CAG

  • कैग का अचानक घोटाला खोलना

    देश में नियंत्रक व महालेखापरीक्षक, सीएजी यानी कैग नाम की एक संस्था है यह बात लोग भूल चुके हैं। लोग यह भी ध्यान नहीं रखते हैं कि 2014 में भाजपा की जीत में नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के बराबर हाथ उस समय के कैग विनोद राय द्वारा खोले गए कथित 2जी और कोयला घोटाले का भी था। तब सबकी जुबान पर कैग का नाम था। पिछले नौ साल से कैग का नाम लोग भूल चुके हैं क्योंकि उसकी कोई रिपोर्ट नहीं आती है और आती भी है तो उसमें सरकार पर सवाल उठाने वाली कोई बात नहीं होती है। लेकिन...

  • केजरीवाल के बंगले का ऑडिट सीएजी करेगा

    नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। उनके सरकारी आवास के रेनोवेशन पर कथित तौर पर 45 करोड़ रुपए खर्च किए जाने के मामले की जांच अब भारत के नियंत्रक व महालेखापरीक्षक यानी सीएजी द्वारा की जाएगी। सीएजी से स्पेशल ऑडिट कराने की सिफारिश उप राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने की थी। बंगले पर इतनी भारी भरकम रकम खर्च किए जाने की सीएजी ऑडिट को आम आदमी पार्टी ने भाजपा की हताशा बताया है। बहरहाल, उप राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना केजरीवाल के बंगले पर हुए खर्च में कथित गड़बड़ी की सीएजी ऑडिट कराने की सिफारिश...

  • राजस्थान लेखा की स्थापित प्रणाली समाप्त न करे, कोष व्यवस्था गड़बड़ा जाएगाः कैग

    गुवाहाटी। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (Comptroller & Auditor General) (कैग CAG) गिरीश चंद्र मुर्मू (Girish Chandra Murmu) ने बुधवार को उम्मीद जताई कि राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) लेखा की सुस्थापित कोषागार प्रणाली को समाप्त नहीं करेगी क्योंकि ऐसा करने पर लेखा तैयार करने और उनका सत्यापन की प्रणाली के साथ-साथ केंद्र द्वारा राज्य को कोष स्थानांतरित करने की व्यवस्था भी गड़बड़ा जाएगी। मुर्मू ने कहा कि इसके अलावा, संविधान के प्रावधानों के अनुसार, लेखा प्रारूप कैग के परामर्श से केवल राष्ट्रपति द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। गौरतलब है कि राजस्थान सरकार लेखांकन की वर्तमान कोषागार प्रणाली को समाप्त करने...