुनाव नहीं लड़ेंगी महबूबा

jammu kashmir mehbooba mufti नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि अगर जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 बहाल नहीं किया जाता है तो वे चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने हालांकि कहा है कि उनकी पार्टी चुनाव लड़ेगी। हालांकि उन्होंने साफ कर दिया है कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीत जाती है तब भी वे मुख्यमंत्री नहीं बनेंगी। गौरतलब है कि एक दिन पहले ही महबूबा मुफ्ती और जम्मू कश्मीर की कई पार्टियों के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले थे। मोदी से मुलाकात के एक दिन बाद महबूबा ने एक निजी टेलीविजन चैनल से कहा कि जब तक राज्य में अनुच्छेद 370 बहाल नहीं होता, तब तक वे चुनाव नहीं लड़ेगी। महबूबा ने कहा कि अगर चुनावों में उनकी पार्टी जीत भी जाती है, तब भी वे मुख्यमंत्री नहीं बनेंगी। उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जम्मू कश्मीर के राजनीतिक नेताओं की बैठक बुलाई तो उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ। उन्होंने कहा- इस क्षेत्र में बहुत अधिक उत्पीड़न है। गौरतलब है कि भाजपा के कई नेताओं ने पीडीपी के नेताओं को आतंकियों से सहानुभूति रखने वाला बताय था फिर भी प्रधानमंत्री की बैठक में बुलाए जाने के बारे… Continue reading 370 के बिना चुनाव नहीं लड़ेंगी महबूबा

Kashmir Leader Meeting : कश्मीर पर हुई बैठक से पाक परेशान

Kashmir Leader Meeting :  इस्लामाबाद | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कश्मीर के नेताओं से मीटिंग को लेकर पाकिस्तान परेशान हो गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इसे ड्रामा और पब्लिक रिलेशन एक्सरसाइज बताया है। कुरैशी ने कहा है- गुरुवार को मोदी ने जो मीटिंग की है, उससे कुछ हासिल होने वाला नहीं है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को कश्मीरी नेताओं के साथ एक मीटिंग की थी। इसमें कश्मीर के तमाम बड़े नेता शामिल हुए थे। कुरैशी ने शुक्रवार को हुई इस मीटिंग के बारे में कहा- मेरे हिसाब से तो यह मीटिंग ( Kashmir Leader Meeting ) एक ड्रामे से ज्यादा कुछ नहीं थी। बहुत ज्यादा कहें तो यह एक पब्लिक रिलेशन एक्सरसाइज थी। लेकिन, इन चीजों से कुछ हासिल नहीं होने वाला। यह नाकामयाब और बेकार की कवायद है, क्योंकि इस तरह की चीजों से कुछ हासिल होने वाला नहीं है। कुरैशी ने कहा- कश्मीरियों को अब भी अपनी पहचान की तलाश है। वो आजादी और स्वायत्तता चाहते हैं। यह भी पढ़ें: समस्याएं सुलझ नहीं, बढ़ रही हैं! पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, एनएसए मोईद यूसुफ ने ‘जियो न्यूज’ को दिए इंटरव्यू में कहा- कश्मीर के नेताओं को इसलिए बुलाकर बात की गई… Continue reading Kashmir Leader Meeting : कश्मीर पर हुई बैठक से पाक परेशान

कश्मीर पर सार्थक संवाद

जम्मू-कश्मीर के नेताओं ( Jammu Kashmir Political Leader ) से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संवाद काफी सार्थक रहा। इसे हम एक अच्छी शुरुआत भी कह सकते हैं। 22 माह पहले जब सरकार ने धारा 370 हटाई थी और इन नेताओं को गिरफ्तार कर लिया था, तब और अब के माहौल में जमीन-आसमान का अंतर आ गया है। जब इस संवाद की घोषणा हुई तो मेरे मन में दो शंकाएँ थीं। एक तो यह कि कुछ कश्मीरी नेता इसमें भाग लेने से ही मना कर देंगे। और यदि वे भाग लेंगे तो बैठक में बड़ा हंगामा होगा। कहा-सुनी होगी। बहिष्कार होगा। यह भी पढ़ें: दुशांबे में वे यह मौका क्यों चूके ? लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ लेकिन उमर अब्दुल्ला जैसे दो-तीन नेताओं ने कहा कि यह संवाद बहुत शांति और मर्यादा से संपन्न हुआ। इसका कारण शायद यह भी रहा कि कश्मीर के दर्जे में इतने गंभीर परिवर्तन के बावजूद ये नेतागण कोई बड़ा आंदोलन खड़ा नहीं कर सके। इन्हें जेल में डाल दिया गया, इसके बावजूद कोई फर्क नहीं पड़ा। गिरफ्तार नेताओं में तीन पूर्व मुख्यमंत्री भी थे। डाॅ. फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती। तीनों दिल्ली आए। चौथे पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद भी इस… Continue reading कश्मीर पर सार्थक संवाद

कश्मीर पर हुई दिल की बात!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जम्मू कश्मीर के 14 नेताओं के साथ गुरुवार को दिल्ली में अपने आवास पर एक अहम बैठक ( pm modi meet kashmir Leaders ) की। करीब तीन घंटे तक चली इस बैठक के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्विट करके करके कहा कि परिसीमन की प्रक्रिया और शांतिपूर्ण चुनाव कराना राज्य का दर्जा बहाल करने की दिशा में अहम कदम हैं। बताया जा रहा है कि बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने सभी नेताओं की बात ध्यान से सुनी और पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने का भरोसा दिलाया। बैठक के बाद पीडीपी नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने बताया कि बैठक बहुत सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक रही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बुलाई इस बैठक में जम्मू कश्मीर की आठ पार्टियों के 14 नेता शामिल ( pm modi meet kashmir Leaders ) हुए थे। उनके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा और प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह शामिल हुए। प्रधानमंत्री आवास पर हुई इस बैठक में मोदी ने संदेश दिया कि जम्मू कश्मीर से दिल्ली और दिल की दूरी कम होगी। उन्होंने परिसीमन के बाद जल्दी विधानसभा चुनाव कराए जाने की बात कही और… Continue reading कश्मीर पर हुई दिल की बात!

ममता ने मोदी पर किया हमला

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जम्मू कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार की नीतियों पर तीखा हमला ( Mamta attacked on Modi ) किया है। जिस समय राज्य की पार्टियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक चल रही थी उसी बीच उन्होंने अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध किया और कहा कि इसे हटाने से दुनिया में भारत की बदनामी हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि इस अनुच्छेद को हटाना कश्मीरियों की आजादी छीनने के बराबर है। इसे भी पढ़ें – Petrol Diesel price : देश में लगातार बढ़ती पेट्रोल डीजल की कीमतों पर बोले पेट्रोलियम मंत्री- इसके पीछे भी कांग्रेस जिम्मेवार यह भी पढ़ें: भारत-पाक सेना काबुल जाए? केंद्र सरकार पर हमला करते हुए ममता बनर्जी ( Mamta attacked on Modi ) ने कहा- जिस तरह से वैक्सीन के लिए देश की बदनामी हुई, उसी तरह अनुच्छेद 370 हटाने पर भी देश की बदनामी हुई है। प्रधानमंत्री की मीटिंग के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा- क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू कश्मीर के लोगों को बुला कर कश्मीर पर मीटिंग कर रहे हैं। राज्य का दर्जा वापस लिए जाने की क्या जरूरत थी। लोगों को पहले आजादी चाहिए। आपने आजादी छीन ली। ये फैसला देश के… Continue reading ममता ने मोदी पर किया हमला

PM Modi Meeting On jammu kashmir : PM Modi के बुलावे पर पहुंचने लगे कश्मीर के नेता, बैठक का काउंटडाउन शुरू

नई दिल्ली | PM Modi Meeting On jammu kashmir: प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में आज होने वाली बैठक पर देश भर के लोगों की नजरें टिकी हुई हैं. पीएम मोदी के बुलावे पर जम्मू कश्मीर के नेताओं का आना भी शुरू हो गया है. जानकारी के अनुसार इस बैठक का आयोजन आज शाम 3:00 बजे से होना है. बैठक के शुरू होने के पहले से ही कयास लगाए जा रहे हैं कि कश्मीर से आए कुछ नेता जरूर एक बार फिर से धारा 370 आर्टिकल 35 A को फिर बहाल करने की मांग कर सकते हैं. यहां बता दें कि 5 अगस्त 2019 के बाद जब कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा छीन लिया गया था उसके बाद यह पहली बैठक का आयोजन किया जा रहा है. दिल्ली: नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला पार्टी प्रमुख फारूक अब्दुल्ला के आवास पर पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्रीय राजधानी में जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों की सर्वदलीय बैठक बुलाई है। pic.twitter.com/XI7XJFVShA — ANI_HindiNews (@AHindinews) June 24, 2021 कौन-कौन हो रहा है शामिल PM Modi Meeting On jammu kashmir : पीएम मोदी की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला भी शिरकत… Continue reading PM Modi Meeting On jammu kashmir : PM Modi के बुलावे पर पहुंचने लगे कश्मीर के नेता, बैठक का काउंटडाउन शुरू

कश्मीर पर आज बैठक, सभी प्रादेशिक पार्टियों और कांग्रेस के नेता शामिल होंगे

कश्मीर पर आज बैठक : नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर की 14 पार्टियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक अहम बैठक गुरुवार को होगी। राज्य की सभी प्रादेशिक पार्टियों और कांग्रेस ने इस बैठक में शामिल होने की सहमति दे दी है। जम्मू कश्मीर की पार्टियों के नेता इस मुलाकात के लिए दिल्ली पहुंच गए हैं। माना जा रहा है कि इसमें राज्य में हो रहे परिसीमन को लेकर चर्चा होगी और साथ ही जम्मू कश्मीर का पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने और राज्य में चुनाव कराने के मसले पर भी चर्चा हो सकती है। गौरतलब है कि पिछले दिनों केंद्र सरकार की ओर से राज्य की 14 पार्टियों के नेताओं को प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात का न्योता भेजा गया था। इसे लेकर मंगलवार को गुपकार एलायंस के नेताओं ने बैठक की थी, जिसमें उन्होंने मीटिंग में हिस्सा लेने का फैसला किया है। कांग्रेस ने भी बैठक में शामिल होने की सहमति दे दी है लेकिन साथ ही कहा है कि अगर न्योते के साथ मीटिंग का एजेंडा भी भेजा गया होता तो अच्छा होता। प्रधानमंत्री के साथ होने वाली अहम मीटिंग से आतंकियों की संभावित हरकतों को देखते हुए सुरक्षा बलों के लिए जम्मू कश्मीर मे 48 घंटे… Continue reading कश्मीर पर आज बैठक, सभी प्रादेशिक पार्टियों और कांग्रेस के नेता शामिल होंगे

Jammu Kashmir Modi Meeting : कश्मीर में उम्मीद की खिड़की!

अगर कश्मीर की पार्टियां इतिहास की धारा मोड़ने का प्रयास करेंगी तो इससे न तो देश का भला होना है और न प्रदेश का। इसलिए जरूरी है कि पार्टियां अनुच्छेद 370 की बहाली की जिद छोड़ें। उन्हें इस बात को समझना चाहिए कि कश्मीरियत की रक्षा अनुच्छेद 370 की मोहताज नहीं है। जैसे देश के अनेक राज्यों की अपनी विशिष्ट पहचान है, अलग भाषा-संस्कृति, खान-पान, रस्म-रिवाज हैं और बिना किसी खास संवैधानिक प्रावधान के उन राज्यों की विशिष्ट अस्मिता बची हुई है। यह भी पढ़ें: पुरानी धारणा लौटाने में जुटे हुए मोदी! Jammu Kashmir Modi Meeting : राजनीति में कुछ भी संभव है। अभी थोड़े दिन पहले तक जम्मू कश्मीर के जो नेता जेल में बंद रखे गए थे या जिनको उनके घरों में नजरबंद रखा गया था वे सब 24 जून को प्रधानमंत्री के साथ बैठ कर वार्ता करेंगे। जिन नेताओं को शांति के लिए खतरा मान कर जेल में बंद किया गया था उनके साथ प्रधानमंत्री लोकतंत्र की बहाली और स्थायी शांति जैसे मसलों पर बातचीत करेंगे। ऐसी उलटबांसी भारतीय राजनीति में होती रहती है। फिर भी भारत सरकार की ओर से की गई पहल उम्मीद की एक खिड़की खुलने जैसी है। पिछले करीब ढाई साल से जम्मू… Continue reading Jammu Kashmir Modi Meeting : कश्मीर में उम्मीद की खिड़की!

कश्मीरी नेताओं से सीधा संवाद

यदि धारा 370 और 35 ए बहाल न भी हों तो भी यह जरुरी है कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा शीघ्र दिया जाए और वहां लोकप्रिय सरकार शीघ्र ही कार्य करने लगे

क्या फारुक अब्दुल्ला देशद्रोही हैं ?

Farooq Abdullah traitor : देश में कई मुसलमान कवि रामभक्त और कृष्णभक्त हुए हैं लेकिन आपने क्या कभी किसी मुसलमान नेता को रामभजन

और लोड करें