बाबुल सुप्रियो तृणमूल में शामिल हुए

जुलाई में केंद्रीय मंत्री पद से हटाए गए भाजपा के सांसद बाबुल सुप्रियो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। शनिवार को उन्होंने तृणमूल के महासचिव अभिषेक बनर्जी और पार्टी सांसद डेरेक ओ ब्रायन की मौजूदगी

BJP को झटका देते हुए मोदी सरकार में मंत्री रहे Babul Supriyo ने थामा ममता बनर्जी की TMC का हाथ

तृणमूल कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी ट्वीट कर भाजपा के पूर्व मंत्री बाबुल सुप्रियो के टीएमसी में शामिल होने की जानकारी दी गई है।

जा रहा हूं मैं.. अलविदा! कह कर भाजपा के इस दिग्गज नेता ने राजनीति से लिया संन्यास

नई दिल्ली | BJP के दिग्गज नेता बाबुल सुप्रियो ने आज शनिवार को राजनीति से संन्यास (Babul Supriyo Quits Politics) लेने का ऐलान कर दिया है। बाबुल सुप्रियो आसनसोल से भाजपा के सांसद हैं। सुप्रियो ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने संन्यास का ऐलान किया। उन्होंने यह भी कहा कि वे हमेशा भाजपा के ही रहेंगे। भाजपा ही उनकी पार्टी है। संसद सदस्य से भी दे दिया इस्तीफा Babul Supriyo Quits Politics: बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास के साथ ही सांसद पद से भी इस्तीफा दे दिया है। सुप्रियो ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि, अगर सामाजिक कार्य करना है तो वह राजनीति के बिना भी हो सकता है और लोगों की सेवा राजनीति के बिना भी की जा सकती है। मैं एक टीम का खिलाड़ी और हमेशा एक टीम का किया समर्थन उन्होंने लिखा कि, मैं किसी और पार्टी में नहीं जा रहा हूं। मुझे किसी भी पार्टी की तरफ से फोन नहीं आया। मैं एक टीम का खिलाड़ी हूं, और हमेशा एक टीम का समर्थन किया है। आपको बता दें कि हाल में मोदी कैबिनेट विस्तार में Babul Supriyo को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। तब भी उन्होंने… Continue reading जा रहा हूं मैं.. अलविदा! कह कर भाजपा के इस दिग्गज नेता ने राजनीति से लिया संन्यास

हर्षवर्धन को बलि का बकरा बना गया: आईएएनएस-सी वोटर स्नैप पोल में 54 फीसदी लोगों ने कहा

नई दिल्ली | मोदी कैबिनेट के विस्तार में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ( Health Medical Minister Harshvardhan ) को कैबिनेट से बाहर किए जाने को कई लोगों ने नहीं स्वीकारा है। आईएएनएस सी वोटर स्नैप पोल के अनुसार, 54 प्रतिशत से अधिक लोगों का कहना है कि कोविड-19 महामारी के दौरान हुई कठिनाइयों के लिए हर्षवर्धन अकेले जिम्मेदार नहीं हैं। उन्हें सिर्फ बलि का बकरा बनाया जा रहा है। हालांकि, 29 प्रतिशत लोग हालांकि इस धारणा से असहमत भी थे। सर्वेक्षण के नमूना का आकार 1200 है और यह सभी क्षेत्रों में वयस्क उत्तरदाताओं के साथ साक्षात्कार पर आधारित है। पेट्रोल-डीजल में राहत की उम्मीद कम सर्वे में यह भी कहा गया है कि नए मंत्रियों के आने के बावजूद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में किसी भी तरह की राहत की उम्मीद कम है। करीब 55 प्रतिशत लोगों ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्री को हटाने और हरदीप पुरी को इस पद पर नियुक्त किए जाने से पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर रोक नहीं लगेगी जबकि 34 प्रतिशत मानते हैं कि इस मूल्यवृद्धि पर मंत्रिमंडल विस्तार से रोक सम्भव है। Bank Holidays : बैंकों में कल से 15 दिन तक अवकाश! आज ही निपटा लें बैंक से संबंधित… Continue reading हर्षवर्धन को बलि का बकरा बना गया: आईएएनएस-सी वोटर स्नैप पोल में 54 फीसदी लोगों ने कहा

सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले पीएम मोदी के पूर्व मंत्रियों का कैसा रहा दिन …

नई दिल्ली । Reaction Of former Ministers : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कल कैबिनेट का विस्तार कर लिया. भारत सरकार में कुल मंत्रियों की संख्या 78 हो गई है. प्रधानमंत्री मोदी की इस नई टीम में कई नए चेहरे और युवाओं को जगह दी गई है. लेकिन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहने वाले पीएम मोदी के पूर्व साथियों और मंत्रियों का दिन कैसा रहा ? शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे अपना मंत्री पद छीन जाने की तकलीफ नहीं होगी. लेकिन अब तक कुछएक मंत्रियों को छोड़कर किसी ने भी मंत्री पद छिन जाने के बाद कोई बड़ी प्रतिक्रिया नहीं दी… रविशंकर प्रसाद ने नहीं दी शुभकामनाएं.. Visionary decision by PM @narendramodi Ji to create a Ministry of Co-operation to boost the cooperative movement in India. It will not only boost the economic growth but also empower people at the grassroots. https://t.co/WF1aLA5gTn — Ravi Shankar Prasad (@rsprasad) July 6, 2021 Reaction Of former Ministers : सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहने वाले रवी शंकर प्रसाद ने 8 जुलाई की खबर लिखे जाने तक नए मंत्रिमंडल को ना तो शुभकामनाएं दी और ना ही कोई और ट्वीट किया. हालांकि उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से अपने विभाग और… Continue reading सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले पीएम मोदी के पूर्व मंत्रियों का कैसा रहा दिन …

Cabinet Extension : Congress और TMC का कुछ ऐसा रहा रिएक्शन,कहा- प्रदर्शन के आधार पर तो सबसे पहले अमित शाह को हटाना चाहिए था…

नई दिल्ली | Opposition On Cabinet Extension : कैबिनेट विस्तार के पहले से ही विपक्ष ने केंद3 सरकार को घेरना शुरू कर दिया है. कांग्रेस ने मंत्रिमंडल के विस्तार को सत्ता की भूख का विस्तार करार देते हुए कहा है कि अगर यह विस्तार काम और प्रदर्शन के आधार पर होता तो सबसे पहले गृहमंत्री अमित शाह, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, रक्षा मंत्री राजनाथसिंह तथा कुछ अन्य को हटाया जाता. कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि यदि काम के आधार पर मंत्रियों को हटाया जाता तो श्री शाह को सबसे पहले हटाया जाना चाहिए जिनकी विफलता के कारण उग्रवाद और नक्सलवाद फैल रहा और देश का सामाजिक सौहार्द टूट रहा है. उन्होंने कहा कि इसी तरह से रक्षा मंत्री को हटाया जाना चाहिए जिनकी नाक के नीचे चीन ने भारत की सरज़मीं पर क़ब्ज़ा करने का दुस्साहस किया है. ऐसे ही वित्त मंत्री को हटाया जाता जिनकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था गर्त में चली गई है और भीषणतम बेरोजगारी ने पैर पसार लिए है. पेट्रोलियम मंत्री को भी हटाना चाहिए था Opposition On Cabinet Extension : प्रवक्ता ने कहा कि इस क्रम में सबसे पहले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को हटाएं जिनकी नाकामी की… Continue reading Cabinet Extension : Congress और TMC का कुछ ऐसा रहा रिएक्शन,कहा- प्रदर्शन के आधार पर तो सबसे पहले अमित शाह को हटाना चाहिए था…

West Bengal Election Result 2021: ‘दीदी’ की जिद के आगे ‘मोदी सेना’ पस्त, BJP के दिग्गजों को उड़ा ले गई TMC की आंधी

नई दिल्ली। West Bengal Assembly Election Result 2021 : पश्चिम बंगाल में ‘दीदी’ की जिद के आगे ‘मोदी सेना’ पस्त हो गई. TMC की आंधी में BJP के बड़े-बड़े दिग्गज ने उड़ गए. ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) की ऐसी लहर चली की तृणमूल कांग्रेस ने इतिहास रच दिया. तृणमूल (TMC) की इस भारी जीत में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई दिग्गज नेता जिनमें केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo), पूर्व राज्यसभा सांसद और कई फिल्मी सितारे अपनी सीट नहीं बचा पाए. सिर्फ  भाजपा के सांसद जगन्नाथ सरकार, शांतिपुर सीट बचा पाए हैं. टीएमसी की आंधी में भाजपा के ये दिग्गज धराशाही टीएमसी की आंधी में उड़ी भाजपा को सबसे बड़ी हार बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) की ओर से मिली. कोलकाता की टॉलीगंज सीट से टीएमसी उम्मीदवार अरुप विश्वास के मुकाबले बाबुल सुप्रियो 50 हजार वोटों से हार गए. हुगली से सांसद व पूर्व अभिनेत्री लॉकेट चटर्जी को चुंचुड़ा सीट से हार का सामना करना पड़ा. चटर्जी को टीएमसी उम्मीदवार ने 18 हजार से अधिक वोटों से हराया. हुगली की तारकेश्वर सीट से पूर्व राज्यसभा सांसद स्वप्न दासगुप्ता 7 हजार वोटों से हारे. इसे भी पढ़ें-  Tamil Nadu : DMK की 10 साल बाद सत्ता में वापसी, Udhayanidhi ने पहले ही… Continue reading West Bengal Election Result 2021: ‘दीदी’ की जिद के आगे ‘मोदी सेना’ पस्त, BJP के दिग्गजों को उड़ा ले गई TMC की आंधी

‘बुलबुल’ प्रभावित जिले में बाबुल का जबरदस्त विरोध

पश्चिम बंगाल में बुलबुल तूफान से प्रभावित दक्षिणी 24 परगना जिले में बुधवार को स्थिति का जायजा लेने पहुंचे केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा और कुछ लोगों ने उनसे वापस चले जाने को कहा।

और लोड करें