जश्न अगर भ्रामक ना हो

नरेंद्र मोदी सरकार हेडलाइन मैनेजमेंट में माहिर है, ये बात तो अब सारी दुनिया मानती है। मगर मैनेजमेंट जब ऐसा होने लगे कि हकीकत को पलट कर दिखाया जाए, तो सरकार को यह समझना चाहिए कि इसकी एक सीमा होती है।