दुनिया का पालना और…

हम लोगों ने अपने को कैसे जाना हुआ है? जवाब है मानविकी, सोशल विज्ञान की विभिन्न विधाओं-तरीकों और विज्ञान की खुर्दबीनों, आधुनिक औजारों, आईनों व दूसरों से तुलना करके हमने अपने को नहीं जाना हुआ है! हमारा जानना मिथक, पुराण या फिर जिनके गुलाम थे उनकी व्याख्या से, जीवन जीने के अंदाज और खामोख्याली व जुगाड़ से है!