यूरोपीय संघ का लड़खड़ाना

यूरोपीय संघ और ग्रेट ब्रिटेन का 31 जनवरी को औपचारिक संबंध-विच्छेद हो गया है। इस संबंध-विच्छेद की प्रक्रिया में दो ब्रिटिश प्रधानमंत्रियों-डेविड केमरन और थेरेसा मे को इस्तीफा देना पड़ाथा लेकिन प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को इस एतिहासिक कदम का श्रेय मिलेगा कि उन्होंने ब्रिटेन को यूरोप की गुलामी से ‘आजाद’ करवा दिया। इसे लाखों अंग्रेजों… Continue reading यूरोपीय संघ का लड़खड़ाना

ब्रेग्जिट के बाद की चुनौतियां

आखिरकार ब्रेग्जिट हो गया। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से बाहर निकालने का वादा कर पिछला चुनाव जीते थे। तब उन्होंने 31 जनवरी तक ब्रेग्जिट करने का वादा किया था।। बहरहाल, साढ़े तीन साल तक खिंचे यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलगाव की खुशी मनाने का उनकी सरकार पास शायद… Continue reading ब्रेग्जिट के बाद की चुनौतियां

ब्रिटेन में अनंत अनिश्चितताएं

ब्रिटेन के ताजा आम चुनाव बेशक ब्रेग्जिट को लेकर जारी अनिश्चितता का अंत हो गया है। लेकिन इससे यह समझ लेना कि ब्रिटेन अब निश्चिंत हो गया है, बड़ी भूल होगी। दरअसल, अब अनिश्चिय खुद ब्रिटेन के भविष्य को लेकर पैदा हो गया है।

लंदन में अकेला ‘दुश्मन’

लंदन में आजकल ‘ब्रेक्सिट’ यानि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से ‘एक्सिट’ (निकलने) की धूम मची हुई है। नेता लोग एक-दूसरे पर प्रहार कर रहे हैं। बड़े-बड़े प्रदर्शन हो रहे हैं। जब 11 अक्तूबर को हम ब्रिटिश संसद भवन में आयोजित कार्यक्रम में गए थे तो सड़कें बंद थीं।